Monday, June 24, 2024
Homeव्हाट दी फ*6 बीवी-16 बच्चे, फिर भी 65 साल के हिसाम हुसैन ने स्कूल जाने वाली...

6 बीवी-16 बच्चे, फिर भी 65 साल के हिसाम हुसैन ने स्कूल जाने वाली लड़की से की 7वीं शादीः सास को प्रमोशन, विरोध के बाद ब्राजील के मेयर ने पार्टी छोड़ी

उनकी नई बीवी की माँ को जहाँ कल्चर-टूरिज्म का म्युनिसिपल सेक्रेटरी बना दिया गया, वहीं उनकी चाची को सेक्रेटरी जनरल डायरेक्टर का पद दिया गया।

ब्राजील के एक करोड़पति मेयर हिस्साम हुसैन देहैनी ने 65 वर्ष की उम्र में 7वीं बार शादी की है। उनकी नई बीवी की उम्र मात्र 16 साल है और वो एक स्कूली छात्रा है। बताया जा रहा है कि इससे पहले वो 6 बार शादी कर चुके हैं। उनकी पहली शादी 43 वर्ष पहले 1980 में हुई थी। हिस्साम हुसैन देहैनी के अब तक 16 बच्चे भी हो चुके हैं। उन्हें अब अपनी राजनीतिक पार्टी से भी इस्तीफा देना पड़ा है। ड्रग्स लेने के आरोप भी उन पर लग चुके हैं।

हिस्साम की नई बीवी कयने रोड कमार्गो (Kauane Rode Camargo) एक चाइल्ड ब्यूटी क्वीन रही हैं। अप्रैल 2023 की शुरुआत में ही उससे शादी की। सन् 2000 में हिस्साम को 100 दिनों के लिए हिरासत में लिया गया था। उन पर ड्रग्स की तस्करी का मामला चलाया गया था। उन पर आरोप लगे थे कि वो एक ड्रग्स लैब चलाते हैं और पुलिस के साथ सेटिंग कर के ड्रग तस्करों को बचाते हैं। उनकी संपत्ति भारतीय रुपए में 23 करोड़ रुपए से अधिक आँकी गई है।

वो Cidadania पोलिटिकल पार्टी का हिस्सा थे, लेकिन अब उन्हें इस्तीफा देना पड़ा है। 12 अप्रैल, 2023 को उन्होंने ताज़ा शादी की है। इससे पहले उन्होंने अपनी होने वाली बीवी के 2 रिश्तेदारों को बड़े पदों पर काबिज किया। उनकी नई बीवी की माँ को जहाँ कल्चर-टूरिज्म का म्युनिसिपल सेक्रेटरी बना दिया गया, वहीं उनकी चाची को सेक्रेटरी जनरल डायरेक्टर का पद दिया गया। देहैनी दूसरी बार मेयर बने हैं। उनकी बेटियों और पूर्व बीवियों को भी सरकारी पद दिए गए हैं।

बता दें कि ब्राजील कम उम्र में शादी के मामले में दुनिया भर में पाँचवें नंबर पर आता है। अगर माता-पिता की इजाजत हो तो वहाँ लड़की 16 की उम्र में शादी कर सकती है। इस तरह अब अरौकेरिया की फर्स्ट लेडी अभी भी स्कूल में पढ़ती हैं। मेयर हुसैन का कहना है कि दोनों एक-दूसरे को खुश रखते हैं। उनकी नई शादी के बाद ब्राजील में उनका विरोध होने लगा था और यही उनके इस्तीफे का कारण बना। वो राजनेता होने के साथ-साथ कारोबारी भी हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चर्च में फायरिंग, यहूदियों के धर्मस्थल को जलाया, पादरी का काटा गला: आतंकी हमले में रूस के 15 पुलिसकर्मियों की मौत, 6 आतंकवादी भी...

रूस में हुए आतंकी हमले में 15 से ज्यादा पुलिसकर्मियों की मौत हो गई, पादरी का सिर कलम कर दिया गया और 25 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं।

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -