Monday, May 20, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'कैसे मुस्लिम हो हिंदू से इस्लाम नहीं कबूल करवा पाए': पूर्व क्रिकेटर जहीर खान...

‘कैसे मुस्लिम हो हिंदू से इस्लाम नहीं कबूल करवा पाए’: पूर्व क्रिकेटर जहीर खान को गुड़ी पड़वा मनाता देख इस्लामी कट्टरपंथियों ने भेजी लानत

जहीर खान और सागरिका घाटगे की गुड़ी पड़वा की तस्वीरों पर इस्लामी कट्टरपंथी लानतें भेज रहे हैं। उनसे कहा जा रहा है कि जहीर खान कैसे मुसलमान हैं कि वो अपनी पत्नी को मुस्लिम नहीं बना पाए।

हिंदू त्योहार को धूमधाम से मनाने पर या हिंदू देवी-देवताओं की मूर्ति के आगे हाथ जोड़ने पर अक्सर जानी-मानी मुस्लिम हस्तियों को इस्लामी कट्टरपंथी गाली देते रहते हैं। इस बार उन्होंने ऐसा भारत के पूर्व क्रिकेटर जहीर खान के साथ ऐसा किया है।

जहीर की गलती ये थी कि उन्होंने अपनी हिंदू पत्नी सागरिका घाटगे के साथ मिलकर 9 अप्रैल 2024 को गुड़ी पड़वा का त्योहार मना लिया और इसकी तस्वीरें इंस्टाग्राम पर शेयर कर दीं। अब इसी पोस्ट के नीचे उन्हें गालियाँ पड़ रही हैं।

जहीर खान और सागरिका घाटगे की फोटो पर इस्लामी कट्टरपंथी लानतें भेज रहे हैं। उनसे कहा जा रहा है कि जहीर खान कैसे मुसलमान हैं कि वो अपनी पत्नी को मुस्लिम नहीं बना पाए।

एक यूजर उन्हें गाली देकर कहता है गुड़ी पड़वा की फोटो डाल ली है तो अब दोनों नमाज पढ़ते हुए भी फोटो खींचो। हसीब नाम का यूजर कहता है- “अल्लाह हिदायत दे इन्हें। समझाए कि अल्लाह शिर्क को हरगिज माफ नहीं करेगा। अभी वक्त हैं इन्हें अपने शिर्क से तौबा कर लेनी चाहिए।”

वहीं, मुजफ्फर खान का कमेंट देखें उसने जहीर खान को गुड़ी पड़वा मनाने के लिए अंधभक्त कहा हुआ है। उसने जहीर को कहा है- “क्या मिलता है तुम्हें पत्थरों को पूजकर और गुनाह में शामिल होकर।”

राहिल खान नाम का यूजर जहीर खान को बेवकूफ कहता है और कहता है कि ऐसे लोगों की इस्लाम को कोई जरूरत नहीं है। इस्लाम सबसे तेज फैलने वाला मजहब है और उसके मुताबिक अब तो पॉपुलर सेलिब्रिटिज भी इस्लाम को स्वीकार कर रही हैं। इसी तरह मदीहा नाम की यूजर कहती है- “देखते हैं ईद पर कितने लोग तुम्हें मुबारकबाद देंगे। तुम मुस्लिम होने में फेल हो चुके हो।”

बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है कि किसी मुस्लिम हस्ती को हिंदू त्योहार मनाने पर इस्लामी कट्टरपंथियों ने इस प्रकार से सोशल मीडिया पर घेरा हो। सारा अली खान से लेकर शाहरुख खान तक को देवी-देवताओं की पूजा करने के लिए अक्सर अनाप-शनाप कहा जाता है। उन्हें उनके नाम बदलने की नसीहतें दी जाती हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -