Monday, June 17, 2024

विषय

सुषमा स्वराज

सुषमा स्वराज की बेटी के नाम से इंडियन एक्सप्रेस ने बेची ‘फेक न्यूज’, कूमी कपूर ने लिखा- मंत्री नहीं बनाए जाने से BJP नेत्री...

कूमी कपूर ने 'इंडियन एक्सप्रेस' में लिखा है कि दोबारा मंत्री न बनाए जाने के कारण सुषमा स्वराज को धक्का लगा था। दिवंगत पूर्व केंद्रीय विदेश मंत्री की बेटी बाँसुरी स्वराज ने किया खंडन।

‘सुषमा और जेटली की मौत का कारण PM मोदी’: स्टालिन के बेटे को दोनों की बेटियों ने दिया करारा जवाब

उदयनिधि स्टालिन ने दिवंगत पूर्व केंद्रीय मंत्रियों सुषमा स्वराज और अरुण जेटली को लेकर कुछ ऐसी टिप्पणी की, जिससे दोनों के परिजन दुःखी हो गए।

सुषमा स्वराज का पूरा हुआ आखिरी सपना: 9 साल की उम्र में पाकिस्तान पहुँची गीता को 20 साल बाद मिला अपना परिवार

गीता की कहानी स्थानीय अखबार में छपी तो एक मीना दीनकर पंधारे ने परभानी जिला प्रशासन को संपर्क किया और कहा कि हो सकता है गीता उनकी बेटी हो। वह भी 1999-2000 में गायब हुई थी। मीना का पहला साक्षात्कार ही सफल रहा।

‘सुपरमॉम’ सुषमा का दिखाया रास्ता, जिस पर आगे बढ़कर परदेस में फँसी महिलाओं को बचा रहा विदेश मंत्रालय

विदेश मंत्री के तौर पर सुषमा स्वराज की सक्रियता ने उन्हें 'सुपरमॉम' का तमगा दिलाया था। विदेश मंत्रालय आज भी उस रीति-नीति पर सक्रिय है।

उच्च कोटि का मादक पदार्थ लेते हैं The Print वाले, सुषमा स्वराज की तुलना सुब्रमण्यम स्वामी से करने पर कम से कम यही महसूस...

ऐसा लगता है कि The Print के लोग उच्चतम क्वालिटी का गाँजा ग्रहण करते हैं। शेखर गुप्ता के मीडिया के लेख इस बात के प्रमाण हैं।

सुपर मॉम जिसने कहा था- आप मंगल ग्रह पर फँस गए तो भी भारतीय दूतावास आपकी मदद करेगा

सुषमा स्वराज ने ट्विटर डिप्लोमेसी का दरवाजा खोला। उनके नेतृत्व में विदेश मंत्रालय दुनिया के हर कोने में मुसीबत में फॅंसे अपने नागरिकों तक पहुॅंचा। यही कारण है कि कोरोना वायरस के बाद वुहान से भारत ने अपने छात्रों को निकाला, लेकिन पाकिस्तानी छात्रों को वहॉं की सरकार ने उनके हाल पर छोड़ दिया।

अब सुषमा स्वराज के नाम से जाना जाएगा प्रवासी भारतीय केंद्र: जयंती से पहले मोदी सरकार की घोषणा

भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अमूल्य योगदान के लिए विदेश मंत्रालय ने 14 फरवरी को उनकी जयंती की पूर्व संध्या पर इसकी घोषणा की है। इससे पहले स्वराज को गणतंत्र दिवस के मौके पर पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा गया था।

बेटी की तरह की थी बीमार सुषमा स्वराज की देखभाल, ग्रेटर कैलाश से BJP प्रत्याशी हैं शिखा राय

शिखा राय को श्रीनगर में झंडा फहराने के बाद पुलिस कस्टडी में प्रताड़ित किया गया था। सुषमा स्वराज ने शिखा राय को लगभग 25 वर्षों तक अपने मार्गदर्शन में रखा। सुषमा स्वराज जब बीमार पड़ीं तो शिखा ने भी उनका एक बेटी की तरह दिन-रात देखभाल किया।

सुषमा की मृत्यु के बाद अब खुला यह राज: उन्होंने कहा था- उनकी किडनी ट्रांसप्लांट सर्जरी अगर विदेश में हुई तो…

अपने डॉक्टर डॉ. मुकुट मिंज से सुषमा स्वराज ने कहा था, "डॉक्टर साहब, आप सिर्फ़ इंस्ट्रूमेंट पकड़िए, कृष्णा मेरी सर्जरी आप करेंगे।"

सुषमा स्वराज की आखिरी इच्छा पूरी, बेटी बाँसुरी ने हरीश साल्वे को दिया फीस का ‘एक रुपया’

सुषमा स्वराज का 67 साल की उम्र में निधन हो गया था। निधन से पहले उनका आखिरी ट्वीट 370 हटाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद का था। उन्होंने पिछले लोक सभा चुनाव से भी बाहर रहने की घोषणा की थी, जिसे उनका चुनावी राजनीति से संन्यास माना गया था।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें