Tuesday, February 7, 2023
Homeविविध विषयमनोरंजनफिल्मी सेट पर कभी कपड़े और जूत सँभालते थे 'दबंग' सलमान ख़ान: जैकी श्रॉफ...

फिल्मी सेट पर कभी कपड़े और जूत सँभालते थे ‘दबंग’ सलमान ख़ान: जैकी श्रॉफ ने किया बड़ा खुलासा

सलमान खान हमेशा से न्यू कमर्स को लॅान्च करते आए हैं। कहा जाता है कि वह जिस पर हाथ रख देते हैं उसकी किस्मत चमक जाती है। लेकिन उन्हें किसने बॉलीवुड में काम दिलवाया, ये शायद आप नहीं जानते होंगे।

बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान इन दिनों अपनी फिल्म ‘राधे योर मोस्ट वांटेड भाई’ को लेकर सुर्खियों में हैं। भले ही उनकी फिल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म पर कुछ खास कमाल न कर पाई हो, लेकिन रिलीज के चार दिन बाद भी ‘राधे’ की चर्चा जोरों पर है।

सलमान खान हमेशा से न्यू कमर्स को लॅान्च करते आए हैं। कहा जाता है कि वह जिस पर हाथ रख देते हैं उसकी किस्मत चमक जाती है। लेकिन उन्हें किसने बॉलीवुड में काम दिलवाया, ये शायद आप नहीं जानते होंगे।

दरअसल, ‘राधे’ फिल्म में अहम भूमिका निभाने वाले अभिनेता जैकी श्रॉफ ने दबंग खान को लेकर एक मजेदार खुलासा किया है। हाल ही में बॉम्बे टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में जैकी ने कहा कि 1988 में जब मैं ‘फलक’ फिल्म की शूटिंग कर रहा था, तब सलमान खान मेरे कपड़े और जूते सँभालते थे। इंडस्ट्री में उन्हें ब्रेक दिलाने में मेरी अहम भूमिका रही है।

जैकी श्रॉफ आगे कहते हैं कि वह सलमान को तब से जानते हैं, जब वह मॉडल हुआ करते थे और फिर असिस्टेंट डायरेक्टर बने। वो मुझे बड़ा भाई मानते थे और मेरे छोटे भाई की तरह हैं। जब वो असिस्टेंट डायरेक्टर थे तब मैं उनके फोटो उन प्रोड्यूसरों को दिखाया करता था, जिनके साथ काम कर रहा होता था।

उन्होंने कहा कि आखिरकार केसी बोकाड़िया के ब्रदर इन लॉ ने उन्हें बॉलीवुड में ब्रेक दे ही दिया। 1989 में फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ ने उन्हें स्टारडम दिया, लेकिन मुझे लगता है कि मेरी वजह से उन्हें इंडस्ट्री में ब्रेक मिला। अभिनेता ने कहा कि सल्लू के साथ उनकी दोस्ती उतनी नहीं है, मगर जब भी कुछ बड़ा आता है तो वो पहले मेरे बारे में सोचते हैं।

बता दें कि ‘राधे’ में जैकी श्रॉफ ने सलमान खान के सीनियर पुलिस अफसर की भूमिका निभाई है। इस किरदार में वह कहीं-कहीं कॉमेडी भी करते हुए नजर आ रहे हैं। फिल्म में इन दोनों के अलावा दिशा पटानी ने भी काम किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2300 पहुँचा मृतकों का आँकड़ा: तुर्की-सीरिया के अलावा थर्राया था इजरायल और लेबनान भी, तेज़ी से बढ़ रही मृतकों की संख्या

अब भी मलबे में दबे लोगों को निकाला जा रहा है। कई लोग गंभीर रूप से घायल हैं। मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। तुर्की में लगातार तीन झटके आए।

हर हाजी को ₹50000 की बचत, पहली बार आवेदन शुल्क भी FREE: मोदी सरकार लेकर आई नई हज पॉलिसी, सूटकेस-चादर के लिए सीमा शुल्क...

केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा, "आवेदन पत्र को पहली बार मुफ्त कर दिया गया है। हज पैकेज की लागत 50 हजार रुपए कम कर दी गई है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
244,191FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe