Saturday, July 13, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेक'गुरु नानक लंगर, गुड बाय हंगर' - यूक्रेन में सिख लंगर की फोटो वायरल,...

‘गुरु नानक लंगर, गुड बाय हंगर’ – यूक्रेन में सिख लंगर की फोटो वायरल, दैनिक भास्कर ने भी छापा… बस फैक्ट चेक नहीं किया

दैनिक भास्कर ने लिखा, "यूक्रेन में जहाँ एक तरफ बमबारी हो रही है, तो वहीं दूसरी तरफ सिख समुदाय के लोग भूखों का पेट भरने के लिए लंगर लगाए हुए हैं।" - लेकिन सच यह है कि फोटो 2018 की है।

रूस-यूक्रेन युद्ध के दौरान खाने के एक वैन का फोटो तेजी से वायरल हो रहा है। इसके अंदर 2 सिख दिख रहे हैं। इस फोटो के साथ दावा किया जा रहा है कि यूक्रेन के युद्ध प्रभावित जरूरतमंदों के लिए सिखों ने लगंर लगाया है। चित्र में खाने के वैन के पास कुछ लोगों को खाना खाते भी देखा जा सकता है। वैन में ‘गुरु नानक लंगर, गुड बाय हंगर’ लिखा हुआ है।

इसी फोटो को सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा

कुछ ही देर में यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। कई नेटीजेंस ने इसको शेयर किया। इसे शेयर करने वालों में कुछ बड़े नाम भी हैं। इसको शेयर करते हुए तमाम लोगों ने रूस के हमले के दौरान पीड़ित यूक्रेन वालों के लिए सिखों की दयालुता के रूप में दिखाया है। इसे रेप पीड़िताओं के लिए काम करने वाली योगिता भयाना ने भी यूक्रेन की तस्वीर बताते हुए शेयर किया है।

योगिता भयाना ने भी शेयर की तस्वीर

दैनिक भास्कर ने इस फोटो के आधार पर खबर भी बना दी। ट्विटर पर शेयर भी कर दिया। साथ ही इसके कैप्शन में लिखा, “यूक्रेन में जहाँ एक तरफ बमबारी हो रही है, तो वहीं दूसरी तरफ सिख समुदाय के लोग भूखों का पेट भरने के लिए लंगर लगाए हुए हैं।”

खबर को लेकर दैनिक भास्कर का ट्वीट

पंजाब से कॉन्ग्रेस सांसद जसबीर सिंह गिल ने भी इसी तस्वीर को शेयर किया है। उन्होंने लिखा, “सिख संगत ने यूक्रेन में गुरु का लंगर लगाया है। यह सिखों का आपदा काल में फँसे सभी के लिए मानवता पूर्ण निस्वार्थ योगदान है। सरबत दा भल्ला (सबका भला)।

कॉन्ग्रेसी सांसद जसबीर सिंह गिल का ट्वीट

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग से आम आदमी पार्टी के युवा मोर्चा के अध्यक्ष अरहान फारूख ने भी यही तस्वीर यूक्रेन की बता कर शेयर किया है। उन्होंने लिखा, “यूक्रेन में सिखों द्वारा फ्री में खाना बाँटा जा रहा। दुनिया के किसी भी कोने में और कभी भी जरूरत पड़ी तो सिख समुदाय हमेशा हमारे साथ खड़ा दिखा।”

छत्तीसगढ़ के रायपुर में ITM यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर विकास सिंह ने भी यही तस्वीर शेयर की है। उन्होंने लिखा, “सिख समुदाय के तमाम साथियों से मित्रता का गर्व है। और भारतीय भारतीय होने का भी।”

यह फोटो सोशल मीडिया पर तब वायरल हो रही है, जब रूस के हमले से यूक्रेन में अफरातफरी मची हुई है। साथ ही लोग यूक्रेन छोड़ कर सुरक्षित स्थानों पर भाग रहे हैं।

क्या है इस तस्वीर का सच

जिस तस्वीर को तमाम लोग यूक्रेन में रूस के हमले के दौरान सिखों के फ्री में लंगर बता कर वायरल कर रहे हैं, वो असल में पुरानी फोटो है। यह फोटो कनाडा की है, जिसे पहले भी शेयर किया जा चुका है। यह तस्वीर 3 साल से भी पहले 6 अगस्त 2018 को @WeTheSikhs हैंडल से शेयर की जा चुकी है।

तब इस फोटो को ट्वीट करते हुए कैप्शन में लिखा गया था, “गुरु नानक देव जी का लंगर, गुड बाय हंगर। यहाँ हर किसी का स्वागत है।”

रूस ने छेड़ रखा है यूक्रेन के विरुद्ध सैन्य अभियान

गौरतलब है कि 24 फरवरी को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन के खिलाफ सैन्य अभियान की घोषणा की थी। यह अभियान खास तौर पर पूर्वी यूक्रेन में चल रहा है। पुतिन के मुताबिक रूस का यूक्रेन पर कब्ज़े का कोई इरादा नहीं है। सैन्य अभियान का उद्देश्य यूक्रेन के खतरे से 2 नए बने देशों को बचाना है। रूसी फ़ौज बेलारूस के रास्ते से यूक्रेन में घुसी है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आदिल ने आदित्य बनकर हिंदू छात्रा को फँसाया, फिर लिव इन में रहने का बनवाया एफिडेविट: युवती के माता-पिता को भी मुस्लिम बनने के...

मध्य प्रदेश के सतना में आदिल खान ने आदित्य यादव बनकर हिंदू लड़की को जाल में फँसा लिया। इसके बाद लिव इन रिलेशन में रहने का एफिडेविट बनवा लिया।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -