Sunday, June 26, 2022
Homeवीडियोकुशेश्वर स्थान में विकास और नाराज पंडे | Kusheshwar Asthan and Panda community's grievances

कुशेश्वर स्थान में विकास और नाराज पंडे | Kusheshwar Asthan and Panda community’s grievances

2010 के परिसीमन के बाद कुशेश्वर स्थान नाम से विधान सभा क्षेत्र अस्तित्व में आया। पहली बार बीजेपी टिकट पर शशिभूषण हजारी जीते। दूसरी बात जदयू के निशान पर भी वही जीते। इस बार उनकी जीत की हैट्रिक के बीच...

बिहार के दरभंगा जिले में स्थित कुशेश्वर स्थान में विकास को लेकर खूब दावे किए जा रहे हैं, मगर यहाँ के पंडों को सरकार से काफी नाराजगी है। 2010 के परिसीमन के बाद कुशेश्वर स्थान नाम से विधान सभा क्षेत्र अस्तित्व में आया। पहली बार बीजेपी टिकट पर शशिभूषण हजारी जीते। दूसरी बात जदयू के निशान पर भी वही जीते। इस बार उनकी जीत की हैट्रिक के बीच कॉन्ग्रेस के अशोक राम की चुनौती है।

इस दौरान हमने शशिभूषण हजारी से बात की। उन्होंने विकास के दावे किए। मगर जब हमने पंडों से बात की, तो वो काफी नाराज दिखे। उनका कहना है कि सरकार ने उनके लिए कुछ नहीं किया। हर जगह मंदिर खुल गए हैं, लेकिन यहाँ पर बंद हैं। उनका कहना है कि पंडा समाज भूखे मर रहे हैं, लेकिन कोई देखने वाला नहीं है। यहाँ के 500 पंडा बेरोजगार हो गए हैं।

पूरी वीडियो यहाँ क्लिक करके देखें

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत झा
अजीत झा
देसिल बयना सब जन मिट्ठा

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘भारत जल्द बनेगा $30 ट्रिलियन की इकोनॉमी’ : देश का मजाक उड़वाने के लिए NDTV ने पीयूष गोयल के बयान से की छेड़छाड़, पोल...

एनडीटीवी ने झूठ बोलकर पाठकों को भ्रमित करने का काम अभी बंद नहीं किया है। हाल में इस चैनल ने भाजपा नेता पीयूष गोयल के बयान को तोड़-मरोड़ के पेश किया।

’47 साल पहले हुआ था लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास’: जर्मनी में PM मोदी ने याद दिलाया आपातकाल, कहा – ये इतिहास पर काला...

"आज भारत हर महीनें औसतन 500 से अधिक आधुनिक रेलवे कोच बना रहा है। आज भारत हर महीने औसतन 18 लाख घरों को पाइप वॉटर सप्लाई से जोड़ रहा है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,523FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe