Saturday, June 22, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'इंशाअल्लाह फिलीस्तीन जाना चाहता हूँ': सिंगर लकी अली ने जताई ख्वाहिश, नेटिजन्स ने वीजा...

‘इंशाअल्लाह फिलीस्तीन जाना चाहता हूँ’: सिंगर लकी अली ने जताई ख्वाहिश, नेटिजन्स ने वीजा से टिकट तक का बता दिया रास्ता

इजरायल और हमास के बीच चल रही तनातनी के बीच मशहूर गायक लकी अली ने 30 नवंबर फिलीस्तीन जाने की इच्छा जताई। उन्होंने अपने एक्स अकॉउंट पर लिखा- "इंशाल्लाह मैं फिलीस्तीन जाना चाहता हूँ।"

इजरायल और हमास के बीच चल रही तनातनी के बीच मशहूर गायक लकी अली ने 30 नवंबर को फिलीस्तीन जाने की इच्छा जताई। उन्होंने अपने एक्स अकॉउंट पर लिखा- “इंशाल्लाह मैं फिलीस्तीन जाना चाहता हूँ।”

उनके इस ट्वीट को देखने के बाद कई सोशल मीडिया यूजर्स ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्हें बताया गया है कि कैसे उन्हें फिलीस्तीन जाने के लिए एक्स पर लिखने की जरूरत नहीं हैं, वो चाहें तो वैसे भी वीजा लेकर फिलीस्तीन की फ्लाइट पकड़ सकते हैं।

द स्किन डॉक्टर ने लकी अली के पोस्ट पर लिखा, “इजिप्ट की एक फ्लाइट है कल 11:20 की जो दिल्ली से कायरो जाएगी। कायरो से बस और टैक्सी करनी होगी जो सीधे आपको राफाह क्रॉसिंग बॉर्डर तक लेकर जाएगी। वहाँ मिस्र की पुलिस आपसे आपके आने का कारण पूछेगी और दस्तावेज देखेगी। इसके बाद आपको गाजा भेज दिया जाएगा। उम्मीद है आपकी इतने से मदद हो जाएगी।”

अब देखा जाए तो द स्किन डॉक्टर ने एक रास्ता बताया था उन्हें फिलीस्तीन जाने का… लेकिन लकी अली ने इसकी कद्र किए बिना नाराजगी जाहिर करते हुए कहा- “फिजिशियन तुम अपना इलाज करो।”

लकी अली के ऐसे ट्वीट को देख कई यूजर उन्हें कहने लगे कि इलाज तो लकी को अपना करवाना चाहिए। एक ने कहा कि एक तो स्किन डॉक्टर ने पूरा प्लॉन बनाकर दिया ऊपर से इतनी एहसानफरामोशी…?

बता दें कि इजरायल और हमास के बीच चल रहे तनाव के दौरान एक भी बार लकी अली ने हमास द्वारा 7 अक्टूबर को किए गए हमले की निंदा नहीं की। लेकिन जब इजरायल ने आतंकियों का सफाया शुरू किया तो उनका फिलीस्तीन जाने का मन हो गया।

लोगों ने उनका ऐसा रवैया देख कहा कि भारत ने लकी अली को सबकुछ दिया। मजहब से परे उनसे प्यार किया, लेकिन देखो इनकी तो सारी मोहब्बत उम्माह के लिए हैं। इन्होंने कभी नहीं कहा था कि ये भारत के साथ मिल पाकिस्तान से लड़ना चाहते थे। मगर फिलीस्तीन जाने के लिए ये उतावले हैं।

इस पर इस्लामी कट्टरपंथी उन्हें सपोर्ट करने आए और समझाया कि फिलीस्तीन में अल अक्सा मस्जिद है जो कि उनके लिए पाक है। लकी अली भी वहीं जाना चाहते हैं। दक्षिणपंथी सिर्फ उनकी इच्छा को आतंकी घोषित करने में लगा है।

हालाँकि इन कट्टरपंथियों ने लकी अली को समर्थन देने के साथ ये साफ नहीं किया कि इसी समय क्यों लकी अली की अल अक्सा मस्जिद देखने की इच्छा उठी।

हमास ने किया था इजरायल पर हमला

बता दें कि हमास ने 7 अक्टूबर को इजरायल पर हमला किया था। करीबन 5000 रॉकेट गाजा से दागे गए थे। आतंकियों ने महिलाओं का रेप करके उन्हें मार डाला था और कई को अगवा कर लिया था। 1300 से ज्यादा लोग इस हमले में मारे गए थे। वहीं 200 का अपहरण हुआ था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -