Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजरतनलाल के हत्यारों की हुई पहचान, पुलिस पर हमले से पहले दंगाइयों ने तोड़...

रतनलाल के हत्यारों की हुई पहचान, पुलिस पर हमले से पहले दंगाइयों ने तोड़ दिए थे CCTV कैमरे

हिंसा भड़कने से पहले कुछ लोगों ने सीसीटीवी कैमरे तोड़ डाले। इसके बाद इन लोगों ने पुलिस को 1 बजे के करीब कॉल किया। जब एसीपी अनुज, डीसीपी अमित शर्मा और हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल व अन्य पुलिसकर्मी वहाँ पहुँचे, तो हिंसक भीड़ ने सोची-समझी साजिश के तहत हमला कर दिया।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हिंदू विरोधी दंगों के सुनियोजित होने के एक और सबूत मिले हैं। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पुलिस पर हमले से पहले दंगाइयों ने सीसीटीवी कैमरे तोड़ दिए थे। इस हमले में दिल्ली पुलिस के कॉन्स्टेबल रतनलाल की मौत हो गई थी। डीसीपी अमित शर्मा गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने रतनलाल के हत्यारों की पहचान कर ली है।

न्यूज 18 की खबर के अनुसार, क्राइम ब्रांच में आरोपितों की शिनाख्त करने और जल्द ही उनकी गिरफ्तारी की बात कही है। 24 फरवरी को चॉंदबाग इलाके में हुई हिंसा में रतनलाल की मौत हो गई थी। खबर के अनुसार, विडियो से हमले की पूरी साजिश को समझा जा सकता है। हिंसा भड़कने से पहले कुछ लोग सीसीटीवी को तोड़ते साफ तौर पर देखे गए। इसके बाद इन लोगों ने पुलिस को 1 बजे के करीब कॉल किया। जब एसीपी अनुज, डीसीपी अमित शर्मा और हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल व अन्य पुलिसकर्मी वहाँ पहुँचे, तो हिंसक भीड़ ने सोची-समझी साजिश के तहत उन पर पथराव कर दिया।

दावा किया जा रहा है कि पुलिस पर हमले से पहले ही वहाँ पर सारे सीसीटीवी को तोड़ा-फोड़ा गया था ताकि उपद्रवियों की पहचान न हो सके। लेकिन, अब इसी सीसीटीवी फुटेज के कारण सैकड़ों की तादाद में दंगाइयों की पहचान हुई है। इसी के आधार पर उनकी धर-पकड़ की जा रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक, हिंसक भीड़ ने आतंक मचाने के पहले 15 से ज्यादा सीसीटीवी को निशाना बनाया था। जारी वीडियो में हम देख सकते हैं कि वहाँ मौजूद दंगाई सीसीटीवी को ढूँढ-ढूँढ कर उसे तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

न्यूज 18 द्वारा दिखाई गई इन तस्वीरों से साफ मालूम होता है कि 11 बजे तक चाँदबाग इलाके में भीड़ का नामोनिशान तक नहीं था। लेकिन 12 बजे के करीब वहाँ लड़के इकट्ठा होने शुरू हुए और उन्होंने सुनियोजित ढंग से अपने साथियों को इकट्ठा किया, सीसीटीवी में तोड़फोड़ की और बाद में पुलिस पर हमला किया। इसी हमले में हेड कॉन्स्टेबल को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा, एसीपी अनुज घायल हुए और डीसीपी अमित शर्मा को गंभीर चोटें आईं।

हमले का जो विडियो सामने आया है उसमें दंगाई भीड़ दिल्ली पुलिस पर लाठी और पत्थर से हमला करती नजर आ रही है। भीड़ में शामिल बुर्का धारी महिलाएँ भी पुलिस पर हमला करते हुए नजर आती हैं। डीसीपी अमित शर्मा की पत्नी ने भी कहा है कि उनके पति महिला प्रदर्शनकारियों से बात करने गए थे। लेकिन, वहां उन पर हमला कर दिया गया। इससे पहले एसीपी अनुज कुमार ने भी उस भीड़ की हिंसा के बारे में बताया था। उन्होंने कहा था, “24 तारीख की सुबह साढ़े 11 बजे और 12 बजे के आसपास की बात है। मेरी और रतनलाल और बाकी कर्मचारियों की ड्यूटी चाँदबाग मजार से 80-100 मीटर आगे थी। 23 को वहाँ पर वजीराबाद रोड को जाम किया गया था, जिसे देर रात को खुलवाया गया था। उस रास्ते को क्लियर रखने के निर्देश मिले थे।”

महिला प्रदर्शनकारियों से ही बात करने गए थे, हेलमेट निकाल हमला किया: DCP अमित शर्मा की पत्नी

ताहिर हुसैन के भाई शाह आलम की तलाश: जहाँ हुई IB के अंकित शर्मा की हत्या वहाँ मौजूद था

बुर्का पहनी महिलाएँ बरसा रहीं पत्थर, दंगाई दाग रहे गोली: उस भीड़ का Video जिसने ली रतनलाल की जान

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsदिल्ली हिंसा viral video, दिल्ली दंगा viral video, दिल्ली पुलिस viral video, दिल्ली पुलिस पर हमला, रतनलाल को किसने गोली मारी, रतनलाल पर हमला, डीसीपी अमित शर्मा पर हमला, पत्थरबाजी का viral video, अंकित शर्मा टार्गेट किलिंग, अंकित शर्मा की हत्या क्यों की गई, अंकित शर्मा बांग्लादेशी आतंकी, बांग्लादेशी आतंकी ताहिर हुसैन, हिंदू घृणा, अमेरिका में हिंदू निशाने पर, हिंदू प्रताड़ना, उबर हिंदूफोबिया, उबर ड्राइवर ने हिंदू को किया प्रताड़ित, उबर दिल्ली दंगा, ताहिर लास्ट लोकेशन, ता​हिर एफआईआर, ताहिर लुक आउट नोटिस, ताहिर हुसैन की तलाश में छापेमारी, ताहिर हुसैन सीसीटीवी फुटेज, ताहिर हुसैन अग्रिम जमानत याचिका, ताहिर हुसैन दिल्ली पुलिस, दिल्ली हिंदू विरोधी दंगा, नालों से मिले शव, दिल्ली नाला शव, दिल्ली मदरसा गुलेल, मदरसा गुलेल विडियो, शिव विहार, मुस्तफाबाद, अमर विहार, दिल्ली दंगे चश्मदीद, दिल्ली हिंसा चश्मदीद, दिल्ली हिंसा महिला, दिल्ली दंगों में कितने मरे, दिल्ली में कितने हिंदू मरे, मोहम्मद शाहरुख, जाफराबाद शाहरुख, शाहरुख फरार, ताहिर हुसैन आप, ताहिर हुसैन एफआईआर, ताहिर हुसैन अमानतुल्लाह, चांदबाग शिव मंदिर पर हमला, दिल्ली दंगा मंदिरों पर हमला, दिल्ली मंदिरों पर हमले, मंदिरों पर हमले, चांदबाग पुलिया, अरोड़ा फर्नीचर, ताहिर हुसैन के घर का तहखाना, अंकित शर्मा केजरीवाल, अंकित शर्मा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का परिवार, दिल्ली शाहदरा, शाहदरा दिलबर सिंह, उत्तराखंड दिलवर सिंह, दिल्ली हिंसा में दिलवर सिंह की हत्या, रवीश कुमार मोहम्मद शाहरुख, रवीश कुमार अनुराग मिश्रा, रतनलाल, साइलेंट मार्च, यूथ अगेंस्ट जिहादी हिंसा, दिल्ली हिंसा एनडीटीवी, एनडीटीवी श्रीनिवासन जैन, एनडीटीवी रवीश कुमार, रवीश कुमार दिल्ली हिंसा, दिल्ली हिंसा में कितने मरे, दिल्ली दंगों में मरे, दिल्ली कितने हिंदू मरे, दिल्ली दंगों में आप की भूमिका, आप पार्षद ताहिर हुसैन, आप नेता ताहिर हुसैन, ताहिर हुसैन वीडियो, कपिल मिश्रा ताहिर हुसैन, आईबी कॉन्स्टेबल की हत्या, अंकित शर्मा की हत्या, चांदबाग अंकित शर्मा की हत्या, दिल्ली हिंसा विवेक, विवेक ड्रिल मशीन से छेद, विवेक जीटीबी अस्पताल, विवेक एक्सरे, दिल्ली हिंदू युवक की हत्या, दिल्ली विनोद की हत्या, दिल्ली ब्रहम्पुरी विनोद की हत्या, दिल्ली हिंसा अमित शाह, दिल्ली हिंसा केजरीवाल, दिल्ली पुलिस, दिल्ली पुलिस रतनलाल, हेड कांस्टेबल रतनलाल, रतनलाल का परिवार, छत्तीसिंह पुरा नरसंहार, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली हिंसा, करावल नगर, जाफराबाद, मौजपुर, गोकलपुरी, शाहरुख, कांस्टेबल रतनलाल की मौत, दिल्ली में पथराव, दिल्ली में आगजनी, दिल्ली में फायरिंग, भजनपुरा, दिल्ली सीएए हिंसा
ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -