Friday, June 21, 2024
Homeवीडियोब्रजेश पांडे, जिन्नावादी उस्मानी को कॉन्ग्रेस का टिकट: अजीत भारती का वीडियो | Ajeet...

ब्रजेश पांडे, जिन्नावादी उस्मानी को कॉन्ग्रेस का टिकट: अजीत भारती का वीडियो | Ajeet Bharti on Congress becoming Muslim League

मशकूर अहमद उस्मानी को दरभंगा के जाले से टिकट दिया गया है, तो वहीं ब्रजेश पांडे को रोहिनगंज नाम की जगह से टिकट मिला है। इन दोनों को टिकट देकर कॉन्ग्रेस ने दिखा दिया कि वो...

बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार कॉन्ग्रेस ने दो विवादित चेहरों को टिकट दिया है। मशकूर अहमद उस्मानी को दरभंगा के जाले से टिकट दिया गया है, तो वहीं ब्रजेश पांडे को गोविन्दगंज नाम की जगह से टिकट मिला है। इन दोनों को टिकट देकर कॉन्ग्रेस ने दिखा दिया कि वो किस विचारधारा को फॉलो कर रहे हैं। 

ये बातें और भी प्रासंगिक तब हो जाती हैं, जब राहुल गाँधी कभी बाल में सरसों तेल लगाकर, कभी राजीव गाँधी का हेयरस्टाइल अपना कर ‘देशभक्ति’ की बात करते हैं। वहीं दूसरी तरफ हाथरस की पीड़िता के परिवार से मिलने जाते हैं और टिकट सेक्स रैकेट आरोपित और जिन्नावादी को देते हैं।

उस्मानी वही शख्स है, जो 2017 में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रसंघ के हॉल में जिन्ना की तस्वीर टँगे होने के कारण विवाद के बाद चर्चा में आए थे। उस समय के छात्रसंघ के अध्यक्ष उस्मानी ने बाद में कहा था कि हम जिन्ना के विचारधारा का विरोध करते हैं पर जिन्ना देश के एतिहासिक तथ्य हैं, यह भी सही है।

पूरी वीडियो यहाँ क्लिक करके देखें

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत भारती
अजीत भारती
पूर्व सम्पादक (फ़रवरी 2021 तक), ऑपइंडिया हिन्दी

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभी तिहाड़ जेल से बाहर नहीं आ पाएँगे दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल, हाई कोर्ट ने बेल पर लगाई रोक: ED ने बताया- अब...

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट से बेल मिलने के बाद भी अभी सीएम केजरीवाल जेल से रिहा नहीं होंगे। ईडी के विरोध पर दिल्ली हाई कोर्ट ने बेल पर रोक लगा दी है।

साल भर में 70% कम हुआ स्विस बैंकों में रखा धन, 2019 से भारत के साथ जानकारी साझा कर रहा है स्विट्जरलैंड: जानिए क्यों...

भारत में ग्राहक जमा खातों और अन्य बैंक शाखाओं के माध्यम से रखी गई धनराशि में भी काफी गिरावट आई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -