Tuesday, April 16, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनकॉमेडियन कुणाल कामरा को कंगना ने जमकर लताड़ा, स्पष्ट शब्दों में कहा- मूर्ख

कॉमेडियन कुणाल कामरा को कंगना ने जमकर लताड़ा, स्पष्ट शब्दों में कहा- मूर्ख

"ये मूर्ख लोग मेरे संघर्ष, बौद्धिकता, आध्यात्मिक गहराई, हिम्मत, सफलता और उपलब्धियों का श्रेय किसी ताकतवार आदमी को देने के लिए बहुत बेताब हैं। मैं खुद अपने दम पर सफल हुई हूँ और अपनी शर्तों पर जिंदगी जी रही हूँ। यह इनके अहंकार को चोट पहुँचाता है। इसे स्वीकार करो।"

बॉलीवुड-ड्रग नेक्सस को उजागर करने के बाद बॉलीवुड क्वीन कंगना महाराष्ट्र सरकार और शिवसेना के आँखों में खटकने लगी है। वहीं अब कंगना ने कॉमेडियन कुणाल कामरा के अपमानजनक ट्वीट पर जमकर लताड़ते हुए उन्हें स्पष्ट शब्दों में मूर्ख घोषित कर दिया है। बता दें कुणाल कामरा खबरों में बने रहने के लिए अक्सर अजीबोगरीब पोस्ट और हरकतें करते ही रहते हैं।

दरअसल, कंगना ने हाल ही में एक ट्वीट किया था कि कैसे नशे की लत, ग्लैमर की दुनिया को पहचानने और अप्रभावित रहने के लिए एक मजबूत आध्यात्मिक पक्ष की ज़रूरत होती है। वहीं इस पोस्ट पर खुद को अपने ट्विटर बायो में पाखंडी बताने वाले कुणाल कामरा ने कंगना पर तंज कसते हुए उनकी तुलना भारतीय आध्यात्मिक गुरु सदगुरु से कर दी।

जिसके बाद कंगना ने कामरा के वाहियात कमेंट पर उन्हें मूर्ख कहते हुए लताड़ा और कहा, “ये मूर्ख लोग मेरे संघर्ष, बौद्धिकता, आध्यात्मिक गहराई, हिम्मत, सफलता और उपलब्धियों का श्रेय किसी ताकतवार आदमी को देने के लिए बहुत बेताब हैं। मैं खुद अपने दम पर सफल हुई हूँ और अपनी शर्तों पर जिंदगी जी रही हूँ। यह इनके अहंकार को चोट पहुँचाता है। इसे स्वीकार करो।”

वहीं कंगना के बेबाक जवाब से बेज्जती महसूस करते हुए कामरा ने कंगना को दी गई Y सिक्योरिटी का मजाक उड़ाया। कुणाल कामरा ने ट्वीट कर लिखा कि मैं सोच रहा था कि तुम्हारी जैसी शक्तिशाली महिला को Y सुरक्षा की क्यों जरूरत पड़ी।

जिस पर मुंहतोड़ जवाब देते हुए कंगना ने लिखा कि एक लोकतान्त्रिक देश में यह संविधान का कर्तव्य है कि वह एक क्रांतिकारी को सुरक्षा दें। इस केस में आप लोकतंत्र के दो पहलू देखते हैं एक बचाव करने वाला और एक बचने वाला। उन्होंने कामरा का मजाक उड़ाते हुए कहा कि तुम दोनों में से कुछ भी नहीं बन पाओगे। साथ ही कंगना ने सलाह दी कि एक ऐसा इंसान बनों जो देश के लिए कुछ कर सके।

कामरा इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने अपने मानसिक दिवालिएपन का खुलासा करते हुए रानौत की फिल्म मणिकर्णिका के शूट से एक वीडियो साझा किया जिसमें वह एक प्रोप पर घुड़सवारी के दृश्य की शूटिंग कर रही है।

अब ये तो हर किसी को पता है कि एक्शन फिल्मों में स्टंट करना आम बात है और इसके लिए स्टंटमैन या बॉडी डबल्स एक्टर्स सीन शूट करने के लिए हायर किए जाते हैं। विशेष प्रभाव दिखाने के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग भी बहुत आम है। इसके अलावा पशु अधिकार कार्यकर्ताओं के बढ़ते प्रभाव की वजह से हिंसक एक्शन दृश्यों को शूट करने के लिए वास्तविक घोड़ों या अन्य जानवरों का उपयोग करना लगभग असंभव हो गया है।

इसलिए कंप्यूटर जनरेटेड इमेजरी का उपयोग आमतौर पर ऐसी स्थितियों में किया जाता है और अभिनेताओं को वास्तविक जानवरों के बजाय प्रॉम्प्स के साथ अपने दृश्यों को शूट करने की आवश्यकता होती है। उनका यह ट्वीट कंगना द्वारा उनपर की गई टिप्पणी के एकदम सटीक बैठता है। इससे यह तो पता चल गया कि कामरा के ट्वीट्स भी उन्हीं की तरह मज़ाकिया है, जिस पर बिल्कुल भी हँसी नहीं आती है।

यह पहली बार नहीं है कि कामरा को सार्वजनिक रूप से अपमान का सामना करना पड़ा हो। इससे पहले लेखक चेतन भगत ने भी उनकी बेज़्ज़ती की थी। वहीं कामरा को कई एयरलाइनों द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया था, क्योंकि उन्होंने रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी के साथ अजीबोगरीब हरकते करते हुए एक वीडियो शूट किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी की गारंटी’ भी होगी पूरी: 2014 और 2019 में किए इन 10 बड़े वादों को मोदी सरकार ने किया पूरा, पढ़ें- क्यों जनता...

राम मंदिर के निर्माण और अनुच्छेद 370 को निरस्त करने से लेकर नागरिकता संशोधन अधिनियम को अधिसूचित करने तक, भाजपा सरकार को विपक्ष के लगातार कीचड़ उछालने के कारण पथरीली राह पर चलना पड़ा।

‘वित्त मंत्री रहते RBI पर दबाव बनाते थे P चिदंबरम, सरकार के लिए माहौल बनाने को कहते थे’: बैंक के पूर्व गवर्नर ने खोली...

आरबीआई के पूर्व गवर्नर पी सुब्बाराव का दावा है कि यूपीए सरकारों में वित्त मंत्री रहे प्रणब मुखर्जी और पी चिदंबरम रिजर्व बैंक पर दबाव डालते थे कि वो सरकार के पक्ष में माहौल बनाने वाले आँकड़ें जारी करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe