Wednesday, June 19, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनजिस पाकिस्तानी मौलाना पर रखा बेटे का नाम, उसके गोद में सना खान ने...

जिस पाकिस्तानी मौलाना पर रखा बेटे का नाम, उसके गोद में सना खान ने डाला अपना बच्चा: Video देख बोले यूजर्स- गैर महरम… तेरी हया कहाँ है

सना खान ने अपने बेटे का नाम मौलाना तारिक जमील के नाम पर रखने के बाद जाकर उस मौलाना से मुलाकात की है। वीडियो में मौलाना जमील के हाथ में सना खान के बच्चे को देखा जा सकता है। इसके अलावा सना भी उनके बगल में बैठी हैं, जिसे देख कट्टरपंथी थोड़े नाराज हैं।

बॉलीवुड की पूर्व अभिनेत्री सना खान ने अपने शौहर मुफ्ती अनस के साथ पाकिस्तानी मौलाना तारिक जमील से मुलाकात की थी। उन्होंने अपने बेटे का नाम भी चूँकि मौलाना के नाम पर ही ‘जूनियर तारिक जमील’ रखा है, तो ऐसे में वो उसे मौलाना से मिलाने ले गई थीं। ये मुलाकात सऊदी अरब में उमराह के दौरान हुई थी। जिसकी वीडियो सना ने शेयर की थी और लंबा पोस्ट लिखा था। कई लोगों ने जहाँ इस वीडियो को देख तारीफ की, वहीं कुछ ने सना के अंदाज पर नाराजगी भी जताई।

दरअसल, सना खान द्वारा शेयर की गई वीडियो में सना खान और उनके शौहर मौलाना पहले तोहफा देते दिख रहे हैं। इसके बाद मौलाना तारिक उनके बच्चे ‘जूनियर तारिक जमील’ के साथ खेलते दिखते हैं। बीच में बच्चा उनकी दाढ़ी भी पकड़ता है जिसे तुरंत सना और मुफ्ती अनस छुड़वा देते हैं। अगली क्लिप में वो मौलाना के पास बैठी दिखती हैं।

ये क्लिप देखने के बाद कुछ कट्टरपंथियों ने सना की वीडियो पर उन्हें कहा, गैरमहरम के आगे औरत का ऐसा बैठना कैसा है जी ये तारिक भाई से ही पूछो।

देख सकते हैं एक यूजर ने लिखा- अस्तागफिरउल्लाह, तू अपना चेहरा ढके बिना गैर महरम के इतने करीब कैसे बैठी, उन्हें खुद बच्चा दे रही है, तेरी हया कहाँ है।

कुछ यूजर्स ने सना के पोस्ट पर भी आपत्ति जताई जिसमें उन्होंने कहा था कि मौलाना तारिक जमील को देखकर अल्लाह की याद आती है। फाबेहा ने लिखा- मौलाना को देखके अल्लाह याद आ जाते हैं? कुछ समझ नहीं आया ये अल्लाह को याद करने के लिए किसी की जरूरत नहीं है।

इन नेगेटिव कमेंट्स के बीच कई मुस्लिमों ने सना की तारिक जमील से मुलाकात को सराहा। मोहम्मद युनूस ने दुआ कि अल्लाह आपकी औलाद को मोहम्मद जमील जैसा बनाए।

सना खान का पोस्ट

सना खान ने इस मुलाकात के वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “आपको तहे दिल से प्यार और इज्जत तारिक जमील।” आगे उन्होंने लिखा- जूनियर तारिक जमील ने सीनियर हजरत मौलाना तारिक जमील साहब से मुलाकात की। मौलाना को देखकर वाकई अल्लाह याद आ जाता है। वह वाकई खूबसूरत इंसान हैं। मेरे और मेरे जैसे तमाम लोगों के लिए वो हिदायत का जरिया हैं। अल्लाह उनकी रक्षा करे और अच्छा स्वस्थ दे।

अपने पोस्ट में उन्होंने आगे लिखा- “उन्होंने हमेशा मुझे बेटी बोला और अपने शब्दों के जादू से मुझे बहुत सब्र दिया। लोग आपको तोड़ने की कोशिश करते हैं और आपके माफद को टारगेट करते हैं लेकिन आपको हमेशा मजबूत रहना है। यही अल्लाह द्वारा लिया गया इम्तेहान है।”

बता दें कि तारिक जमील तब्लीगी जमात के सदस्य हैं। जिनकी उटपटांग और महिला विरोधी बातों को लेकर दुनिया भर में उनकी मजम्मत हो चुकी है। इस साल जून में मौलाना तारिक का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें वह जन्नत के हूरों के बारे में बता रहे थे। उस वीडियो में उन्होंने कहा था कि जन्नत में हूरें एक नहर से पैदा होती हैं और उनकी लंबाई 130 फीट होती हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -