Thursday, September 29, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजन'Thank God पर लगे बैन वरना सड़कों पर उतरेंगे': अजय देवगन की फिल्म पर...

‘Thank God पर लगे बैन वरना सड़कों पर उतरेंगे’: अजय देवगन की फिल्म पर लगा ‘भगवान का मजाक’ बनाने का आरोप, हिंदू संगठन भड़के; UP में FIR दर्ज

हिंदू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता रमेश शिंदे ने कहा, "बॉलीवुड हमेशा हिंदू धर्म के विरुद्ध काम करते हुए दिखाई देता है। चाहे पीके जैसी फिल्म हो या आने वाली थैंक गॉड जैसी फिल्म हो, हर जगह हिंदू देवताओं को हास्य-विनोद के रूप में दिखाया जाता है। हिंदू देवता, हिंदू धर्म या हिंदू ग्रंथ के बारे में हमेशा ही खिलवाड़ किया जाता है।"

बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन (Bollywood Actor Ajay Devgan) की आगामी फिल्म Thank God में हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने को लेकर देश भर में विरोध रहा है। एक तरह सोशल मीडिया साइट पर फिल्म को बॉयकॉट की मुहिम चल रही है तो दूसरी तरफ फिल्म के खिलाफ मामाले दर्ज कराए जा रहे हैं। अब फिल्म पर प्रतिबंध लागने की माँग उठी है।

अजय देवगन, सिद्धार्थ मल्होत्रा और रकुल प्रीत सिंह अभिनीत फिल्म थैंक गॉड का ट्रेलर 9 सितंबर 2022 को रिलीज किया गया था। इसमें अजय देवगन खुद को हिंदू देवता चित्रगुप्त बता रहे हैं और सामने वाले के कर्मों के हिसाब-किताब की बात कर रहे हैं। ट्रेलर जारी होते ही बवाल हो गया।

जैसा कि थैंक गॉड ट्रेलर में दिखाई देता है, भगवान चित्रगुप्त, जो मृत्यु के बाद सभी के पापों और गुणों की गणना करते हैं, और भगवान यम, जो मृत्यु के बाद किसी की आत्मा लेते हैं, को आधुनिक वेशभूषा में चित्रित किया गया है।

फिल्म के विरोध में सोशल मीडिया पर बॉयकॉट थैंक गॉड का ट्रेंड चलने लगा। वहीं, उत्तर प्रदेश के जौनपुर में एक्टर्स और फिल्ममेकर्स के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। इस मामले में याचिकाकर्ता का बयान 18 नवंबर को दर्ज किया जाएगा।

अब कर्नाटक में हिंदू संगठन हिंदू जनजागृति समिति ने ट्रेलर पर आपत्ति जताते हुए फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की माँग की है। संगठन ने चेतावनी दी है कि हिंदू देवी-देवताओं का मजाक किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

समिति के प्रवक्ता मोहन गौड़ा ने कहा, “ट्रेलर में अभिनेता हिंदू देवताओं का मजाक उड़ा रहे हैं। हम अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर चित्रगुप्त और हिंदू धर्म के भगवान यम का मजाक बर्दाश्त नहीं करेंगे। क्या इस ट्रेलर के रिलीज होने तक सेंसर बोर्ड सो रहा था? ”

समिति ने कहा कि सेंसर बोर्ड को इस फिल्म को सर्टिफिकेट नहीं देना चाहिए। गौड़ा ने कहा कि राज्य और केंद्रीय गृह मंत्रालयों को फिल्म पर प्रतिबंध लगाना चाहिए, क्योंकि इससे धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँची है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर फिल्म के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो संगठन के लोग सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन करेंगे।

हिंदू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता रमेश शिंदे ने कहा, “बॉलीवुड हमेशा हिंदू धर्म के विरुद्ध काम करते हुए दिखाई देता है। चाहे पीके जैसी फिल्म हो या आने वाली थैंक गॉड जैसी फिल्म हो, हर जगह हिंदू देवताओं को हास्य-विनोद के रूप में दिखाया जाता है। हिंदू देवता, हिंदू धर्म या हिंदू ग्रंथ के बारे में हमेशा ही खिलवाड़ किया जाता है।”

बता दें कि थैंक गॉड के ट्रेलर के एक सीन में अजय देवगन खुद को हिंदू देवता चित्रगुप्त बता रहे हैं और सामने वाले के कर्मों के हिसाब-किताब की बात कर रहे हैं। बात यहाँ तक तो ठीक है, लेकिन जिस अंदाज में वो फिल्म में डायलॉग बोल रहे हैं, वह उनका मजाक उड़ाने जैसा है। इतना ही नहीं, जब अजय देवगन खुद को चित्रगुप्त बता रहे होते हैं, उस समय उनके अगल-बगल अधनंगी लड़कियाँ खड़ी रहती हैं।

T-Series के बैनर तले इस फिल्म को इंद्र कुमार, अशोक ठकेरिया, आनंद पंडित, मकरंद अधिकारी, सुनील खेत्रपाल आदि नेे प्रोड्यूस किया है। फिल्म को डायरेक्ट इंद्र कुमार ने किया है। इस फिल्म को आकाश कौशिक और मधुर शर्मा ने लिखा है। वहीं, इसके गाने के बोल मनोज मुंतशिर, रश्मि-विराग, समीर आदि ने लिखा है। फिल्म 25 अक्टूबर को रिलीज होने वाली है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दीपक त्यागी की सिर कटी लाश, हत्या पशुओं की गर्दन काटने वाले छूरे से: ‘दूसरे समुदाय की लड़की से प्रेम’ एंगल को जाँच रही...

मेरठ में दीपक त्यागी की गला काट कर हत्या। मृतक का दूसरे समुदाय की एक लड़की (हेयर ड्रेसर की बेटी) से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

‘हम कानून का पालन करने वाले लोग’: बैन होने के बाद PFI ने किया संगठन भंग करने का ऐलान, अब सोशल मीडिया हैंडलों और...

केंद्र सरकार द्वारा 5 वर्षों के लिए प्रतिबंधित किए जाने के बाद अब PFI का संगठन भंग करने का ऐलान। सोशल मीडिया हैंडलों पर जाँच एजेंसियों की नजर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,030FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe