Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजकॉलेज की लापरवाही, कंसर्ट में कुप्रबंधन: गायक KK की मौत की CBI जाँच के...

कॉलेज की लापरवाही, कंसर्ट में कुप्रबंधन: गायक KK की मौत की CBI जाँच के लिए याचिका, कोलकाता HC में सुनवाई

कलकत्ता हाई कोर्ट में सिंगर केके (53) की मौत की सीबीआई जाँच को लेकर एक दूसरी जनहित याचिका भी दायर की गई है। इसमें याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया है कि...

मशहूर गायक पार्श्व गायक कृष्णकुमार कुन्नथ उर्फ केके (singer KK) की मौत के मामले की जाँच को लेकर कलकत्ता हाई कोर्ट (Calcutta High Court) में एक जनहित याचिका दायर की गई है। इसमें अदालत से सिंगर की मौत के मामले की जाँच केंद्रीय जाँच ब्यूरो (CBI) से कराने की माँग की गई है। इस मामले में अदालत ने याचिकाकर्ता को केके की असामयिक मौत पर याचिका दायर करने की अनुमति दे दी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, कलकत्ता हाई कोर्ट में यह याचिका वकील रविशंकर चट्टोपाध्याय के जरिए हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस प्रकाश श्रीवास्तव और जस्टिस राजर्शि भारद्वाज की बेंच के समक्ष फाइल की गई है। सोमवार (6 जून 2022) को फाइल इस याचिका में याचिकाकर्ता ने कोर्ट से इस मामले की सुनवाई के लिए अर्जेंट लिस्टिंग की माँग की है।

सीबीआई जाँच की माँग वाली यह दूसरी याचिका

कलकत्ता हाई कोर्ट में सिंगर केके (53) की मौत की सीबीआई जाँच को लेकर एक दूसरी जनहित याचिका भी दायर की गई है। इसमें याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया है कि उनके अंतिम संगीत कार्यक्रम में कुप्रबंधन हुआ था। याचिकाकर्ता ने कथित तौर पर कॉलेज की लापरवाही का भी उल्लेख किया है, जहाँ केके ने अपना कॉन्सर्ट किया था।

गौरतलब है कि मशूहर सिंगर केके की मौत की खबर 31 मई को सामने आई। दावा किया गया कि उनकी मायोकार्डियल इन्फेक्शन (हार्ट अटैक) की वजह से हुई। हालाँकि, उनके चेहरे और सिर पर चोट के निशान भी मिले थे। इस मामले में कोलकाता पुलिस ने अप्राकृतिक मौत का केस दर्ज किया था।

ऐसी खबरें भी सामने आई थीं कि भीड़ से भरे नजरूल ऑडिटोरियम में एसी की व्यवस्था नहीं थी। वायरल हुए वीडियोज में उन्हें बार-बार पसीना पोछते भी देखा गया। हालाँकि, कोलकाता पुलिस ने इन सभी चीजों से इनकार किया है। पुलिस ने दावा किया था कि ऑडिटोरियम में एसी चल रहा था और वहाँ भीड़ भी ज्यादा नहीं थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -