Wednesday, June 19, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृतिक्रिसमस से पहले की शाम 1 लाख लोग करेंगे गीता पाठ, PM मोदी को...

क्रिसमस से पहले की शाम 1 लाख लोग करेंगे गीता पाठ, PM मोदी को भी न्योता: हिन्दू संगठन को अनुमति नहीं दे रहा पश्चिम बंगाल का प्रशासन

कोलकाता में सामूहिक गीता पाठ में पीएम मोदी भी शामिल होंगे। गीता जयंती यानी 24 दिसंबर को ब्रिगेड मैदान में आयोजन होगा जिसमें एक लाख से ज्यादा लोग एक साथ गीता का पाठ करेंगे।

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक लाख लोग सामूहिक रूप से गीता का पाठ करेंगे। खास बात ये है कि इस आयोजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी न्यौता भेजा गया है, जबकि इस कार्यक्रम का आयोजन भारतीय जनता पार्टी नहीं कर रही है। इस कार्यक्रम का आयोजन कर रहे हैं तीन हिंदूवादी संगठन, जिन्होंने प्रधानमंत्री को भी आमंत्रित किया है। हालाँकि अभी तक कोलकाता पुलिस और प्रशासन ने इस आयोजन की हरी झंडी नहीं है, इसके बावजूद इस कार्यक्रम को लेकर सियासी घमासान मचने लगा है।

जानकारी के मुताबिक, कोलकाता में सामूहिक गीता पाठ में पीएम मोदी भी शामिल होंगे। गीता जयंती यानी 24 दिसंबर को ब्रिगेड मैदान में आयोजन होगा जिसमें एक लाख से ज्यादा लोग एक साथ गीता का पाठ करेंगे। बंगाल भाजपा अध्यक्ष सुकांत के नेतृत्व में संतों के एक प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार शाम दिल्ली में पीएम मोदी से मिलकर गीता पाठ समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। इस मामले में सुकांत मजूमदार ने सोशल मीडिया पर भी जानकारी साझा की है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस निमंत्रण को स्वीकार कर लिया है।

भाजपा नहीं, हिंदू संगठन कर रहे आयोजन

इस कार्यक्रम का आयोजन विभिन्न मठ- मंदिरों व हिंदू संगठनों की ओर से गीता पाठ समिति बनाकर किया जा रहा है। आयोजकों की ओर से पता चला है कि सामूहिक गीता पाठ के लिए अब तक एक लाख 20 हजार लोग रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। हालाँकि, आयोजकों ने कहा कि कोलकाता पुलिस ने अभी तक कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी है। क्रिसमस की पूर्व संध्या रविवार होने के कारण लाखों लोगों के सड़कों पर निकलने की उम्मीद है।

राजनीति तेज होने के कयास

इस आयोजन की घोषणा के बाद से ही बंगाल में राजनीतिक तल्खी बढ़ गई है। तृणमूल कॉन्ग्रेस ने इस आयोजन को हिंदूवादी राजनीति का एक हिस्सा बताया है। पार्टी ने कहा है कि यह आयोजन सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने की कोशिश है। तो भारतीय जनता पार्टी ने इस आयोजन का समर्थन किया है। पार्टी ने कहा है कि यह आयोजन हिंदू संस्कृति और धर्म का सम्मान करने का एक तरीका है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -