Thursday, June 13, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'मनोरंजन के लिए ₹25 लाख में तृषा कृष्णन को रिजॉर्ट में बुलाया गया था':...

‘मनोरंजन के लिए ₹25 लाख में तृषा कृष्णन को रिजॉर्ट में बुलाया गया था’: AIADMK के पूर्व नेता के बयान पर भड़की अभिनेत्री, मानहानि का भेजा नोटिस

नोटिस में माँग की गई है कि एवी राजू अपने खर्चे पर तृषा के खिलाफ लगाए गए आरोपों को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से हटवाएँ और चार दिनों के भीतर एक धनराशि भी उन्हें दें। ऐसा ना करने पर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी।

अभिनेत्री तृषा कृष्णन ने AIADMK के पूर्व नेता एवी राजू को मानहानि का नोटिस भेजा है। तृषा ने माँग की है कि उन्हें एक निश्चित धनराशि चार दिनों के भीतर एवी राजू दें, वरना वह उन पर मुकदमा करेंगी। एवी राजू ने अभिनेत्री तृषा को लेकर हाल ही अपमानजनक बयान दिया था, जिसके बाद यह नोटिस भेजा गया है। तृषा ने नोटिस को अपने एक्स (पहले ट्विट्टर) हैंडल पर भी साझा किया है।

तृषा के वकीलों द्वारा भेजी गई नोटिस में कहा गया है कि एक धनराशि (जिसका खुलासा नहीं किया गया) चार दिनों के भीतर अभिनेत्री को दी जाए, क्योंकि राजू के बयान से वह लगातार मानसिक तौर से परेशान हैं। इसके अलावा, माँग की गई है कि नोटिस मिलने के बाद वह आगे से तृषा से सम्बंधित किसी भी प्रकार का कोई बयान ना दें।

लीगल नोटिस में यह भी माँग की गई है कि एवी राजू अपने खर्चे पर तृषा के खिलाफ लगाए गए आरोपों को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से हटवाएँ। एवी राजू को आरोप टीवी चैनलों, यूट्यूब तथा ट्विटर से भी हटवाने होंगे। इसके लिए जो भी खर्च आएगा, इसका वहन उन्हें खुद करना होगा। इसके साथ ही नोटिस मिलने के 24 घंटे के भीतर तृषा से माफी माँगने की बात कही गई है।

तृषा के वकीलों ने कहा है कि राजू को माफ़ीनामा एक अंग्रेजी दैनिक समाचार पत्र में भी प्रकाशित करवाना होगा। यह ऐसा समाचार पत्र होना चाहिए, जिसकी रोजाना 5 लाख प्रतियाँ बिकती हों। यही काम उन्हें एक तमिल दैनिक समाचार पत्र में भी करना होगा। यदि एवी राजू ऐसा नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ आपराधिक एवं दीवानी मुकदमा किया जाएगा और इन सबका का खर्च उन्होंने वहन करना पड़ेगा।

तृषा के अलावा AIADMK के पूर्व विधायक जी वेंकटचलम ने भी ऐसा ही एक नोटिस भेजा है। राजू ने वेंकटचलम के लिए ही तृषा को बुलाए जाने से सम्बंधित बयान दिया था। वेंकटचलम ने अपने कानूनी नोटिस में माँग की है कि 24 घंटे के भीतर राजू को माफ़ी माँगनी होगी, वरना उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

एवी राजू ने क्या कहा था?

सालेम के नेता एवी राजू को AIADMK से 17 फरवरी को निकाल दिया गया। इसके बाद पार्टी के खिलाफ उन्होंने मोर्चा खोल दिया। उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अभिनेत्री तृषा पर काफी आपत्तिजनक बयान दिया। राजू ने कहा कि जब 2017 में उनकी पार्टी के भीतर विधायकों ने बगावत की थी तो इन विधायकों को कूवाथुर में स्थित गोल्डन बे रिजॉर्ट में ठहराया गया था।

उन्होंने इसी बयान में आगे कहा कि इस रिसॉर्ट में पार्टी के विधायकों के मनोरंजन के लिए कई इंतजाम हुए थे। यहाँ अभिनेत्री तृषा को भी बुलाया गया था। उन्होंने कहा कि अभिनेत्री तृषा को एक विधायक के कहने पर बुलाया गया था और उन्हें इसके लिए ₹25 लाख दिए गए थे। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि राजू के ये आरोप AIADMK के पूर्व विधायक वेंकटचलम पर हैं।

एवी राजू ने तृषा को रिसॉर्ट में बुलाने के सम्बन्ध में कहा कि वेंकटचलम कोई ‘बेहद युवा लड़की’ चाहते थे। एवी राजू ने यह सब इंतजाम करने के आरोप एक अन्य अभिनेता पर लगाए हैं। उन्होंने कहा था कि उस दौरान 100 से अधिक विधायकों के मनोरंजन के लिए कई और अभिनेत्रियों को भी बुलाया गया थआ। उनके इस बयान पर सोशल मीडिया पर खलबली मच गई और उनकी आलोचना हो रही है।

तृषा ने अपने ऊपर दिए गए बयान पर एक्स पर ट्वीट कर जवाब दिया था, “मुझे यह देख कर बहुत पीड़ा होती है कि निचले और तुच्छ लोग ध्यानाकर्षण के किसी भी स्तर तक गिर सकते हैं। तुम चिंता ना करो, इस पर मैं कड़ी कार्रवाई करूँगी। जो भी कहा जाना था इस मामले में कहा जा चुका है और अब मामला कानूनी रूप से देखा जाएगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेता खाएँ मलाई इसलिए कॉन्ग्रेस के साथ AAP, पानी के लिए तरसते आम आदमी को दोनों ने दिखाया ठेंगा: दिल्ली जल संकट में हिमाचल...

दिल्ली सरकार ने कहा है कि टैंकर माफिया तो यमुना के उस पार यानी हरियाणा से ऑपरेट करते हैं, वो दिल्ली सरकार का इलाका ही नहीं है।

पापुआ न्यू गिनी में चली गई 2000 लोगों की जान, भारत ने भेजी करोड़ों की राहत (पानी, भोजन, दवा सब कुछ) सामग्री

प्राकृतिक आपदा के कारण संसाधनों की कमी से जूझ रहे पापुआ न्यू गिनी के एंगा प्रांत को भारत ने बुनियादी जरूरतों के सामान भेजे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -