Sunday, May 19, 2024
Homeदेश-समाजअगस्ता वेस्टलैंड: सह-अभियुक्त राजीव सक्सेना को UAE से उठाया गया, वकीलों ने कहा इल्लीगल...

अगस्ता वेस्टलैंड: सह-अभियुक्त राजीव सक्सेना को UAE से उठाया गया, वकीलों ने कहा इल्लीगल है ये

जब सक्सेना के वकीलों ने संयुक्त अरब अमीरात की सुरक्षा एजेंसी से बात करने की कोशिश की कि पूरा मामला क्या था तो, वकीलों के शब्दों में, उन्हें कहा गया, “भारत सरकार से पूछो।”

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के सह-अभियुक्त राजीव सक्सेना को आज (जनवरी 30, 2019) सुबह 9:30 बजे उनके आवास से UAE की सुरक्षा एजेंसी द्वारा उठा लिया गया और शाम 5:30 को भारत के लिए प्रत्यर्पित किया गया। उनके वकीलों, गीता लूथरा और प्रतीक यादव ने इस पूरे प्रकरण को ग़ैरक़ानूनी कहा है।

वकीलों ने कहा कि राजीव सक्सेना को भारत भेजने के लिए किसी भी तरह की एक्सट्राडीशन (प्रत्यर्पण) प्रक्रिया को नहीं अपनाया गया और सक्सेना को अपनी दवाई तक नहीं लेने दी गई। उसे दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के एक प्राइवेट टर्मिनल से एक प्राइवेट जेट पर बिठाकर भारत ले जाया गया।

जब सक्सेना के वकीलों ने संयुक्त अरब अमीरात की सुरक्षा एजेंसी से बात करने की कोशिश की कि पूरा मामला क्या था तो, वकीलों के शब्दों में, उन्हें कहा गया कि राजीव सक्सेना हवाई जहाज पर हैं और उसे अब रोका नहीं जा सकता। जब वकीलों ने माँग की कि उन्हें और जानकारी दी जाए तो उन्हें कहा गया, “भारत सरकार से पूछो।”

राजीव सक्सेना अगस्ता वेस्टलैंड डील से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दोषी पाए गए हैं। उन्होंने पिछले महीने दिल्ली की एक अदालत में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी, जिसका ईडी (ED) ने विरोध भी किया था। सितंबर 2017 में VVIP चॉपर घोटाले में दायर एक आरोप पत्र में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उनका नाम लिया था। सक्सेना और उनकी पत्नी शिवानी सक्सेना दुबई स्थित दो कंपनियों में निदेशक हैं, जबकि वह एक अन्य मॉरीशस स्थित कंपनी में निदेशक के पद पर हैं, और यह आरोप लगाया गया है कि उन सभी कंपनियों को अगस्ता वेस्टलैंड सौदे में किकबैक मिला है।

अगस्ता-वेस्टलैंड मामला क्या है?

भारतीय वायुसेना के लिए 12 वीवीआईपी हेलि‍कॉप्टरों की खरीद के लिए इटली की कंपनी अगस्ता-वेस्टलैंड के साथ साल 2010 में करार किया गया था। 3,600 करोड़ रुपये के करार को जनवरी 2014 में भारत सरकार ने रद्द कर दिया। जानकारी के लिए बता दें कि इस करार में 360 करोड़ रुपये के कमीशन के भुगतान का आरोप लगा था। इटली की कंपनी और सरकार के बीच के इस करार में कमीशन की ख़बर सामने आते ही 12 एडब्ल्यू-101 वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों की सप्लाई पर सरकार ने फ़रवरी 2013 में रोक लगा दी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -