Wednesday, May 18, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजन'क्लीवेज और थाई' दिखाने को बोलता था फिल्म डायरेक्टर, 'आश्रम' की हिरोइन ने बताई...

‘क्लीवेज और थाई’ दिखाने को बोलता था फिल्म डायरेक्टर, ‘आश्रम’ की हिरोइन ने बताई कास्टिंग काउच की कहानी

"ऑडिशन के दौरान कोई बूढ़ी कहता था तो कोई कहता था कि इस फिल्म के लिए बनी ही नहीं हूँ। एक फिल्म के आखिर में यह कह कर बाहर कर दिया कि मैं लीड एक्ट्रेस से अधिक खूबसूरत हूँ।"

कास्टिंग काउच बॉलीवुड का घिनौना सच है, जहाँ काम देने के बहाने अभिनेत्रियों के साथ अश्लील बर्ताव किए जाते हैं। इसी को लेकर वेब सीरीज ‘आश्रम’ की एक्ट्रेस रही प्रीती सूद ने अपने कड़वे अनुभवों को साझा किया है। उन्होंने कास्टिंग काउच को लेकर खुलासा किया कि जब वो फिल्ममेकर के पास काम के लिए गई थीं तो उसने क्लीवेज दिखाने और थाई (जाँघ) को एक्सपोज करने वाले कपड़े पहनने के लिए कहा।

प्रीती ने कहा कि उन्हें ये सब सुन कर अपने कानों पर यकीन ही नहीं हुआ और मैं वहाँ से चली गईं। बता दें कि आश्रम सीरीज को डायरेक्टर प्रकाश झा ने निर्देशित किया था। ई टाइम्स को दिए इंटरव्यू में प्रीती ने अपने अनुभवों को याद किया।

एक्ट्रेस ने कहा, “ऑडिशन के दौरान कोई मुझे बूढ़ी कहता था तो कोई कहता था कि मैं इस फिल्म के लिए बनी ही नहीं हूँ। हद तो तब हो गई, फिल्म के आखिर में यह कह कर बाहर कर दिया गया कि मैं लीड एक्ट्रेस से अधिक खूबसूरत हूँ।”

फिल्मों में आने को लेकर प्रीती ने कहा, “मैं छोटे से शहर से आती हूँ, जहाँ मेरी उम्र में पैरेंट्स लड़कियों की शादी करा देते हैं। इसलिए मैंने जब उनसे कहा कि मुझे फिल्मों में करियर बनाना है तो वो इसके लिए सहमत नहीं हुए थे। ऐसा इसलिए क्योंकि छोटी जगहों वाले लोग ये सोचते हैं कि आप टीचर या दूसरी गवर्नमेंट जॉब करके सेटल हो जाओ, घर की रोटी खा के निकलो।”

सुरवीन चावला भी हुई थीं कास्टिंग काउच की शिकार

हाल ही में बॉलीवुड अभिनेत्री सुरवीन चावला ने भी कास्टिंग काउच को लेकर अपने अनुभव शेयर किए थे। एक्ट्रेस ने वर्ष 2019 में पिंकविला को दिए इंटरव्यू में बताया था कि “मैं दक्षिण की फिल्मों में काम कर रही थी। इसी दौरान एक निर्देशक ने मुझसे कहा कि मैं तुम्हारे शरीर का इंच-इंच देखना चाहता हूँ। मैंने उसके फोन कॉल्स को रिसीव करना बंद कर दिया था। इसके बाद एक राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित निर्देशक ने मुझे परेशान किया। वो मेरे करीब आना चाहता था।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सबा नकवी ने एटॉमिक रिएक्टर को बता दिया शिवलिंग, विरोध होने पर डिलीट कर माँगी माफ़ी: लोग बोल रहे – FIR करो

सबा नकवी ने मजाक उड़ाते हुए कहा कि भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर में सबसे बड़े शिवलिंग की खोज हुई। व्हाट्सएप्प फॉरवर्ड बता कर किया शेयर।

गुजरात में बुरी तरह फेल हुई AAP की ‘परिवर्तन यात्रा’, पंजाब से बुलाई गाड़ियाँ और लोग: खाली जगह की ओर हाथ हिलाते रहे नेता

AAP नेता और पूर्व पत्रकार इसुदान गढ़वी रैली में हाथ दिखाकर थक चुके थे लेकिन सामने कोई उनकी बात का जवाब नहीं दे रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,677FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe