Sunday, October 17, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजन#BanTandavNow: अमेज़ॉन प्राइम के हिंदूफोबिक प्रोपेगेंडा से भरे वेब-सीरीज़ तांडव के बहिष्कार की लोगों...

#BanTandavNow: अमेज़ॉन प्राइम के हिंदूफोबिक प्रोपेगेंडा से भरे वेब-सीरीज़ तांडव के बहिष्कार की लोगों ने की अपील

तांडव वेब सीरीज को IMDB पर नेटिज़न्स के आक्रोश का सामना करना पड़ा, जहाँ लोगों ने शो की तीखी समीक्षा की। तांडव की हिंदूफ़ोबिक सामग्री से चिंतित, सोशल मीडिया यूजर्स ने आईएमडीबी पर वेब सीरीज को न्यूनतम रेटिंग दी और दूसरों से भी ऐसा ही करने का आग्रह किया।

अमेज़न प्राइम ने हाल ही में सैफ अली खान स्टारर राजनीतिक ड्रामा सीरीज़ ‘तांडव’ को अपने प्लेटफॉर्म पर रिलीज किया। जिसे निर्देशित किया है अली अब्बास ज़फ़र ने। अली अब्बास जफर की इस सीरीज में हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किया गया है।

वेब सीरीज़ को कई समीक्षाओं के साथ ‘एंटी-हिंदू सीरीज़’ के रूप में दिखाने के साथ, कठोर समीक्षाओं का भी सामना करना पड़ा है। नेटिज़न्स ने कई उदाहरणों से यह साबित किया है, जहाँ वेब सीरीज ने हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाते हुए या हिंदू समाज के विभिन्न संप्रदायों के बीच जानबूझकर विभाजन के बीज बोने का प्रयास करके हिंदुओं की भावनाओं को आहत किया है।

ट्विटर यूजर के एक सेक्शन ने तांडव में विवादित कंटेंट को लेकर हंगामा करना शुरू कर दिया। जिसके बाद ट्विटर पर #BanTandavNow और #BoycottTandav ट्रेंड करने लगा। सोशल मीडिया यूजर्स ने उस सीन को लेकर खास हंगामा किया जहाँ हिंदू देवता को अपमानजनक तरीके से दिखाया गया है।

नेटिजन्स ने हिंदूफोबिक कंटेंट के लिए तांडव की आलोचना की

पॉलिटिकल ड्रामा के पहले एपिसोड में जीशान अयूब भगवान शिव बन कुछ एक्टिंग कर रहे हैं। उस वीडियो में जीशान कैंपस के छात्रों की ‘आजादी’ की बात कर रहे हैं। वे कह रहे हैं कि इन छात्रों को देश में रहकर आजादी चाहिए, देश से आजादी नहीं चाहिए।

इंटरनेट पर वेब सीरीज की एक और छोटी सी क्लिप घूम रही है, जिसमें डिनो मोरिया, अभिनेत्री संध्या मृदुल को एक छोटी जाति के पुरुष के साथ डेट करने के लिए फटकारता है। वीडियो में, मृदुल, जो डिनो मोरिया से विवाहित हैं, अपने पति से अपने तलाक के कागजात पर हस्ताक्षर करने के लिए कहती है ताकि वह अभिनेता अनूप सोनी द्वारा निभाए गए चरित्र के साथ शादी के बंधन में बँध सके। अनूप सोनी को एक नीची जाति के व्यक्ति के रूप में चित्रित किया गया है, जबकि मृदुल और मोरिया दोनों उच्च जाति से हैं।

जब संध्या मृदुल अपने पति से तलाक के कागजात पर हस्ताक्षर करने के लिए कहती है, तो डीनो कहता है, “सुनो, जब एक छोटी जाति का आदमी ऊँची जाति की महिला को डेट करता है, तो वह उस एक महिला के माध्यम से सदियों के उत्पीड़न का बदला ले रहा होता है।”

इसके अलावा, वेब सीरीज में कई अन्य उदाहरण हैं जब अनूप सोनी द्वारा निभाए गए चरित्र को अन्य लोगों द्वारा अपमानित किया गया है, जो सामान्य रूप से उच्च जातियों से संबंधित है।

एक अन्य उदाहरण में, वेब सीरीज जोर देकर कहती है कि पुलिस के लिए मुसलमानों को मारना आसान है और कानून प्रवर्तन अधिकारियों की अखंडता पर सवाल उठाते हुए कहा जाता है कि कई मुस्लिम युवाओं को उनकी हत्याओं को जस्टिफाई करने के लिए आतंकवादी के रूप में ब्रांडेड किया जाता है।

दृश्य में, जब अभिनेता जीशान अयूब जेल में बंद एक व्यक्ति से दो गुमशुदा व्यक्तियों के बारे में पूछता है, तो वह जवाब देता है, “उन दो लोगों की हत्या कर दी गई। उनमें से एक सलीम था और दूसरा अनवर था। हमारे जैसे लोगों को मारना बहुत आसान है… एक दिन, ये लोग मुझे एक आतंकी संगठन से जोड़ देंगे और मेरी हत्या कर देंगे।”

सोशल मीडिया यूजर्स ने तांडव के बहिष्कार और  IMDB पर वेब सीरीज को डाउन-रेट करने की माँग की

हालाँकि, भारतीय हिंदू पुलिस की सबटल ब्रांडिंग, मुस्लिम विरोधी के रूप में सामने आना और नीची जातियों के खिलाफ इस्तेमाल किए जाने वाले नस्लभेदी टिप्पणियाँ सोशल मीडिया यूजर्स को रास नहीं आया और उन्होंने सोशल मीडिया पर इसका विरोध किया और वेब सीरीज को प्रतिबंधित करने की माँग की। उनमें से कई ने केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को भी टैग किया और उनसे अनुरोध किया कि वे अमेज़न प्राइम प्लेटफ़ॉर्म से हिंदूफोबिक वेब सीरीज को प्रतिबंधित करें।

वेब सीरीज में दिखाए गए दलित और हिंदुओं के खिलाफ दिखाए जाने को लेकर बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने भी ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए अपने फॉलोवर्स से अनुरोध किया कि वो केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को इस संबंध में ईमेल करें।

कुछ ट्विटर यूजर्स ने हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए वेब सीरीज के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का भी आह्वान किया। बीजेपी प्रवक्ता गौरव गोयल ने चेतावनी दी कि अगर लोगों की भावनाओं को ठेस पहुँचती है तो वेब सीरीज के अभिनेताओं और निर्माताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज की जाएगी।

इसके बाद, तांडव वेब सीरीज को IMDB पर नेटिज़न्स के आक्रोश का सामना करना पड़ा, जहाँ लोगों ने शो की तीखी समीक्षा की। तांडव की हिंदूफ़ोबिक सामग्री से चिंतित, सोशल मीडिया यूजर्स ने आईएमडीबी पर वेब सीरीज को न्यूनतम रेटिंग दी और दूसरों से भी ऐसा ही करने का आग्रह किया।

तांडव वेब सीरीज का ओवर ऑल IMDb स्कोर 3.9 है, जिसमें केवल 6,674 यूजर्स ने अपनी रेटिंग दर्ज की है। शो की समीक्षा करने वालों के एक बड़े वर्ग ने इसे 10 में से 1 स्टार की न्यूनतम रेटिंग दी है।

OTT प्लेटफार्म हिंदू विरोधी सामग्री को प्रसारित करता है

ऐसा प्रतीत होता है कि हिंदू देवी-देवताओं के बारे में घृणित सामग्री प्रसारित करने के लिए भारत में ओवर-द-टॉप (ओटीटी) मीडिया सेवा प्रदाताओं के बीच एक तरह की प्रतिस्पर्धा है कि कौन कितना अधिक एंटी हिंदू कंटेंट क्रिएट कर सकता है। पिछले साल, नेटफ्लिक्स की नई तेलुगु फिल्म ‘कृष्णा और उसकी लीला’ के बाद एक विवाद खड़ा हो गया था, जिसमें कृष्ण नाम का एक पुरुष चरित्र दिखाया गया था, जिसमें कई महिलाओं के साथ यौन संबंध थे, जिनमें से एक राधा नाम की लड़की भी थी।

अमेजन प्राइम, Zee5 और अन्य पर भी हिंदूफोबिक सामग्री के लिए एक मंच प्रदान करने का आरोप लगाया गया है। अनुष्का शर्मा ने पिछले साल अमेजन प्राइम पर रिलीज हुई वेब सीरीज ‘पाताललोक’ का निर्माण किया था, जिसे भी हिंदुओं और हिंदू धर्म को नाराज करने वाली अपनी सामग्री के लिए आक्रोश का सामना करना पड़ा था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Jinit Jain
Engineer. Writer. Learner.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe