ईद की नमाज के दौरान J&K पर प्रदर्शन करने वाले पाकिस्तानियों पर कार्रवाई करेगा बहरीन

बहरीन ने फैसला लिया कि क़ानून का उल्लंघन करने वाले ऐसे सभी लोगों के ख़िलाफ़ वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। इस मामले को पब्लिक प्रॉसिक्यूशन के पास भेज दिया गया है। बहरीन ने लोगों को आगाह किया कि मजहबी जमावड़ों का इस्तेमाल राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए नहीं किया जाए।

बहरीन में कुछ पाकिस्तानी व बांग्लादेशी लोगों द्वारा जम्मू कश्मीर पर भारत सरकार के निर्णय के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया। इसके लिए ईद के नमाज के अवसर का फायदा उठाया गया। अब द्वीपीय देश ने ऐसे लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। बहरीन के ‘मिनिस्ट्री ऑफ इंटीरियर’ ने बयान जारी कर बताया कि ईद की नमाज के बाद कुछ एशियन लोग ऐसे जमा हो गए, जिससे क़ानून का उल्लंघन हुआ है।

साथ ही बहरीन ने फैसला लिया कि क़ानून का उल्लंघन करने वाले ऐसे सभी लोगों के ख़िलाफ़ वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। इस मामले को पब्लिक प्रॉसिक्यूशन के पास भेज दिया गया है। बहरीन ने लोगों को आगाह किया कि मजहबी जमावड़ों का इस्तेमाल राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए नहीं किया जाए। नीचे संलग्न किए गए ट्वीट्स में आप प्रदर्शन का वीडियो और बहरीन का आधिकारिक बयान देख सकते हैं।

कूटनीतिक रूप से अंतरराष्ट्रीय मंच पर अलग-थलग पड़े पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने बहरीन के राजा से फोन पर बात भी की थी। शुक्रवार (अगस्त 9, 2019) को बहरीन के राजा शेख हमद बिन ईसा अल खलीफा से इमरान ख़ान ने बातचीत की थी। इमरान ख़ान ने जम्मू कश्मीर के मसले पर बहरीन के राजा को पाकिस्तानी नैरेटिव से अवगत कराया था। हालाँकि, बहरीन से उन्हें बस इतना जवाब मिला कि जम्मू कश्मीर के ताज़ा घटनाक्रम पर नजर रखी जा रही है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बहरीन के राजा ने आशा जताया कि इन मसलों को बातचीत के जरिए सुलझा लिया जाएगा। पाकिस्तान को यूएई और मालदीव जैसे इस्लामिक देशों से भी झटका मिल चुका है। कई देशों ने जम्मू कश्मीर को भारत का आंतरिक मुद्दा बताते हुए दखल देने से इनकार कर दिया।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

आरफा शेरवानी
"हम अपनी विचारधारा से समझौता नहीं कर रहे बल्कि अपने तरीके और स्ट्रेटेजी बदल रहे हैं। सभी जाति, धर्म के लोग साथ आएँ। घर पर खूब मजहबी नारे पढ़कर आइए, उनसे आपको ताकत मिलती है। लेकिन सिर्फ मुस्लिम बनकर विरोध मत कीजिए, आप लड़ाई हार जाएँगे।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

144,666फैंसलाइक करें
36,511फॉलोवर्सफॉलो करें
165,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: