Saturday, September 18, 2021

विषय

अगस्ता वेस्टलैंड

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में ED को मिली बड़ी कामयाबी, एक और दलाल सुशेन गुप्ता गिरफ्तार

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो गुप्ता से जाँच एजेंसी ED कई बार पूछ-ताछ कर चुकी है। मगर वह जाँच में सहयोग नहीं कर रहा था इसी वजह से उसे गिरफ्तार किया गया है।

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला: ED के हाथ लगी डायरी और पेन ड्राइव, ₹423 करोड़ की पूरी कहानी इसमें दर्ज

इस डायरी में अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी चॉपर सौदे में दी गई 423 करोड़ रुपए की घूस सम्बन्धी विवरण है। इनमें अगस्ता वेस्टलैंड इंटरनैशनल लिमिटेड से स्विस बैंकों के अलावा भारत में बिचौलियों के पास धन पहुँचाने की पूरी कहानी है।

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के बिचौलिए क्रिश्चिन मिशेल ने दायर की ज़मानत याचिका

सरकार द्वारा भ्रष्टाचार की लड़ाई में सरकार कथित तौर से दो दलालों, राजीव दीक्षित और मिशेल क्रिश्चियन को भारत लेकर आई है। जिसमें से राजीव ईडी की हिरासत में हैं।

₹614 करोड़: अगस्ता वेस्टलैंड+एयर इंडिया घोटाले का यह है कच्चा चिट्ठा – एकदम Exclusive

राजीव सक्सेना वो शख़्स है, जो स्विट्ज़रलैंड में अलग-अलग बैंक एकाउंट्स को चलाता है। इन बैंक अकाउंट्स में अगस्ता वेस्टलैंड से आई किक बैक्स की रकम डाली गई थी।

भ्रष्टाचार पर मोदी सरकार का वार: अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 2 दलाल पकड़ाए, आज कोर्ट में पेशी

ईडी के अनुसार, सक्सेना, उसकी पत्नी और दुबई स्थित उसकी दो फर्मों ने धन शोधन किया है। सक्सेना और तलवार को पटियाला कोर्ट में पेश करने की तैयारी की जा रही है।

अगस्ता वेस्टलैंड: सह-अभियुक्त राजीव सक्सेना को UAE से उठाया गया, वकीलों ने कहा इल्लीगल है ये

जब सक्सेना के वकीलों ने संयुक्त अरब अमीरात की सुरक्षा एजेंसी से बात करने की कोशिश की कि पूरा मामला क्या था तो, वकीलों के शब्दों में, उन्हें कहा गया, “भारत सरकार से पूछो।”

अगस्ता वेस्टलैंड: ‘सह-आरोपी’ गौतम खेतान कालेधन और मनी लॉन्ड्रिंग में गिरफ़्तार

12 वीवीआईपी हेलि‍कॉप्टरों की खरीद के लिए इटली की कंपनी अगस्ता-वेस्टलैंड के साथ साल 2010 में करार किया गया था। 3,600 करोड़ रुपये के करार में 360 करोड़ रुपये के कमीशन के भुगतान का आरोप है।

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला: मिशेल ने रिश्वत में मिली रक़म को लंदन में ठिकाने लगाया

सीबीआई ने दावा किया कि मिशेल को ट्रांसफ़र किए गए रुपयों को उसे भारतीय रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों और नेताओं तक पहुँचाना था ताकि डील पूरी की जा सके।

अगस्ता वेस्टलैंड काण्ड: दलाल मिशेल की पहुँच CCS, PMO ही नहीं बल्कि जाँच एजेंसियों तक!

मनमोहन सिंह के कार्यकाल में मिशेल की कैबिनेट मीटिंग, कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी मीटिंग्स और तत्कालीन पीएमओ तक पहुँच थी।

‘मिशेल को डिफेंस पर कैबिनेट मीटिंग और गुप्त फ़ाइलों का पता होता था’

प्रधानमंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए कहा, “अगस्ता वेस्टलैंड के मामले में आरोपित बिचौलिया मिशेल को रक्षा मामले में कैबिनेट की मीटिंग और रक्षा से जुड़े सरकार की गुप्त फ़ाइलों के बारे में कैसे पता चल जाता था।”

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,005FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe