Sunday, July 21, 2024
Homeविविध विषयTauktae के तबाही मचाने के बाद एक और चक्रवाती तूफान 'Yaas' के आने की...

Tauktae के तबाही मचाने के बाद एक और चक्रवाती तूफान ‘Yaas’ के आने की आशंका, जानें कहाँ और कब

मौसम विभाग का कहना है कि इस पूरे क्षेत्र की निगरानी की जा रही है और वर्तमान में किसी भी चक्रवाती तूफान की संभावनाएं मात्र कम दबाव के क्षेत्र तक ही सीमित है...

भारत के पश्चिमी भाग में स्थित अरब सागर में उत्पन्न हुए  Cyclone Tauktae के बाद अब बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र उत्पन्न हो रहा है। इसे लेकर मीडिया और सोशल मीडिया में चर्चा है कि बंगाल की खाड़ी में बन रहे इस कम दबाव के क्षेत्र के तीव्र होकर Cyclone Yaas में परिवर्तित होकर आगामी 23 से 27 मई के बीच पश्चिम बंगाल के तट से टकराने की आशंका है। यह दावा किया जा रहा है कि इस सुपर साइक्लोन के कारण भारत के पूर्वी तट समेत पश्चिम बंगाल के सुंदरबन इलाके में बारिश और तूफान की संभावना है।

देश के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव माधवन राजीवन ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत करते हुए कहा कि बंगाल की खाड़ी के मध्य पूर्वी क्षेत्र और उसके आसपास के इलाकों में एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है जिसका समय 23 मई अनुमानित है। राजीवन ने कहा, “यह सिस्टम 27 मई को ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटों से टकरा सकता है। हमारे मॉडल्स में इस कम दबाव क्षेत्र के निर्माण की जानकारी प्राप्त हो रही है लेकिन पूरी जानकारी अगले 2 या 3 दिन में उपलब्ध हो जाएगी।“ हालाँकि राजीवन ने यह भी बताया कि यदि ऐसा कोई चक्रवाती तूफान बनता भी है तो वह संभवतः Cyclone Tauktae जितना खतरनाक नहीं होगा।

अगर आया साइक्लोन तो नाम होगा Yaas, जानिए क्यों

हालाँकि क्षेत्रीय मौसम विभाग ने किसी भी चक्रवाती तूफान (Super Cyclone) की जानकारी देने से इनकार किया है। रिपब्लिक की खबर के अनुसार मौसम विभाग ने अपने बयान में कहा है कि विभाग द्वारा केवल एक कम दबाव के क्षेत्र की जानकारी दी गई है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में मध्य-पूर्वी क्षेत्र के आसपास 23 मई तक एक कम दबाव का क्षेत्र बनेगा।

मौसम विभाग का कहना है कि इस पूरे क्षेत्र की निगरानी की जा रही है और वर्तमान में किसी भी चक्रवाती तूफान की संभावनाएं मात्र कम दबाव के क्षेत्र तक ही सीमित है। यदि इस कम दबाव के क्षेत्र से किसी चक्रवाती तूफान का निर्माण होता भी है तो उसकी पूरी जानकारी और चेतावनी दी जाएगी। मौसम विभाग द्वारा यह भी बताया गया है कि यदि चक्रवात उत्पन्न होगा तो उसका नाम ‘Cyclone Yaas’ होगा। यह नाम ओमान द्वारा दिया गया है। ‘Yaas’ का तात्पर्य है निराशा।   

गुजरात में अपना प्रभाव दिखाने के बाद अब Cyclone Tauktae कमजोर पड़ने लगा है। एनडीआरएफ के प्रमुख एस एन प्रधान ने मंगलवार को बताया कि चक्रवात का सबसे खराब दौर बीत चुका है और अब चक्रवात कमजोर पड़ जाएगा। हालाँकि भारतीय मौसम विभाग ने कहा कि चक्रवात अब उत्तर भारत की ओर बढ़ चुका है जिसके कारण पंजाब, हरियाणा और सटे इलाकों में बारिश की संभावना है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-370 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

हर दिन 14 घंटे करो काम, कॉन्ग्रेस सरकार ला रही बिल: कर्नाटक में भड़का कर्मचारियों का संघ, पहले थोपा था 75% आरक्षण

आँकड़े कहते हैं कि पहले से ही 45% IT कर्मचारी मानसिक समस्याओं से जूझ रहे हैं, 55% शारीरिक रूप से दुष्प्रभाव का सामना कर रहे हैं। नए फैसले से मौत का ख़तरा बढ़ेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -