Monday, April 15, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनपब्लिक से पहले कॉन्ग्रेस देखना चाहती है 'इमरजेंसी': कंगना को बताया BJP का एजेंट,...

पब्लिक से पहले कॉन्ग्रेस देखना चाहती है ‘इमरजेंसी’: कंगना को बताया BJP का एजेंट, इंदिरा गाँधी बनने का किया विरोध

हाल ही में कंगना ने फिल्म ‘इमरजेंसी’ (Emergency) का फर्स्ट लुक और टीजर जारी किया। फिल्म ‘इमरजेंसी’ के फर्स्ट लुक में कंगना रनौत हूबहू इंदिरा गाँधी जैसी दिख रही हैं।

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत की अपकमिंग फिल्म इमरजेंसी (Emergency) पर कॉन्ग्रेस ने आपत्ति जताई है। कॉन्ग्रेस ने फिल्म के निर्माता-निर्देशक से इमरजेंसी के रिलीज से पहले उन्हें दिखाने की माँग की है। कॉन्ग्रेस का मानना है कि इस फिल्म में पूर्व प्रधानमंत्री की छवि खराब करने की कोशिश की गई है। मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस मीडिया विभाग की उपाध्यक्ष संगीता शर्मा ने तो कंगना रनौत को बीजेपी का एजेंट तक कह डाला। इसको लेकर भाजपा ने कथित तौर पर कहा कि कॉन्ग्रेस ने फिल्म पर इसलिए आपत्ति जताई है, क्योंकि वे घबराए हुए हैं।

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) इमरजेंसी फिल्म में इंदिरा गाँधी की भूमिका निभाते नजर आएँगी। यह फिल्म 1975 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी (Indira Gandhi) द्वारा देश में आपातकाल घोषित करने पर आधारित है। भारत में 25 जून 1975 से 21 मार्च 1977 तक यानी 21 महीने तक आपातकाल था।

हाल ही में कंगना ने फिल्म ‘इमरजेंसी’ (Emergency) का फर्स्ट लुक और टीजर जारी किया। फिल्म ‘इमरजेंसी’ (Emergency) के फर्स्ट लुक में कंगना रनौत हूबहू इंदिरा गाँधी जैसी दिख रही हैं। कंगना फिल्म में एक्टिंग के साथ इसको प्रोड्यूस भी कर रही हैं। इतना ही नहीं, फिल्म की डायरेक्टर भी वही हैं। यह फिल्म उनके प्रोडक्शन हाउस ‘मणिकर्णिका फिल्म्स’ के बैनर तले ही बन रही है। खास बात यह है कि फिल्म ‘इमरजेंसी’ को खुद कंगना ने लिखा भी है। कुल मिलकर इसे कंगना की फिल्म कहें तो गलत नहीं होगा।

गौरतलब है कि 25 जून, 1975 की रात को देशवासियों पर अचानक और अकारण ही आपातकाल थोप दिया गया था। निश्चय ही, इस दुर्घटना को भारतीय लोकतंत्र का काला अध्याय कहा जा सकता है। आपातकाल के दौरान पूरे देश को एक बहुत बड़े जेलखाने में तब्दील कर दिया गया था। 25 जून, 1975 की सुबह ऑल इंडिया रेडियो पर तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की आवाज में जो संदेश प्रसारित हुआ, उसे पूरे देश ने सुना। इस संदेश में इंदिरा गाँधी ने कहा ​था “भाइयो और बहनो! राष्ट्रपति जी ने आपातकाल की घोषणा की है। लेकिन इससे सामान्य लोगों को डरने की जरूरत नहीं है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल ने कहा- चुनाव प्रचार से रोकने के लिए किया गिरफ्तार, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- अब 29 अप्रैल को सुनेंगे आपकी: ED से माँगा...

सुप्रीम कोर्ट ने 15 अप्रैल को दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं AAP के नेता अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी पर प्रवर्तन निदेशालय को नोटिस जारी किया।

वादे किए 300+, कैंडिडेट 300 भी नहीं मिले: इतिहास की सबसे कम सीटों पर चुनाव लड़ रही कॉन्ग्रेस, क्या पार्टी के सफाए के बाद...

राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा करीब 100 लोकसभा सीटों से होकर गुजरी, इनमें से आधी से अधिक सीटों पर कॉन्ग्रेस का उम्मीदवार ही नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe