Wednesday, June 19, 2024
Homeव्हाट दी फ*जिस टंकी से 50 परिवारों को मिल रहा था पीने का पानी, उसमें 20...

जिस टंकी से 50 परिवारों को मिल रहा था पीने का पानी, उसमें 20 बंदर मरे मिले: लाश देखते ही बंदरों ने किया हमला, तेलंगाना की घटना

नगर पालिका के कर्मचारियों को इस टंकी के भीतर लगभग 20 बंदर मरे मिले। उन्होंने बताया कि इस इलाके में बंदर मौजूद हैं और संभवतः वह पानी पीने आए होंगे। ढक्कन खुला होने कारण वह इसमें गिर गए और बाहर नहीं निकल पाए। इससे पानी में डूबने से उनकी मौत हो गई।

तेलंगाना के नालगोंडा में एक पानी की टंकी में 20 बंदरों की लाशें मिली हैं। यह बंदर उस पानी में मरे पड़े थे जिसकी आपूर्ति इलाके के लोगों को हो रही थी। वह यही पानी पीने और खाना बनाने में इस्तेमाल कर रहे थे। इस मामले में नगर पालिका कर्मचारियों की लापरवाही सामने आई है।

जानकारी के अनुसार, नालगोंडा के नंदीकोंडा नगर पालिका के विजय विहार में बनी एक पानी की टंकी में यह बंदर पाए गए। इलाके के लोगों ने इस टंकी का ढक्कन खुला हुआ देखा था, इसके बाद जब उन्होंने इसकी पड़ताल की तो पता चला कि इसमें बड़ी संख्या में मरे हुए बंदर पानी में पड़े हुए हैं।

इस मामले के सामने आने के बाद नगर पालिका के कर्मचारियों को सूचना दी गई। नगर पालिका के कर्मचारियों को इस टंकी के भीतर लगभग 20 बंदर मरे मिले। उन्होंने बताया कि इस इलाके में बंदर मौजूद हैं और संभवतः वह पानी पीने आए होंगे। ढक्कन खुला होने कारण वह इसमें गिर गए और बाहर नहीं निकल पाए। इस पानी में डूबने से उनकी मौत हो गई।

मामला सामने आने के बाद नगर पालिका के कर्मचारियों ने यहाँ से बंदरों की लाशें निकाली और टंकी की सफाई करवाई। यह सामने आया कि यह लाशें कई दिनों से पड़ी थी और इस इलाके के निवासियों को यही दूषित पानी आपूर्ति में दिया जा रहा था।

यह भी बताया गया है कि नियमानुसार, इस टंकी की सफाई हर दो सप्ताह में होनी चाहिए लेकिन इसका ध्यान नगर पालिका ने नहीं रखा। इस कारण से ही इसमें बंदरों की लाशें जमा होती रहीं और किसी को खबर नहीं लगी। इसी कारण से लोग यह दूषित पानी पीने को मजबूर रहे।

उधर नंदीकोंडा के अधिकारियों ने बताया कि इस टैंक से 50 घरों को पानी की सप्लाई होती है। उन्होंने कहा बताया कि तीन दिनों तक इस टैंक से पानी की आपूर्ति रुकी रही और जब उन्होंने कारणों का पता लगाया तो उन्हें बंदर मरे मिले। बताया गया कि मृत बंदरो को देखने पर बंदरों ने कर्मचारीयों पर हमला भी किया। स्थानीय निवासी साफ़ सफाई को लेकर चिंतित हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फिर सामने आई कनाडा की दोगलई: जी-7 में शांति पाठ, संसद में आतंकी निज्जर को श्रद्धांजलि; खालिस्तानियों ने कंगारू कोर्ट में PM मोदी को...

खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर को कनाडा की संसद में न सिर्फ श्रद्धांजलि दी गई, बल्कि उसके सम्मान में 2 मिनट का मौन रखकर उसे इज्जत भी दी।

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -