Monday, May 20, 2024
Homeव्हाट दी फ*मर गए चाचा, पर कर्ज लेने के लिए व्हीलचेयर पर 'जिंदा' बिठाकर ले गई...

मर गए चाचा, पर कर्ज लेने के लिए व्हीलचेयर पर ‘जिंदा’ बिठाकर ले गई युवती: बार-बार सिर गिरने से हुआ संदेह, पुलिस आई तो खुली पोल

बैंक पहुँचे अस्पताल वालों ने जाँच की तो पाया कि व्हीलचेयर पर लाया गया शख्स मर चुका है और महिला उसके नाम पर कर्ज लेने की कोशिश कर रही है। पुलिस ने इस महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

ब्राजील में एक महिला अपने अंकल की लाश लेकर बैंक पहुँच गई। महिला अंकल के नाम पर 3400 डॉलर (₹2.8 लाख) का कर्ज लेना चाहती थी। महिला की चोरी पकड़ी गई है और यह पूरी घटना कैमरे में कैद हो गई। महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार, ब्राजील की राजधानी रियो डी जेनेरियो की इताऊ बैंक की एक शाखा में पहुँची थी। यहाँ वह मृतक को ज़िंदा बता कर 3400 डॉलर (₹2.8 लाख) का एक कर्ज लेने पहुँची थी। महिला यहाँ अपने मृतक अंकल को एक व्हीलचेयर पर बिठा कर पहुँची थी।

बैंककर्मियों ने इस कर्ज को मंजूरी दे दी थी लेकिन इसकी निकासी के लिए खाताधारक के हस्ताक्षर चाहिए थे। महिला अपने मृतक अंकल के मरने के बाद भी उनके नाम पर कर्ज लेना चाहती थी इसलिए उनकी लाश लेकर बैंक पहुँच गई। जब हस्ताक्षर करने का मौक़ा आया तो महिला ने व्हीलचेयर पर बैठे व्यक्ति के हाथ में पेन पकड़ा कर हस्ताक्षर करने की कोशिश की।

इस पूरी घटना का एक वीडियो भी वायरल हुई है। इसमें दिखता है कि हस्ताक्षर के दौरान मृतक का सर बार बार पीछे गिरता है। वह हस्ताक्षर नहीं कर पाता। महिला इसको लेकर उस पर गुस्सा भी होती है। उससे महिला कहती है कि उसे अब और समस्या नहीं चाहिए।

यह सब देख कर अस्पताल वालों ने पुलिस और मेडिकल स्टाफ को फ़ोन कर दिया। बैंक पहुँचे अस्पताल वालों ने जाँच की तो पाया कि व्हीलचेयर पर लाया गया शख्स मर चुका है और महिला उसके नाम पर कर्ज लेने की कोशिश कर रही है। पुलिस ने इस महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

बताया गया है कि महिला का नाम एरिक डी सूजा है और जिस मृतक को वह बैंक लेकर आई थी, वह उसके अंकल हैं जिनके साथ वह रहती थी। वह उनकी देखरेख करती थी। उनकी मौत के बाद वह उनके खाते पर कर्ज मंजूर करवाना चाहती थी जिसकी कोशिश में वह लाश लेकर आई थी। इस घटना का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -