Friday, July 1, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजननसीरुद्दीन शाह के 'हाफ एजुकेटेड' बयान पर कंगना ने कहा- इतने 'महान' कलाकार की...

नसीरुद्दीन शाह के ‘हाफ एजुकेटेड’ बयान पर कंगना ने कहा- इतने ‘महान’ कलाकार की गालियाँ भी भगवान का प्रसाद

"धन्यवाद नसीर जी, आपने मेरे सारे अवॉर्ड और उपलब्ध‍ियों को तोल दिया, जो कि नेपोटिज्म के स्केल पर मेरे किसी भी समकालीन प्रतिद्वंदियों के पास नहीं है। मैं इसकी आद‍ि हो चुकी हूँ पर अगर मैं प्रकाश पादुकोण या अन‍िल कपूर की बेटी होती तो भी क्या आप मुझे यही कहते?"

सुशांत सिंह राजपूत के मामले में बॉलीवुड नेक्सस और नेपोटिज्म की बहस को मुख्यधारा में लेकर आने वाली कंगना रनौत के ख़िलाफ़ नसीरुद्दीन ने टिप्पणी करते हुए उन्हें आधा पढ़ा लिखा बताया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के मन में इंडस्ट्री के ख़िलाफ़ गंद भरा हुआ है वो अब मीडिया के सामने जाकर उलटी कर रहे हैं। उन्होंने इंडिया टुडे से बातचीत में यह भी दावा किया कि मीडिया में मूवी माफिया जैसा कुछ नहीं है। ये केवल कुछ गिने-चुने लोगों के दिमाग की काल्पनिक कहानी है।

नसीरुद्दीन शाह की मानें तो, “सुशांत सिंह राजपूत केस में कुछ मीडिया हाउस के द्वारा की जा रही असंवेदनशील मीडिया कवरेज शामिल है और वो लोग शामिल हैं जिन्हें लगता है कि वो सुशांत को न्याय दिलाने की जंग लड़ रहे हैं। ये पागलपन है। ये पूरी तरह पागलपन है। मैंने इस फॉलो नहीं किया है।”

उन्होंने कंगना रनौत पर निशाना साधते हुए कहा, “किसी को भी हाफ एजुकेटेड सितारों के बयानों में दिलचस्पी नहीं है जो ये हर चीज खुद पर ले लेती हैं कि सुशांत को न्याय दिलाना है। अगर हमें लगता है कि न्याय मिलना चाहिए तो हमें न्याय की प्रक्रिया में भरोसा रखने की जरूरत है। और यदि हमारा इससे कोई लेना देना नहीं है तो मुझे लगता है कि हमें अपना काम करना चाहिए।”

इसी बयान के सामने आने के बाद कंगना रनौत ने नसीरुद्दीन शाह पर तंज कसा। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि इतने महान कलाकार की गालियाँ भी प्रसाद की तरह है। वे लिखती हैं- “नसीर जी एक महान कलाकार हैं, इतने महान कलाकार की तो गालियाँ भी भगवान के प्रसाद की तरह हैं, इससे अच्छा तो मैं आपके साथ सिनेमा और क्राफ्ट पर हुई शानदार कन्वर्सेशन को देखूँगी जब आपने मुझे कहा था कि आप मेरी कितनी सराहना करते हैं।”

अपने एक अन्य में ट्वीट में उन्होंने नसीरुद्दीन से पूछा, “धन्यवाद नसीर जी, आपने मेरे सारे अवॉर्ड और उपलब्ध‍ियों को तोल दिया, जो कि नेपोटिज्म के स्केल पर मेरे किसी भी समकालीन प्रतिद्वंदियों के पास नहीं है। मैं इसकी आद‍ि हो चुकी हूँ पर अगर मैं प्रकाश पादुकोण या अन‍िल कपूर की बेटी होती तो भी क्या आप मुझे यही कहते?”

गौरतलब है कि हालिया इंटरव्यू में नसीरुद्दीन शाह से जब पूछा गया था कि क्या उन्हें लगता है कि नेपोटिज्म की बहस से कुछ बदलाव आएँगे? तो उन्होंने कहा, इसकी सिर्फ उम्मीद की जा सकती है, लेकिन इस बहस का स्तर बहुत बचकाना हो रहा है। हम अपने गंदे लंगोट सबके सामने क्यों धो रहे हैं। उन्होंने कंगना रनौत को लेकर भी अपनी बात रखी और कहा कि वह कुछ फिल्ममेकर्स और स्टारकिड्स को निशाना बना रही हैं, यहाँ तक की तापसी पन्नू और स्वरा भास्कर जैसे एक्टर्स को वह बी ग्रेड बता रही हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,242FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe