Monday, July 26, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेक'श्रीलंका में भी भाजपा, पार्टी का हो रहा अंतरराष्ट्रीय विस्तार': श्रीलंका BJP को लेकर...

‘श्रीलंका में भी भाजपा, पार्टी का हो रहा अंतरराष्ट्रीय विस्तार’: श्रीलंका BJP को लेकर हो रहे दावों का फैक्टचेक

SLBJP की स्थापना होटल कारोबारी वेलुसामी मुथुस्वामी ने की है। वे नरेंद्र मोदी के फैन हैं।

सोशल मीडिया पर ‘श्रीलंका BJP’ को लेकर ये दावा वायरल हो रहा है कि यह भारत की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (BJP) की ही ब्रांच है। लोग दावा कर रहे हैं कि भाजपा ने अब अंतरराष्ट्रीय विस्तार शुरू कर दिया है और इसी क्रम में श्रीलंका में भी BJP की ब्रांच खुली है। साथ में एक टीवी स्क्रीन की तस्वीर भी वायरल हो रही है, जिसमें ‘श्रीलंका BJP’ के नेता बोलते हुए दिख रहे हैं। आइए, जानते हैं क्या है सच्चाई।

दरअसल, ये तस्वीर श्रीलंका के होटल कारोबारी वेलुसामी मुथुस्वामी की है, जिन्होंने इस पार्टी की स्थापना की है। वो भारतीय मूल के ही हैं। उन्होंने जिस राजनीतिक पार्टी की स्थापना की है, उसका नाम है – ‘लंकाई भारतीय जनता काट्ची (LBJK)’, जो श्रीलंका के लोगों के समाजिक-आर्थिक विकास के लिए काम करने का दावा करती है। खासकर युद्ध से पीड़ित रहे उत्तरी और पूर्वी इलाकों में इसकी सक्रियता होगी।

शनिवार (मार्च 6, 2021) को उत्तरी श्रीलंका के जाफना में उन्होंने इसका ऐलान किया। उन्होंने बताया कि रेडियो जर्नलिस्ट एम इंद्रजीत को पार्टी का महासचिव बनाया गया है। कारोबारी वी दिलन इसके कोषाध्यक्ष होंगे। इसी पार्टी का अंग्रेजी नाम ‘Sri Lanka Bharathiya Janatha Party (SLBJP)’ है, जो BJP से मिलता-जुलता है। इसीलिए, लोग इसे भारत की सत्ताधारी पार्टी का एक्सटेंशन बता रहे हैं।

श्रीलंका में नई राजनीतिक पार्टी का गठन

उन्होंने SLBJP को सभी समुदायों और धर्मों की पार्टी बताते हुए कहा कि ये एक धर्मनिरपेक्ष दल होगा। उन्होंने दावा किया कि वो समाज के निचले तबकों की सुरक्षा के लिए कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी भारतीय मूल के तमिल लोगों की शिक्षा-दीक्षा के कार्य में सहयोग करेगी। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी का भारत की BJP से कोई सम्बन्ध नहीं है, लेकिन वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैन हैं और उनकी विकासवादी सोच के अच्छे परिणाम भी आ रहे हैं।

‘रेडियो पाकिस्तान’ ने भी ये अफवाह फैलाई थी कि भारत के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह श्रीलंका और नेपाल की सरकारों पर प्रभाव डालने के लिए वहाँ अपनी राजनीतिक पार्टियों का गठन कर सकते हैं। चीनी मुखपत्र ‘ग्लोबल टाइम्स’ के हवाले उड़ाई गई थी। लेकिन, साफ़ है कि ये पार्टी अलग है, भले ही इसके संस्थापक पीएम मोदी के फैन हों। श्रीलंका में भारतीय जनता पार्टी की कोई ब्रांच नहीं खुली है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe