Monday, October 25, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनमंदिर में किसिंग सीन: MP में गृहमंत्री ने Netflix के खिलाफ दिया जाँच का...

मंदिर में किसिंग सीन: MP में गृहमंत्री ने Netflix के खिलाफ दिया जाँच का आदेश, निर्माता-निर्देशक पर हो सकती है कार्रवाई

गृहमंत्री ने MP पुलिस को निर्देश दिया है कि इस सीरीज के खिलाफ जाँच की जाए कि ये धार्मिक भावनाओं को आहत करता है या नहीं, ताकि निर्माता और निर्देशक के खिलाफ क़ानूनी कार्रवाई की जा सके।

मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने Netflix की उस सीरीज के खिलाफ जाँच का आदेश दिया है, जिसमें एक मुस्लिम युवक एक हिन्दू युवती को मंदिर में किस कर रहा है और बैकग्राउंड में भजन बज रहा है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने रविवार (नवंबर 22, 2020) को जानकारी दी कि मध्य प्रदेश पुलिस को इसकी जाँच करने को कहा है कि क्या Netflix का ‘द सूटेबल बॉय’ धार्मिक भावनाओं को आहत करता है।

मिश्रा ने इस ओर इशारा किया कि इस सीरीज के निर्माताओं के खिलाफ क़ानूनी कार्रवाई भी जा सकती है। भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) ने बताया है कि राज्य के महेश्वर शहर में स्थित एक मंदिर में इस दृश्य को फिल्माया गया था। संगठन ने रेवा पुलिस थाने में इसे खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई है। नरोत्तम मिश्रा ने स्पष्ट कहा कि ये आपत्तिजनक है और उनकी सोच है कि इससे धार्मिक भावनाएँ आहत होती हैं।

मिश्रा ने बताया कि उन्होंने पुलिस को निर्देश दिया है कि इस सीरीज के खिलाफ जाँच की जाए कि ये धार्मिक भावनाओं को आहत करता है या नहीं, ताकि निर्माता और निर्देशक के खिलाफ क़ानूनी कार्रवाई की जा सके। BJYM के महासचिव गौरव तिवारी ने बताया कि उन्होंने रेवा के एसपी राकेश कुमार सिंह को एक मेमोरेंडम देकर माँग की है कि निर्माता-निर्देशक को माफ़ी माँगने को कहा जाए और ये आपत्तिजनक दृश्य तुरंत हटाया जाए।

रेवा के एसपी ने बताया कि एक बार Netflix से इस सीरीज का वो फुटेज प्राप्त हो जाए, इसके बाद इस मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जाँच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही तिवारी का मेमोरेंडम मिलने की भी पुष्टि की। इस सीरीज का निर्देशन मीरा नायर ने किया है, जो ‘सलाम बॉम्बे’, ‘मानसून वेडिंग’ और ‘दी नेमसेक’ जैसी फिल्मों के लिए जानी जाती हैं। इन फिल्मों को समीक्षकों ने सराहा था।

ताज़ा वेब सीरीज की कहानी के केंद्र में है 1951 की एक लड़की, जिसके लिए उसकी माँ एक योग्य लड़के की तलाश में है। इस तलाश के दौरान ही सीरीज में भारत विभाजन से उपजी त्रासदी से लेकर धर्म का झगड़ा, मंदिर-मस्जिद, उस वक्त की राजनीति और बड़ी-बड़ी उलझनें लिए बहुत से शेड्स दिखते हैं। जहाँ ये दृश्य फिल्माया गया, उस महेश्वर घाट को रानी अहिल्याबाई होल्कर ने शिवभक्तों के लिए समर्पित किया था। पाषाण युग के हजारों शिवलिंग उसकी पहचान हैं।

नेटफ्लिक्स की प्रवृत्ति हमेशा से हिंदू विरोधी नैरेटिव को बढ़ावा देने की रही है। इसने ‘Ghoul’, ‘Sacred Games’ और ‘लैला’ के रूप में ऐसी कई वेब सीरिज बनाई है, जो हिंदू विरोधी भावनाओं को जन्म दे रही है और साथ ही इससे विश्व में हिंदू धर्म की नकारात्मक छवि पेश की जा रही है। लैला वेब सीरीज में सनातन धर्म के अनुयायियों को सबसे हिंसक और दमनकारी मानसिकता वाले लोगों के तौर पर दिखाया गया है, जो सिर्फ लोगों को बाँटकर उन पर राज करना चाहते हैं। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल में नॉन-हलाल रेस्तराँ खोलने वाली महिला को बेरहमी से पीटा, दूसरी ब्रांच खोलने के खिलाफ इस्लामवादी दे रहे थे धमकी

ट्विटर यूजर के अनुसार, बदमाशों के खिलाफ आत्मरक्षा में रेस्तराँ कर्मचारियों द्वारा जवाबी कार्रवाई के बाद केरल पुलिस तुशारा की तलाश कर रही है।

असम: CM सरमा ने किनारे किया दीवाली पर पटाखों पर प्रतिबंध का आदेश, कहा – जनभावनाओं के हिसाब से होगा फैसला

असम में दीवाली के मौके पर पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध का ऐलान किया गया था। अब मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा है कि ये आदेश बदलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,783FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe