Tuesday, October 19, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनऋषि कपूर का निधन, 2 साल से कैंसर से लड़ रहे थे: बिग B...

ऋषि कपूर का निधन, 2 साल से कैंसर से लड़ रहे थे: बिग B ने कहा – टूट गया हूँ

अमेरिका के कैंसर अस्पताल में ऋषि कपूर ने 11 महीने और 11 दिन गुजारे थे। अमिताभ बच्चन सहित कई अन्य बॉलीवुड की हस्तियों ने उनकी मृत्यु पर श्रद्धांजलि दी है।

बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता ऋषि कपूर का निधन हो गया। कल शाम ही उनकी तबीयत अचानक खराब हो गई थी, जिसके कारण उन्हें दक्षिण मुम्बई के सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कल ही बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता इरफ़ान खान की भी लम्बी बीमारी के बाद मृत्यु हो गई थी।

अमेरिका के कैंसर अस्पताल में ऋषि कपूर ने 11 महीने और 11 दिन गुजारे थे। अमिताभ बच्चन सहित ही कई अन्य बॉलीवुड की हस्तियों ने उनकी मृत्यु पर श्रद्धांजलि दी है।

67 साल के ऋषि कपूर पिछले साल सितंबर में ही न्यूयॉर्क में लगभग एक साल कैंसर का इलाज करवाने के बाद भारत लौटे थे। ऋषि कपूर को 2018 में कैंसर का पता चला था। जिसके बाद वो इलाज के लिए न्यूयॉर्क चले गए। वहाँ करीब एक साल उनका इलाज चला।

कल ही इरफान खान की मौत के बाद आज ऋषि कपूर की मौत ने सबको सदमे में डाल दिया है। यह बॉलीवुड के लिए लगातार दूसरे दिन में हुई बड़ी क्षति है। ऋषि कपूर बीते दौर के सबसे सफल अभिनेताओं में से एक थे। बॉबी, मेरा नाम जोकर, चाँदनी, हीना, अमर अकबर एन्थोनी आदि उनकी कुछ बेहद लोकप्रिय फ़िल्में थीं। वह समसामयिक घटनाओं को लेकर भी काफी मुखर रहा करते थे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe