Tuesday, April 16, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकचैन्नई एक्सप्रेस की गायिका ने फैलाई फर्जी खबर, UP पुलिस ने दिखाया आईना

चैन्नई एक्सप्रेस की गायिका ने फैलाई फर्जी खबर, UP पुलिस ने दिखाया आईना

उत्तर प्रदेश पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल द्वारा सारे तथ्य रखे जाने के बावजूद चिन्मयी श्रीपाद ने पुलिस की जाँच प्रक्रिया को ही कठघरे में रखना चाहा। जिस पर पुलिस ने उत्तर दिया कि...

शाहरुख़ खान की फिल्म चेन्नई एक्सप्रेस में ‘तितली’ गाना गाने वाली गायिका चिन्मयी श्रीपाद उत्तर प्रदेश पुलिस के खिलाफ फर्जी खबर फैलाते हुए पकड़ी गईं। दरअसल मामला यह है कि चिन्मयी ने ट्विटर पर एक न्यूज़ रिपोर्ट का लिंक शेयर किया जिसमें कहा गया था कि एक 37 वर्षीय महिला के साथ गैंगरेप हुआ और जब वह पुलिस के पास शिकायत लेकर गई तो शिकायत दर्ज कराने के एवज में पुलिस अधिकारी ने उसके साथ सेक्स की माँग की।

चिन्मयी श्रीपाद का ट्वीट जो अब डिलीट कर दिया गया है।

चिन्मयी ने यह ट्वीट करने की जल्दीबाजी में यह भी ध्यान नहीं दिया कि उक्त घटना 2017 की है न कि 2019 की। दूसरी बात यह कि जिस केस की बात चिन्मयी कर रही थीं वह अपने परिणाम तक पहुँच चुका है और उस महिला की सच्चाई भी सामने आ चुकी है जिसकी बात न्यूज़ रिपोर्ट में कही जा रही थी। 

चिन्मयी के ट्वीट पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने आकर जवाब दिया। पुलिस ने भी ट्वीट कर केस से संबंधित तथ्य रखे और बताया कि उक्त घटना रामपुर में हुई थी। एक महिला ने अमीर अहमद और सत्तार अहमद पर गैंगरेप का आरोप लगाया था। रामपुर के गंज पुलिस थाने के सब इंस्पेक्टर जय प्रकाश ने जाँच के दौरान पाया कि महिला द्वारा लगाए गए आरोप गलत और फर्जी थे। इसके बाद अधिकारी जय प्रकाश ने गैंगरेप फाइल बंद कर दी।

गैंगरेप का आरोप झूठा सिद्ध होने के बाद महिला ने सब इंस्पेक्टर से बदला लेने की ठानी। महिला ने अपने एक अन्य मित्र मोहम्मद रफ़ी के साथ मिलकर जय प्रकाश के विरुद्ध षड्यंत्र रचा। महिला ने जय प्रकाश के खिलाफ केस दर्ज कराने का षड्यंत्र रचा कि जब वह गैंगरेप की शिकायत दर्ज करने आई थी तब इसके एवज में जय प्रकाश ने उसके साथ संभोग की माँग की थी।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने जब महिला द्वारा जय प्रकाश पर लगाए आरोपों की जाँच की तो पाया कि महिला ने जय प्रकाश पर फर्जी केस करने के लिए आवाज बदल कर कॉल की थी। महिला के मित्र मोहम्मद रफ़ी ने पुलिस के सामने कबूल किया था कि उसने महिला के साथ मिलकर जय प्रकाश से बदला लेने के लिए षड्यंत्र रचा था। 

उत्तर प्रदेश पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल द्वारा सारे तथ्य रखे जाने के बावजूद चिन्मयी श्रीपाद ने पुलिस की जाँच प्रक्रिया को ही कठघरे में रखना चाहा। जिसपर पुलिस ने उत्तर दिया कि महिला आरोप लगाती थी उसे सब इंस्पेक्टर से फोन आते थे, लेकिन जब उन फोन कॉल की जाँच की गई तो नंबर महिला के मित्र मोहम्मद रफ़ी का पाया गया। जिसके बाद मामले की पूरी सच्चाई सामने आई।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सोई रही सरकार, संतों को पीट-पीटकर मार डाला: 4 साल बाद भी न्याय का इंतजार, उद्धव के अड़ंगे से लेकर CBI जाँच तक जानिए...

साल 2020 में पालघर में 400-500 लोगों की भीड़ ने एक अफवाह के चलते साधुओं की पीट-पीटकर निर्मम हत्या कर दी थी। इस मामले में मिशनरियों का हाथ होने का एंगल भी सामने आया था।

‘मोदी की गारंटी’ भी होगी पूरी: 2014 और 2019 में किए इन 10 बड़े वादों को मोदी सरकार ने किया पूरा, पढ़ें- क्यों जनता...

राम मंदिर के निर्माण और अनुच्छेद 370 को निरस्त करने से लेकर नागरिकता संशोधन अधिनियम को अधिसूचित करने तक, भाजपा सरकार को विपक्ष के लगातार कीचड़ उछालने के कारण पथरीली राह पर चलना पड़ा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe