Saturday, July 31, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनचू#$या... 4 साल के बच्चे को यही गाली दी थी स्वरा भास्कर ने, अब...

चू#$या… 4 साल के बच्चे को यही गाली दी थी स्वरा भास्कर ने, अब बोली – ‘मैं तो मज़ाक कर रही थी’

"मुझे बच्चे पसंद हैं, उस शो को वास्तव में देखने वाले जानते होंगे कि मैं एकलौती ऐसी हूँ जो बच्चों की भलाई के लिए बात कर रही थी। मैं वास्तव में..."

स्वरा भास्कर ने अपने उस विवादित वीडियो को लेकर सफाई दी है जिसमें चार साल के एक बच्चे द्वारा उन्हें आंटी कहने की प्रतिक्रिया में स्वरा ने अभद्र भाषा (चू#$या) का उपयोग किया था। अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि उस शो में वह दरअसल फिल्म इंडस्ट्री के अपने शुरुआती दिनों का अनुभव साझा कर रही थीं।

स्वरा ने कहा, “मैं मुंबई में शूटिंग का अपना अनुभव शेयर कर रही थी। इस दौरान मैंने जो शब्द इस्तेमाल किए वह एडल्ट कॉमेडी है, मैंने यह शब्द एक एडल्ट मज़ाक के तौर पर उस वक़्त के अपने फ्रस्टेशन (कुंठा) को व्यक्त करने के लिए इस्तेमाल किए थे।”

बता दें कि स्वरा का एक बच्चे को गाली बकने का यह मामला ज्यादा पुराना नहीं है। कुछ ही दिनों पहले एक कॉमेडी शो ‘सन ऑफ़ अबीश‘ में स्वरा भास्कर ने खुद बताया था कि एक बच्चे के द्वारा उन्हें आंटी बोलने पर उन्होंने उसको चू#$या और कमीना कह दिया था। इस वीडियो के वायरल होने के बाद स्वरा भास्कर को काफी आलोचना का सामना करना पड़ा था।

एक रिपोर्ट के मुताबिक स्वरा ने इस मामले में अपनी सफाई पेश करते हुए कहा, “मुझे बच्चे पसंद हैं, उस शो को वास्तव में देखने वाले जानते होंगे कि मैं एकलौती ऐसी हूँ जो बच्चों की भलाई के लिए बात कर रही थी। मैं वास्तव में चाहती थी कि उस बच्चे को फिल्मों में एक ब्रेक मिले।” उन्होंने कहा कि शो का स्वरुप मजाकिया था, यही वजह है कि उन्होंने जो बात कही, उसका लहजा भी मज़ाक जैसा ही था।

बता दें कि इस भद्दे कमेन्ट के लिए स्वरा भास्कर के खिलाफ दिल्ली भाजपा के कार्यकर्ता आकाश जोशी ने राष्ट्रीय बाल आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी। इस घटना को लेकर स्वरा भास्कर ने अब जाकर चुप्पी तोड़ी और अपने बचाव में कहा है कि वह तो मज़ाक था। जबकि स्वरा सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर तभी आ गईं थीं जब उन्होंने चार साल के बच्चे को चू#$या और कमीना कहा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माँ का किडनी ट्रांसप्लांट, खुद की कोरोना से लड़ाई: संघर्ष से भरा लवलीना का जीवन, ₹2500/माह में पिता चलाते थे 3 बेटियों का परिवार

टोक्यो ओलंपिक में मेडल पक्का करने वाली लवलीना बोरगोहेन के पिता गाँव के ही एक चाय बागान में काम करते थे। वो मात्र 2500 रुपए प्रति महीने ही कमा पाते थे।

फ्लाईओवर के ऊपर ‘पैदा’ हो गया मज़ार, अवैध अतिक्रमण से घंटों लगता है ट्रैफिक जाम: देश की राजधानी की घटना

ताज़ा घटना दिल्ली के आज़ादपुर की है। बड़ी सब्जी मंडी होने की वजह से ये इलाका जाना जाता है। यहाँ के एक फ्लाईओवर पर अवैध मजार बना दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,163FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe