Thursday, June 20, 2024
Homeविविध विषयकला-साहित्यतांडव, चंद्रमौलेश्वर और मनमहेश... महाकाल की सवारी में पत्नी के साथ शामिल हुए CM...

तांडव, चंद्रमौलेश्वर और मनमहेश… महाकाल की सवारी में पत्नी के साथ शामिल हुए CM शिवराज: उज्जैन में थूकबाजों का घर किया था जमींदोज

इससे पहले 17 जुलाई को जब महाकाल की सवारी निकली थी तो एक घर की छत से थूकने का वीडियो वायरल हुआ था। आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद शिवराज सरकार ने ढोल-DJ से मुनादी करवाकर उस घर के अवैध निर्माण को ध्वस्त करवा दिया था, जिसकी छत से सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए यह हरकत की गई थी।

सावन के तीसरे सोमवार पर 24 जुलाई 2023 को मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल की सवारी निकली। अपनी प्रजा का हाल जानने निकले राजाधिराज भगवान महाकाल के तीन रूपों के दर्शन भक्तों ने इस सवारी के दौरान की। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी अपनी पत्नी और बेटे के साथ सवारी में शामिल हुए।

इस सोमवार बाबा महाकाल ने अपने भक्तों को तीन स्वरूप में दर्शन दिए। चाँदी की पालकी में वे चंद्रमौलेश्वर रूप में विराजमान थे। हाथी पर वे मनमहेश के रूप में सवार थे। बैल गाड़ी में गरुड़ रथ पर शिवताडंव के दिव्य-भव्य स्वरूप में भगवान महाकाल ने उज्जैन का भ्रमण किया। इससे पहले मंदिर के मुख्य द्वार पर पुलिस बैंड ने शिव धुन बजाई। इसके बाद सशस्त्र बल की टुकड़ी की सलामी के बाद राजाधिराज महाकाल की सवारी रवाना हुई।

इस दौरान बड़ी संख्या में मौजूद भक्तों ने हर-हर महादेव, जय महाकाल जैसे जयकारों और फूल बरसाकर बाबा महाकाल का स्वागत किया। वहीं सीएम शिवराज सिंह चौहान अपनी पत्नी साधना सिंह और बेटे कार्तिकेय के साथ महाकाल का अभिषेक करने के बाद सवारी में शामिल हुए। इस दौरान उज्जैन के सांसद अनिल फिरोजिया और महापौर मुकेश टटवाल भी साथ थे।

महाकाल की सवारी से पहले सीएम शिवराज पत्नी के साथ महाकाल मंदिर का ध्वज थामे चल रहे थे। इसके बाद झाँझर बजाते नजर आए। सीएम शिवराज ने इसका वीडियो में शेयर किया है। वीडियो के कैप्शन में उन्होंने लिखा, “भजन गाओ, खुशियाँ मनाओ… मेरे बाबा की सवारी है।”

बता दें कि प्रत्येक वर्ष सावन माह में महाकाल की सवारी निकलती है। आम तौर पर यह सवारी 4-5 सोमवार ही निकलती है। चूँकि इस बार अधिकमास है। ऐसे में भगवान महाकाल की सवारी 10 बार निकलेगी। अंतिम सवारी 11 सितंबर को निकलेगी। इससे पहले 17 जुलाई को जब महाकाल की सवारी निकली थी तो एक घर की छत से थूकने का वीडियो वायरल हुआ था। आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद शिवराज सरकार ने ढोल-DJ से मुनादी करवाकर उस घर के अवैध निर्माण को ध्वस्त करवा दिया था, जिसकी छत से सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए यह हरकत की गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -