Saturday, February 4, 2023
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेकपेट्रोल-डीजल की तरह रोज बदलेंगे गैस सिलेंडर के दाम: मीडिया के झूठ का PIB...

पेट्रोल-डीजल की तरह रोज बदलेंगे गैस सिलेंडर के दाम: मीडिया के झूठ का PIB ने किया Fact Check

इससे पहले UPI ट्रांजैक्शन कें महँगे होने की खबर भी सामने आई थी। जिनमें दावा किया गया कि यदि थर्ड पार्टी एप्स से पेमेंट की गई तो अतिरिक्त चार्ज लगेगा। हालाँकि, सरकार ने इस दावे को खारिज करते हुए किसी प्रकार की यूपीआई ट्रांजैक्शन में बढ़ोतरी से इंकार किया था।

केंद्र सरकार को बदनाम करने के लिए सोशल मीडिया पर कई प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में पुरानी तस्वीरों से लेकर फर्जी खबरों तक को आगे बढ़ा कर जनता को बुनियादी जरूरतों से जुड़ी सामग्री के नाम पर भ्रमित किया जा रहा है। हाल में एलपीजी सिलेंडर के दामों पर भी इसी तरह का एक झूठ फैलाया गया कि भारत सरकार एलपीजी सिलेंडरों के दामों पर बदलाव करने के विचार कर रही है।

इन रिपोर्ट्स में कहा गया, “एलपीजी सिलेंडर को लेकर भी कुछ खास बदलाव हो सकते हैं। संभव है कि बहुत जल्द अब एलपीजी सिलेंडर के भाव भी हर सप्ताह रिवाइज किए जाएँ। दिसंबर महीने में एलपीजी के दाम में कुल 100 रुपए तक का इजाफा हुआ है।”

आगे इनमें कहा गया, “अब तक ग्राहक पेट्रोल और डीजल की कीमतों में प्रतिदिन होने वाले बदलाव से घुल-मिल गए हैं। ऐसे में पहले की तुलना में कम अवधि में एलपीजी की कीमतों को रिवाइज किए जाने से भी उन्हें कोई समस्या नहीं होगी।”

बता दें कि, ‘पीआईबी फैक्ट चेक’ ने इस खबर का भंडाफोड़ करते हुए हकीकत बताई है। पीआईबी ने अपने ट्वीट में लिखा कि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि तेल कंपनियाँ अब गैस सिलेंडर के दामों में प्रतिदिन या साप्ताहिक तौर पर बदलाव करने का विचार कर रही हैं। मगर, इस खबर का फैक्ट यह है कि ये दावा पूरा गलत है। भारत सरकार ने एलपीजी सिलेंडर के दामों में परिवर्तन संबंधी कोई घोषणा नहीं की है।

इससे पहले, मीडिया खबरों के जरिए UPI ट्रांजैक्शन कें महँगे होने की खबर भी सामने आई थी। इनमें दावा किया गया था कि यदि थर्ड पार्टी एप्स से पेमेंट की गई तो अतिरिक्त चार्ज लगेगा। हालाँकि, सरकार ने इस दावे को खारिज करते हुए किसी प्रकार की यूपीआई ट्रांजैक्शन में बढ़ोतरी से इंकार किया था। फैक्ट चेक से यह स्पष्ट किया गया था कि NPCI की ओर से ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है। लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स बता रही थीं कि थर्ड पार्टी ऐप से ट्रांजैक्शन करने पर अतिरिक्त चार्ज लगेगा।

पीआईबी फैक्ट चेक ने अपने ट्विटर पर लिखा था, “यह दावे गलत हैं। NPCI की ओर से ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है।” इसके अलावा NPCI ने भी अपनी ओर से कहा, “NPCI यह स्पष्ट करना चाहता है कि जो खबरें आ रही हैं कि UPI ट्रांजैक्शन पर 1 जनवरी 2021 से अतिरिक्त चार्ज लगेगा, वो पूर्णत: फर्जी है। 5 नवंबर को जारी की गई हमारी प्रेस रिलीज मेें कीमत या चार्ज से जुड़ा कुछ भी नहीं है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ये मुस्लिम विरोधी कार्रवाई’: असम में बाल विवाह के खिलाफ एक्शन से भड़के ओवैसी, अब तक 2200 गिरफ्तार – इनमें सैकड़ों मौलवी-पुजारी

असम सरकार की कार्रवाई के तहत दूल्हे और उसके परिजनों के अलावा पंडितों और मौलवियों को भी गिरफ्तार किया जा रहा है। ओवैसी बोले - ये मुस्लिम विरोधी।

‘कोई मारपीट नहीं हुई, हमारा खून ज़्यादा गर्म’: जिन कश्मीरियों के सामान फेंके जाने की खबर चला रहा मीडिया, उन्होंने कैमरे पर कबूला –...

कश्मीरियों के सामान फेंके जाने की बात का खंडन हो गया है। ऑपइंडिया की टीम ने भी ग्राउंड जीरो पर पहुँच कर झूठ का पर्दाफाश किया। देखें वीडियो।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
243,756FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe