Monday, June 27, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजन'200 वर्षों के इतिहास को बदनाम कर रही है आलिया की फिल्म': कॉन्ग्रेस MLA...

‘200 वर्षों के इतिहास को बदनाम कर रही है आलिया की फिल्म’: कॉन्ग्रेस MLA ने कहा – शीर्षक बदलो

इस फिल्म का निर्देशन संजय लीला भंसाली ने किया है, जो अक्सर अपनी पिछली फिल्मों की वजह से विवादों में रहे हैं।

कॉन्ग्रेस के एक विधायक ने अभिनेत्री आलिया भट्ट की आगामी फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ का नाम बदलने की माँग की है। महाराष्ट्र के मुम्बादेवी विधानसभा क्षेत्र से तीसरी बार विधायक बने अमीन पटेल ने फिल्म के शीर्षक पर विरोध दर्ज कराया है।

विधायक अमीन पटेल ने कहा कि इस फिल्म का शीर्षक काठियावाड़ शहर को बदनाम करता है, इसीलिए इसे बदला जाना चाहिए। फिल्म में मुंबई के रेड लाइट एरिया की पुरानी कहानी दिखाई गई है। महाराष्ट्र की सत्ता में साझीदार कॉन्ग्रेस के विधायक ने कहा

“अब ये शहर ऐसा नहीं है जैसा 50 के दशक में हुआ करता था। यहाँ महिलाएँ अब कई अलग-अलग क्षेत्रों में बड़ा मुकाम हासिल कर रही हैं। इस फिल्म का टाइटल काठियावाड़ (कामतीपुर) शहर को बदनाम करता है। इसका नाम बदला जाना चाहिए।”

जुलाई 30 को रिलीज होने जा रही इस फिल्म को हुसैन जैदी की पुस्तक ‘माफिया क्वींस ऑफ मुंबई’ के आधार पर बनाया गया है। इस फिल्म का निर्देशन संजय लीला भंसाली ने किया है, जो अक्सर अपनी पिछली फिल्मों की वजह से विवादों में रहे हैं।

कॉन्ग्रेस विधायक ने महाराष्ट्र विधानसभा में बोलते हुए ये मुद्दा उठाया। उस क्षेत्र के लोगों ने भी फिल्म के शीर्षक पर आपत्ति दर्ज कराई है। उन्होंने इस फिल्म पर इलाके को गलत तरीके से पेश करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के 200 वर्षों के इतिहास को ये फिल्म बदनाम कर रही है।

गंगूबाई काठियावाड़ी 60 के दशक में मुंबई के अपराध जगत में एक बहुत बड़ा नाम थी। कहा जाता है कि उनके पति ने उन्हें मात्र 500 रुपए के लिए बेच डाला था। इसके बाद वो वेश्यावृत्ति में लिप्त हो गई थी।

ऐसा कहा जाता है कि गंगूबाई ने मजबूर लड़कियों के लिए भी काफी अच्छे काम किए थे। फिल्म में उनके किरदार में आलिया भट्ट को रखा गया है। पहली बार गैंगस्टर का किरदार निभा रहीं आलिया की संजय लीला भंसाली के साथ भी ये पहली फिल्म है।

खास बात ये है कि जिस महिला पर ये फिल्म बन रही है, उसके ही परिवार वालों ने निर्देशक और अभिनेत्री को मुकदमे में घसीटा है। दिसंबर 2020 में आलिया भट्ट और संजय लीला भंसाली के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था, जिसके बाद कोर्ट ने इन दोनों से जवाब माँगा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘लगातार मिल रही धमकियाँ, हमें और हमारे समर्थकों को जान का खतरा’: शिंदे गुट पहुँचा सुप्रीम कोर्ट, बोले आदित्य ठाकरे – हम शरीफ क्या...

एकनाथ शिंदे व उनके समर्थक नेताओं ने उस नोटिस के विरुद्ध कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है जिसमें 16 बागी विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने की बात है।

YRF की ‘शमशेरा’ में बड़ा सा त्रिपुण्ड तिलक वाला गुंडा, देश का गद्दार: लगातार फ्लॉप के बावजूद नहीं सुधर रहा बॉलीवुड, फिर हिन्दूफ़ोबिया

लगातार फ्लॉप फिल्मों के बावजूद बॉलीवुड नहीं सुधर रहा है। एक बार फिर से त्रिपुण्ड वाले 'हिन्दू विलेन' ('शमशेरा' में संजय दत्त) को लाया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,611FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe