Sunday, May 26, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृति2.5 लाख टन कृष्णशिला से बना यदाद्रि का लक्ष्मी नरसिंह मंदिर: हजारों साल पुरानी...

2.5 लाख टन कृष्णशिला से बना यदाद्रि का लक्ष्मी नरसिंह मंदिर: हजारों साल पुरानी गुफाओं में स्वयंभू भगवान, 125 Kg सोने का गोपुरम

मुख्य गोपुरम का काम अभी चल ही रहा है, जिसके लिए 125 किलो सोने का खर्च लगाया जा रहा है। इनमें से 30 किलो सोना कारोबारियों और नेताओं द्वारा दान के माध्यम से आया है।

तेलंगाना में 2000 करोड़ रुपए की लागत से बने यदाद्रि के लक्ष्मी नरसिंह मंदिर का उद्घाटन किया गया। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने ये प्रक्रिया पूरी की। भक्तों के लिए इसे खोल दिया गया था। मंदिर यहाँ पहले से ही था, लेकिन अब इसकी रूपरेखा बदल गई है। पिछले 100 वर्षों में कृष्णशिला (Black Granite Stone) से तैयार होने वाला ये पहला मंदिर है। इसे शास्त्रों के हिसाब से निर्मित किया गया है। अब तक 1000 करोड़ रुपए लग चुके हैं, आगे कई और काम होने हैं।

इसे पुनर्निर्मित करने में 5 साल का लंबा समय लगा है। पहले जहाँ ये एक पहाड़ी पर स्थित छोटा सा मंदिर हुआ करता था, वहीं अब इसकी वस्तु-कला को देखने दूर-दूर से लोग आएँगे। ये मंदिर हैदराबाद से 60 किलोमीटर दूर स्थित यदाद्रि भुवनगिरि जिले में स्थित है। 11 अक्टूबर, 2016 को इसके पुनर्निर्माण का कामकाज शुरू हुआ था। ‘महाकुम्भ संप्रोक्षण’ के मौके पर इसका उद्घाटन हुआ है। देवता को बालायाम से लेकर प्रमुख गर्भगृह में स्थापित किया गया।

इसे आंध्रा प्रदेश के तिरुमला स्थित श्री वेंकटेश मंदिर की तरह विकसित किए जाने का लक्ष्य है, जो विश्व का सबसे समृद्ध मंदिर है। तिरुमला की 7 पहाड़ियों के मुकाबले यहाँ 9 पहाड़ियाँ हैं। बाकी की 8 पहाड़ियों को भी एक तीर्थस्थल के रूप में विकसित किया गया है। इसके लिए ‘यदाद्रि टेम्पल डेवलपमेंट अथॉरिटी (YTDA)’ का गठन भी किया गया। इसे बनाने के लिए सीमेंट, ईंट या कंक्रीट का इस्तेमाल नहीं किया गया है। सिर्फ चूने मोर्टार को उपयोग में लाया गया।

आंध्र प्रदेश के प्रकाशम और गुंटूर जिले से 2.5 लाख टन कृष्णशिला मँगाया गया। रोज लगभग 1500 लोग इस काम में लगे रहे, जिनमें से 800 मूर्तिकार थे। आनंद साईं को इसका मुख्य शिल्पकार नियुक्त किया गया, जिन्होंने इसे बनाने से पहले दक्षिण भारत के कई मंदिरों का दौरा किया। 7 गोपुरम तिरुचिपल्ली के श्रीरंगम मंदिर से प्रेरित है। मुख्य गोपुरम, जिसे ‘विमान’ नाम दिया गया है, उस पर सोने की परत चढ़ाई गई। ये तिरुमला मंदिर से प्रेरित है।

ये काम अभी चल ही रहा है, जिसके लिए 125 किलो सोने का खर्च लगाया जा रहा है। इनमें से 30 किलो सोना कारोबारियों और नेताओं द्वारा दान के माध्यम से आया है। 13,000 टन पत्थरों का इस्तेमाल कर के 7 मंजिला राजगोपुरम बनाया गया। कोरोना के कारण काम पर असर पड़ा, वरना ये पहले ही तैयार हो चुका होता। आने वाले समय पर प्रतिदिन 40,000 श्रद्धालु यहाँ आ सकते हैं। हजारों वर्ष पुरानी स्थित यहाँ की गुफाओं में नृसिंह की तीन मूर्तियाँ हैं – ज्वाला, गंधभिरंदा और योगानंदा

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

IPL 2024: चेन्नई में कौन बनेगा चैंपियन? विस्फोटक बल्लेबाजी में SRH आगे, लेकिन KKR के पास स्पीड ब्रेकर, जानें-पिच से लेकर फाइनल के X...

इंडियन प्रीमियर लीग 2024 का खिताबी मुकाबला रविवार (26 मई 2024) को चेन्नई में खेला जाना है। इस साल केकेआर टॉप पर रहते हुए फाइनल में पहुँची है, तो SRH दूसरे स्थान पर रहते हुए।

‘मा$₹चो$ हो तुम स्वाति मालीवाल’: यूट्यूबर ध्रुव राठी की वीडियो के बाद AAP की सांसद को मिल रही रेप-हत्या की धमकी – दिल्ली पुलिस...

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने बताया है कि यूट्यूबर ध्रुव राठी के वीडियो के बाद उन्हें रेप-हत्या की धमकियाँ मिल रही हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -