Monday, July 26, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेकNDTV ने राजस्थान में कोरोना वैक्सीन की कमी को लेकर फैलाया झूठ: PIB ने...

NDTV ने राजस्थान में कोरोना वैक्सीन की कमी को लेकर फैलाया झूठ: PIB ने खोली पोल, बताया फर्जी

पीआईबी की फैक्ट चेक टीम ने भी NDTV के इस दावे को फेक बताया है। राजस्थान के पास कोरोना वैक्सीन के टीके की कमी नहीं है और ना ही उसके टीकाकरण की गति को धीमा किया जाएगा। जितनी आवश्यकता होगी उतना वैक्सीन डोज राज्य को उपलब्ध कराया जाएगा।

देश भर में कोरोना टीकाकरण का काम जोरों पर है। देश भर में सभी राज्य कोरोना टीकाकरण को भारत सरकार के निर्देश पर लगातार चला रहे हैं। भारत सरकार की तरफ से हर प्रदेश सरकार को कोरोना का टीका उनकी माँग के अनुरूप मुहैया कराया जा रहा है। राजस्थान में भी कोरोना का टीकाकरण कार्यक्रम शानदार तरीके से चलाया जा रहा है। 

इस सब के बीच NDTV की एक खबर ने सनसनी फैला दी। इस खबर में इस बात का दावा किया गया कि कोरोना के टीके का स्टॉक राजस्थान के पास खत्म हो रहा है। ऐसे में केंद्र सरकार की तरफ से अभी राजस्थान की माँग के बाद भी उसे टीका मुहैया नहीं कराया गया है। अगर दो दिन के अंदर टीके का स्टॉक राजस्थान के पास नहीं पहुँचा तो राज्य में टीकाकरण अभियान रूक जाएगा।

Screengrab of the tweet by NDTV

इसको लेकर राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर रघु शर्मा के बयान का हवाला दिया गया। डॉक्टर रघु शर्मा ने केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय से मार्च महीने के लिए 67 लाख कोरोना वैक्सीन डोज की खपत की बात बताई थी और कहा था कि उनको 60 लाख कोरोना वैक्सीन डोज की जरूरत है। 

उन्होंने ये भी कहा था कि राज्य के पास केवल मंगलवार तक के टीकाकरण के लिए कोरोना वैक्सीन की डोज पड़ी हुई है। उन्होंने ये भी कहा था कि राजस्थान की देश के कुल वैक्सीनेशन में पच्चीस फीसदी भागीदारी है। यह भागीदारी आबादी के हिसाब से है। ऐसे में प्रदेश को ज्यादा मात्रा में कोरोना के टीके की डोज चाहिए।

पीआईबी की फैक्ट चेक टीम ने भी NDTV के इस दावे को फेक बताया है। राजस्थान के पास कोरोना वैक्सीन के टीके की कमी नहीं है और ना ही उसके टीकाकरण की गति को धीमा किया जाएगा। जितनी आवश्यकता होगी उतना वैक्सीन डोज राज्य को उपलब्ध कराया जाएगा। केंद्र सरकार की तरफ से साफ कर दिया गया कि यह हर राज्य के लिए लागू है। माँग के हिसाब से उनकी आवश्यकताओं पर ध्यान रखकर उसकी पूर्ति करना केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है और सरकार इसके लिए हर राज्य सरकार के साथ लगातार संपर्क में है।

खास कर राजस्थान को लेकर स्थिति को स्पष्ट करते हुए केंद्र सरकार ने कहा कि वर्तमान में राज्य में COVID-19 वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। राजस्थान को 37.61 लाख खुराक की आपूर्ति की गई है और अभी तक केवल 24.28 लाख खुराक का उपयोग किया गया है। इसके बाद भी केंद्र सरकार नियमित रूप से वैक्सीन आपूर्ति की व्यवस्था बनाए हुए है। इसके साथ ही केंद्र सरकार की तरफ से यह भी स्पष्ट कर दिया गया कि केंद्र ने पहले ही राज्य को कोरोना वैक्सीन की 85,000 आपातकालीन खुराक मुहैया करा दी है।

कॉन्ग्रेस शासित राजस्थान में कोरोना वायरस वैक्सीन की कमी के फर्जी दावे को डीडी न्यूज ने भी खारिज कर दिया।

NDTV ने स्पष्टीकरण जारी कर विरोधाभास की वजह बताई

पोल खुलने के बाद NDTV ने इस मामले पर स्पष्टीकरण जारी करते हुए कहा कि एनडीटीवी ने राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री की टिप्पणी की सूचना दी। उन्होंने कहा, “हमारे पास तीन दिनों के लिए टीके हैं… हमें ड्राइव के रूप में जारी रखने के लिए मार्च में 60 लाख वैक्सीन चाहिए। यदि हमें टीके नहीं लगे, तो ड्राइव बीच में ही रुक सकती है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,200FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe