Wednesday, April 21, 2021

विषय

प्रोपेगेंडा

‘मैं गौरी, गणपति और हिंदू भगवानों में विश्वास नहीं करता’: तेलंगाना में IPS अधिकारी का हिंदू विरोधी प्रोपेगेंडा

आईपीएस ने शपथ दिलवाई, “मैं गौरी, गणपति और अन्य हिंदू भगवानों में विश्वास नहीं करता। मैं कभी उनकी पूजा नहीं करूँगा। मैं उन्हें भगवान का अवतार नहीं मानता। मैं श्राद्ध कर्म नहीं करूँगा और न ही पिंड दान करूँगा....।"

भारत के खिलाफ वैश्विक षड्यंत्र, 3 महीने से प्लानिंग: रिहाना, ग्रेटा के ट्वीट थे पूर्व नियोजित, 5 स्क्रीनशॉट से सब का खुलासा

ये टूलकिट और स्क्रीनशॉट साबित करता है कि ग्रेटा, रिहाना जैसी अतंरराष्ट्रीय हस्तियों के ट्वीट पूर्व नियोजित थे न कि कोई त्वरित प्रक्रिया।

दीवाली और पटाखों से नफरत में BJP सांसद की 8 साल की मृत पोती तक को नहीं छोड़ा ध्रुव राठी और लिबरलों ने

दीवाली पर पटाखे बैन की माँग करने वाला यही ध्रुव राठी बता चुका है कि न्यू ईयर पर पटाखे जलाने क्यों गलत नहीं और इससे क्यों नुकसान नहीं होता।

‘चायनीज लड़ियों के बिना भारत में काली होगी दिवाली’: चीन ने ‘वोकल फॉर लोकल’ का बनाया मजाक

PM मोदी की 'वोकल फॉर लोकल' अपील की आलोचना करते हुए 'ग्लोबल टाइम्स' ने लिखा है कि पीएम मोदी की इस अपील का असर नहीं हो रहा है।

‘कोई पटाखे नहीं, मुझे नहीं लगता किसी को पटाखे जलाने चाहिए’ – दीवाली पर Tanishq ने फिर परोसा हिंदू विरोधी प्रोपेगेंडा

Tanishq के इस ऐड में कोई पूजा की थाली नहीं है, न ही कहीं भगवान राम का जिक्र है, आखिर किस आधार पर यह विज्ञापन दीवाली के लिए तैयार हुआ है?

काफिर = छिपाने वाला, जिहाद = संघर्ष: RJ सायमा ने शायरी पढ़ कर किया इन शब्दों का महिमामंडन, देखें वायरल वीडियो

'रेडियो मिर्ची' की RJ सायमा की 'उर्दू की पाठशाला' में 'काफिर' अंग्रेजी में 'Non Believer' बताया गया, और 'जिहाद' का मतलब संघर्ष बताया गया।

प्रवासी: तापसी पन्नू का वैचारिक प्रपंच

तापसी श्रमिक पालयन के मूल कारण पर मौन क्यों हैं? महामारी नियंत्रण में केंद्र सरकार के प्रयासों को विफल क्यों करना चाहती हैं, देश में अराजकता क्यों बढ़ाना चाहती हैं?

‘लद्दाख में क्रैश हुआ भारत का Mi-17’ – चीन की गोदी में खेल रहे पाकिस्तानी पत्रकार, फैला रहे फर्जी खबर

जिस तस्वीर को पाकिस्तानी पत्रकार, वहाँ की अवाम और PTI से जुड़े लोग सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं, वो तस्वीर साल 2018 की है।

अजमल कसाब ने आत्महत्या की थी… Google यही दिखा रहा है: भारत-विरोधी प्रोपेगेंडा के पीछे किन-किन का हाथ

जब आप गूगल पर 'Ajmal Kasab Death' लिख कर सर्च करेंगे तो आप 'मृत्यु का कारण' वाले सेक्शन में पाएँगे कि आत्महत्या लिखा हुआ है।

मानवाधिकारों के नाम पर मासूम की पहचान उजागर करने वाली एमनेस्टी सिखा रही कश्मीर पुलिस को कानून, लोगों ने खोली पोल

इन्हीं दोनों ट्वीट के स्क्रीनशॉट्स को शेयर करके एमनेस्टी इंडिया के पाखंड पर लोग सोशल मीडिया पर सवाल उठा रहे हैं। लोगों का कहना है कि एमनेस्टी बहुत भयानक तरह से झूठ फैलाता है।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,347FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe