Monday, June 17, 2024
Homeराजनीतिसुषमा की मृत्यु के बाद अब खुला यह राज: उन्होंने कहा था- उनकी किडनी...

सुषमा की मृत्यु के बाद अब खुला यह राज: उन्होंने कहा था- उनकी किडनी ट्रांसप्लांट सर्जरी अगर विदेश में हुई तो…

देश के बाहर सर्जरी के नाम पर सुषमा ने कहा, "अगर हम विदेश गए, तो लोग हमारे डॉक्टरों और अस्पतालों पर विश्वास खो देंगे।"

हाल ही में दिवंगत हुईं भूतपूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेत्री सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल ने उनकी सर्जरी के बारे में महत्वपूर्ण खुलासे किए हैं। उन्होंने बताया कि सुषमा स्वराज ने डॉक्टरों की सलाह के बावजूद अपना इलाज विदेश में कराने से मना कर दिया था। उन्होंने कहा था कि उनकी किडनी ट्रांसप्लांट सर्जरी अगर विदेश में हुई तो यह देश के सम्मान पर सवाल बन जाएगा। अपने डॉक्टर डॉ. मुकुट मिंज से उन्होंने कहा था, “डॉक्टर साहब, आप सिर्फ़ इंस्ट्रूमेंट (सर्जरी के लिए इस्तेमाल होने वाले उपकरण) पकड़िए, कृष्णा मेरी सर्जरी आप करेंगे।”

सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल पेशे से वकील हैं और महज़ 37 साल की उम्र में मिज़ोरम के गवर्नर का पद भी संभाल चुके हैं। उन्होंने यह बातें अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखीं।

उन्होंने आगे लिखा कि देश के बाहर सर्जरी के नाम पर सुषमा ने कहा, “अगर हम विदेश गए, तो लोग हमारे डॉक्टरों और अस्पतालों पर विश्वास खो देंगे।” कौशल ने यह भी बताया कि सर्जरी के एक ही दिन बाद आराम कुर्सी पर मुस्कुराते हुए उन्होंने यह बात कही थी। उन्होंने अपनी सर्जरी को बहुत छोटी बताया, और उसका पूरा क्रेडिट एम्स के डॉक्टरों, नर्सों और समर्पित स्टाफ़ को दिया।

स्वराज कौशल ने सुषमा की सर्जरी और स्वास्थ्य लाभ में सहयोग के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी आभार व्यक्त किया। उन्होंने लिखा कि मोदी हमेशा स्वराज को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए कहते थे, और उन्होंने पीएम के लिए हमेशा रिज़र्व रहने वाला एम्स का विंग भी स्वराज के इलाज के लिए दे दिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -