Tuesday, February 27, 2024
Homeहास्य-व्यंग्य-कटाक्षनीरज चोपड़ा से छिन जाएगा गोल्ड मेडल? गलत निशाने पर लगा था भाला, पावरफुल...

नीरज चोपड़ा से छिन जाएगा गोल्ड मेडल? गलत निशाने पर लगा था भाला, पावरफुल लोगों ने की शिकायत

नीरज चोपड़ा मोदी या देश का समर्थक हो सकता है, लेकिन उसे जैवलिन फेंकने पर ध्यान देना चाहिए था। ये जो समय-समय पर उसने ट्वीट फेंका था, शास्त्रों में उसे ही दिशाभटकम भाला कहा गया है, ऐसा भाला जो...

भारत के छोरे ने टोक्यो में लठ गेर दी भाई! पूरी दुनिया में डंका बजा दिओ भाले से। ऋतिक रोशन जैसे लंबे बाल में छोरा सेक्सी भी लागे हे। हँसी एकदम गोविंदा सी हे, ताकत धर्मेंद्र सी।

सोशल मीडिया पर कुछ ऐसा ही चल रहा है। लड़कियों के कुछ पोस्ट असंसदीय भाषा (अश्लील कैटिगरी भी कह सकते हैं) वाले भी देखे गए। इसमें गलत कुछ भी नहीं। लड़का जवान है, विपरीत लिंग वाला है और सबसे बड़ी बात – Why should boys have all the fun?

खैर! सोशल मीडिया पर ही एक खबर और दिख गई। खबर भारत के लिए बुरी हो सकती है। खबर के पीछे पावरफुल लोगों का हाथ बताया गया है। शीर्षक था – गलत निशाने के बाद भी नीरज चोपड़ा को क्यों मिला गोल्ड मेडल? खबर के भीतर था – ओलंपिक वालों से कर दी गई है शिकायत।

नीरज चोपड़ा मेरा कोई नहीं। मेरा राज्य भी अलग है, जाति भी। लेकिन… खबर के कारण मेरी नींद उड़ गई है। क्यों? क्योंकि मैं भारतीय हूँ। खबर के कारण मेरा चैन खो गया है। क्यों? क्योंकि जिन लोगों (पावरफुल) ने ओलंपिक वालों के पास शिकायत की है, वो इंडिया के ही हैं। कैसे भारतीय हैं, आप सोच सकते हैं!

OK. काम की बात करते हैं। नीरज ने जैवलिन फेंका। ओलंपिक वालों ने देखा। गोल्ड मेडल दिया। कोई बवाल नहीं। लेकिन एक चूक कर दी ओलंपिक वालों ने। चूक जो इन पावरफुल इंडियंस ने नहीं की। पूरे स्टेडियम से सिर्फ एक एंगल से लिया गया वीडियो ओलंपिक वालों को भेजा। क्यों? क्योंकि इसी एक एंगल से नीरज का जैवलिन गलत जगह घुसता वीडियो में साफ-साफ दिख गया।

ऊपर का वीडियो अगर देख चुके तो समझिए कि दर्द कितना हो रहा होगा। इंडियन हों या पाकिस्तानी… गलत जगह भाला चला जाए तो दर्द होना लाजिमी है। लिबरल, वामपंथी, मोदी-विरोधी आदि कह कर उनके दर्द को कम मत आँकिए। प्लीज!

और हाँ! नीरज चोपड़ा मोदी या देश (जिसे हम भारत कहते हैं, पावरफुल लोग इंडिया) का समर्थक हो सकता है, लेकिन उसे जैवलिन फेंकने पर ध्यान देना चाहिए था। ये जो समय-समय पर उसने ट्वीट फेंका था, शास्त्रों में उसे ही दिशाभटकम भाला कहा गया है, यह बिना वजह बतकुच्चन करने वालों के अंदर कहीं भी-कभी भी घुस जाता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

चंदन कुमार
चंदन कुमारhttps://hindi.opindia.com/
परफेक्शन को कैसे इम्प्रूव करें :)

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लंदन में पढ़ाई, करोड़ों की नौकरी… सब छोड़ अबू धाबी के हिंदू मंदिर में सेवा कर रहे विशाल पटेल, रेगिस्तान में ढोए कंक्रीट: PM...

स्वामीनारायण मंदिर में सेवा करने का रास्ता चुनने वाले व्यक्ति का नाम विशाल पटेल है। 43 वर्षीय विशाल पटेल का जन्म एक गुजराती परिवार में लंदन में हुआ था। वह 2016 में लंदन से UAE आकर बस गए थे। वह पहले लंदन में बैंकिंग क्षेत्र में काफी अच्छी नौकरी करते थे।

आलम,अशरफ, इरफान, फुरकान… रामनवमी हिंसा में NIA ने 16 को पकड़ा, फुटेज से हुई पहचान: बंगाल में छतों से शोभा यात्रा पर बरसाए थे...

पश्चिम बंगाल में राम नवमी हिंसा मामले की जाँच के दौरान राष्ट्रीय जाँच एजेंसी ने 16 लोगों को गिरफ्तार किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
418,000SubscribersSubscribe