Tuesday, October 19, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनVIDEO: अपना जूता भी ख़ुद नहीं उतारते 'शॉटगन', सोशल मीडिया पर 'लताड़' से हुए...

VIDEO: अपना जूता भी ख़ुद नहीं उतारते ‘शॉटगन’, सोशल मीडिया पर ‘लताड़’ से हुए ‘खामोश’

पटना साहिब क्षेत्र के लोगों का कहना है कि शत्रुघ्न सिन्हा जीतने के बाद सीधा मुंबई चले जाते हैं और अपने क्षेत्र का दौरा भी नहीं करते। चुनाव आते ही उन्हें फिर क्षेत्र की याद सताती है।

शत्रुघ्न सिन्हा का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में उनकी रईसी साफ़-साफ़ झलक रही है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि शत्रुघ्न सिन्हा किसी मंदिर में जा रहे हैं। मंदिर में जाने से पहले जूता उतारने के लिए भी वो ख़ुद मेहनत नहीं करते। उनका सहयोगी जूता उतारता है और फिर वह मंदिर में घुसते हैं। इस पर लोगों ने चुटकी लेते हुए कहा कि अगर एक राजनेता ख़ुद अपना जूता नहीं उतार सकता तो जनता की सेवा क्या करेगा? शत्रुघ्न सिन्हा पटना से सांसद हैं और इस बार उन्होंने अपनी पुरानी पार्टी भाजपा छोड़ कॉन्ग्रेस का दामन थामा है। पटना में उनका मुक़ाबला केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से होने वाला है। दोनों ही कायस्थ समुदाय से आते हैं और स्थानीय हैं। ऐसे में, यहाँ दिलचस्प मुक़ाबला होने की उम्मीद है।

ऊपर के वीडियो में देख सकते हैं कैसे शत्रुघ्न सिन्हा का जूता कोई और व्यक्ति उतार रहा है ताकि वो मंदिर में जाकर पूजा कर सकें। पटना साहिब क्षेत्र से पिछली बार रिकॉर्ड मतों से चुनाव जीते शत्रुघ्न सिन्हा बॉलीवुड के जाने-माने अभिनेता रहे हैं। विलेन के तौर पर अपना करियर शुरू करने के बाद उन्होंने सैंकड़ों फ़िल्मों में अभिनय किया। शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा लखनऊ से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं और हाल ही में सिन्हा उनके चनाव प्रचार के लिए भी वहाँ पहुँचे थे। हालाँकि यूपी में सपा के साथ कॉन्ग्रेस गठबंधन में नहीं है तब भी सिन्हा ने अपनी पत्नी के लिए अपनी ही पार्टी के ख़िलाफ़ चुनाव प्रचार किया।

पटना साहिब क्षेत्र के लोगों का कहना है कि शत्रुघ्न सिन्हा जीतने के बाद सीधा मुंबई चले जाते हैं और अपने क्षेत्र का दौरा भी नहीं करते। चुनाव आते ही उन्हें फिर क्षेत्र की याद सताती है। शत्रुघ्न सिन्हा के उपर्युक्त वीडियो को देखने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने कहा कि जो व्यक्ति अपना जूता खोलने तक के लिए नहीं झुक सकता, वो समाज और देश की सेवा करने की बात न ही करे तो बेहतर है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान हारे भी न और टीम इंडिया गँवा दे 2 अंक: खुद को ‘देशभक्त’ साबित करने में लगे नेता, भूले यह विश्व कप है-द्विपक्षीय...

सृजिकल स्ट्राइक का सबूत माँगने वाले और मंच से 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' का नारा लगवाने वाले भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच रद्द कराने की माँग कर 'देशभक्त' बन जाएँगे?

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe