Monday, November 29, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनफरहान की 'तूफ़ान' में लव जिहाद: अज़ीज़ अली और डॉक्टर पूजा शाह के किसिंग...

फरहान की ‘तूफ़ान’ में लव जिहाद: अज़ीज़ अली और डॉक्टर पूजा शाह के किसिंग सीन पर बहिष्कार की अपील

अज़ीज़ अली अभिनेत्री पूजा शाह को आदाब करता नज़र आता है। अभिनेत्री, जो कि हिन्दू हैं, वो भी उसे बदले में आदाब करती है। इस फिल्म को ‘अमेज़न प्राइम’ पर रिलीज किया जा रहा है। वही ‘अमेज़न प्राइम’, जहाँ हाल ही में हिन्दू विरोधी भावना को ‘तांडव’ वेब सीरीज के जरिए आगे बढ़ाया गया था।

फरहान अख्तर की फिल्म ‘तूफ़ान (Toofan)’ ऑनलाइन रिलीज के लिए तैयार है, लेकिन इससे पहले इसे लोगों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। आरोप है कि इस फिल्म के माध्यम से ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा दिया जा रहा है। ये फिल्म वीडियो पोर्टल ‘अमेज़न प्राइम’ पर 16 जुलाई, 2021 को रिलीज होने वाली है। हालाँकि, इसका ट्रेलर यूट्यूब पर आ चुका है, जिससे फिल्म की कहानी साफ़ हो गई है।

इस फिल्म के विरोध का आलम ये है कि ट्विटर पर कई घंटों तक शीर्ष ट्रेंड्स में ‘Boycott Toofan (तूफ़ान फिल्म का बहिष्कार)’ शामिल रहा। ‘तूफ़ान’ की समीक्षा के कारण ‘सब लोकतंत्र’ नामक यूट्यूब चैनल को भी YouTube ने प्रतिबंधित कर दिया है, जिससे लोग आक्रोशित हैं। ‘तूफ़ान’ का विरोध करते समय लोगों ने ये भी याद किया कि किस तरह सुशांत सिंह राजपूत को बॉलीवुड में किनारे किया गया था।

एक व्यक्ति ने लिखा कि फरहान अख्तर वही व्यक्ति हैं, जिन्होंने रिया चक्रवर्ती के लिए ‘न्याय’ माँगते हुए कई बार बयान दिए थे। साथ ही उन पर अर्णब गोस्वामी को भी निशाना बनाने का आरोप लगा। लोगों ने उन्हें ‘राष्ट्र विरोधी’ भी करार दिया। साथ ही लोगों ने यूट्यूब पर ‘तूफ़ान’ के ट्रेलर को डिस्लाइक भी किया। अब तक इस ट्रेलर को 48,000 से भी अधिक लोग डिस्लाइक कर चुके हैं। फरहान अख्तर ने कहा था कि अगर मिल्खा सिंह उनकी इस फिल्म को देखते तो गर्व की अनुभूति करते।

एक ट्विटर यूजर ने ‘तूफ़ान’ फिल्म में फरहान अख्तर और अभिनेत्री मृणाल ठाकुर का एक किसिंग सीन भी शेयर किया। तस्वीर शेयर करते हुए उसने फिल्म के किरदारों के नाम बताते हुए लिखा कि अज़ीज़ अली डॉक्टर पूजा शाह को किस कर रहा है। साथ ही पूछा कि ये ‘लव जिहाद’ नहीं तो क्या है? ट्विटर यूजर्स ने इस फिल्म को अपनी संस्कृति और धर्म के खिलाफ बताते हुए इसके बहिष्कार की बात की।

लोगों ने याद दिलाया कि इन्हीं फरहान अख्तर ने जम्मू कश्मीर का छेड़छाड़ किया हुआ नक्शा शेयर किया था, जिसे अक्सर कश्मीरी अलगाववादी और भारत विरोधी तत्व आगे बढ़ाते हैं। साथ ही पूछा कि हम भारतीय उनकी इस हरकत के बाद इस फिल्म को क्यों रिलीज होने दें? एक अन्य यूजर ने लिखा कि हिन्दू बहुल देश में इस तरह से हिन्दू धर्म और देवी-देवताओं का मजाक बनाया जा रहा है।

क्यों हो रही फरहान अख्तर की ‘तूफ़ान’ के बॉयकॉट की अपील: ‘लव जिहाद’ के आरोप

फरहान अख्तर कहानीकार से गीतकार और गीतकार से ट्विटर ट्रोल बने जावेद अख्तर के बेटे हैं। दोनों भाजपा और नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने के लिए जाने जाते हैं। फरहान अख्तर को CAA विरोधी प्रदर्शनों में भी देखा गया था, जबकि उन्हें इस कानून का एबीसी तक पता नहीं था। उनका कहना था कि इतने लोग प्रदर्शन कर रहे हैं तो वो भी कर रहे हैं। फिल्म में अभिनेता का नाम होता है ‘अज़ीज़ अली’ और उसके साथ जो अभिनेत्री होती है, उसका नाम होता है ‘पूजा शाह’।

इसके अलावा उन्होंने ट्विटर के माध्यम से एक झूठ फैलाया था कि CAA और NRC लागू होने के बाद आदिवासियों, दलितों और महिलाओं को देश से बाहर निकाल दिया जाएगा। ‘तूफ़ान’ फिल्म का ट्रेलर देखते ही पता चलता है कि उन्होंने इसमें एक मुक्केबाज का किरदार अदा किया है। इसमें उनका नाम ‘अज़ीज़ अली उर्फ़ अज्जू भाई’ होता है, जिसका लाइसेंस सस्पेंड हो गया रहता है लेकिन वो अभिनेत्री के हौसला बढ़ाने पर कई सालों बाद फिर से बॉक्सिंग की तरफ लौटा।

अहमदाबाद से सांसद रहे वरिष्ठ अभिनेता परेश रावल ने इस फिल्म में उनके कोच का रोल अदा किया है, जिनका नाम नाना प्रभु होता है। इसके एक दृश्य में कोच अज़ीज़ अली को कहता है, “अभी तू जिसे मानता है, उसे मत्था टेक के आ।” इसके बाद अज़ीज़ अली अभिनेत्री पूजा शाह को आदाब करता नज़र आता है। अभिनेत्री, जो कि हिन्दू हैं, वो भी उसे बदले में आदाब करती है। ये किरदार मृणाल ठाकुर ने निभाया है।

इसके अगले दृश्य में फरहान अख्तर को बॉक्सिंग रिंग में पड़े हुए दिखाया गया है और खबर में कोई महिला एंकर कह रही होती हैं, “तूफ़ान ने अपने प्रशंसकों का दिल तोड़ दिया। जिस मंदिर की आप पूजा करते हैं, आपने उसके साथ विश्वासघात किया।” गौर कीजिए, ‘मंदिर’। इस फिल्म को ‘अमेज़न प्राइम’ पर रिलीज किया जा रहा है। वही ‘अमेज़न प्राइम’, जहाँ हाल ही में हिन्दू विरोधी भावना को ‘तांडव’ वेब सीरीज के जरिए आगे बढ़ाया गया था

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

‘शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा, वो पहले ही 14 महीने से जेल में’: इलाहाबाद...

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe