Thursday, July 18, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनतीर्थ यात्रा की, चर्च गया और बाइबिल भी पढ़ा... फिर महसूस हुआ कि धर्म...

तीर्थ यात्रा की, चर्च गया और बाइबिल भी पढ़ा… फिर महसूस हुआ कि धर्म एक प्रकार का शोषण है: एसएस राजामौली

द न्यू यॉर्कर के साथ साक्षात्कार के दौरान राजामौली से यह भी पूछा गया था कि क्या उन पर आरएसएस या बीजेपी समर्थक मुस्लिम विरोधी या राष्ट्रवादी फिल्में बनाने के लिए दबाव बनाते हैं। इस पर निर्देशक ने जवाब दिया कि ऐसा कभी नहीं हुआ।

फिल्म आरआरआर (RRR) ने दक्षिण भारतीय फिल्मों के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर एसएस राजामौली (SS Rajamouli) को दुनिया भर में अलग पहचान दिलाई है। इंटरनेशनल मीडिया ‘द न्यू यॉर्कर’ को दिए अपने इंटरव्यू में राजामौली ने धर्म और अपनी फिल्मों पर रामायण और महाभारत जैसे धर्मग्रन्थों के प्रभाव पर चर्चा की।

इंटरव्यू के दौरान राजामौली ने बताया कि उन्होंने कई धर्मग्रन्थों का अध्ययन किया है। तीर्थयात्रा की है। भगवा वस्त्र धारण किया है। चर्च में भी गए हैं और बाइबिल भी पढ़ा है। उन्होंने कहा, “इन सभी चीजों ने मुझे किसी तरह यह महसूस कराया कि धर्म एक प्रकार का शोषण है।” हालाँकि, एसएस राजामौली ने यह भी कहा कि उनकी फिल्में किसी न किसी तरह हिंदू धर्मग्रन्थ रामायण और महाभारत से प्रभावित होती हैं। उन्होंने खुद को नास्तिक बताया और कहा,

“रामायण और महाभारत से मेरा प्यार कभी कम नहीं होगा। दोनों ग्रन्थ महासागर की तरह हैं। जब भी मैं इन्हें पढ़ता हूँ तो कुछ न कुछ नया सीखता हूँ।”

राजामौली ने कहा, “मैंने इन कहानियों को तब से पढ़ा है, जब मैं एक बच्चा था। शुरुआत में वे सिर्फ अच्छी और आकर्षक कहानियाँ लगती थीं। जैसे-जैसे मैं बड़ा हुआ, मैंने पाठ के विभिन्न संस्करणों को पढ़ा और कहानी मेरे लिए कुछ बहुत बड़ी बनने लगी। मैं पात्रों, पात्रों के भीतर के संघर्षों और उनकी प्रेरक भावनाओं को देख सकता था। मुझसे जो कुछ भी निकलता है, वह किसी न किसी तरह से इन ग्रंथों से प्रभावित होता है। वे ग्रंथ महासागरों की तरह हैं।”

द न्यू यॉर्कर के साथ साक्षात्कार के दौरान राजामौली से यह भी पूछा गया था कि क्या उन पर आरएसएस या बीजेपी समर्थक मुस्लिम विरोधी या राष्ट्रवादी फिल्में बनाने के लिए दबाव बनाते हैं। इस पर निर्देशक ने जवाब दिया कि ऐसा कभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि किसी तरह का एजेंडा फिल्म बनाने के लिए उनसे कभी संपर्क नहीं किया गया।

बता दें कि एसएस राजामौली की फिल्म आरआरआर देश के साथ-साथ विदेशों में भी खूब सराही गई थी। आरआरआर के अलावा राजामौली की फिल्म बाहुबली और बाहुबली 2 को भी लोगों ने खूब पसंद किया था और उनकी एक अलग पहचान बनी थी।

जनवरी 2023 में राजामौली ने न्यूयॉर्क फिल्म क्रिटिक्स सर्कल अवार्ड्स में सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार जीता था। उनकी फिल्म का गीत ‘नातु नातु’ को अंतर्राष्ट्रीय वायरल हिट के लिए उनकी फिल्म को सर्वश्रेष्ठ मूल गीत की श्रेणी में ऑस्कर के लिए नामांकित किया गया है। इस गाने को 2023 का गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स में स्वर्ण पदक मिला था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -