कहाँ है नौकरी? पूछने वालों को जवाब: IT सेक्टर ने दी 9 महीने में 70,000 नौकरियाँ

IT कम्पनियों ने कहा आने वाले समय में और बड़ी सँख्या में युवाओं को नियुक्त करने के लिए कॉलेज परिसरों में भी जाएंगी कंपनियाँ।

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS), इंफोसिस (Infosys), विप्रो (Wipro) और एचसीएल टेक्नोलॉजीज (HCL Technologies) ने मिलकर पिछले 9 महीनों में 70,000 से अधिक लोगों को रोज़गार दिया। जो 2017-18 में की गई कुल हायरिंग के मुकाबले पाँच गुना अधिक था।

TCS में एक वरिष्ठ कार्यकारी ने बताया कि पिछले 9 महीनों में 22,931 कर्मचारियों को काम पर रखा गया, व्यापार में वृद्धि वापस आ गई है, आगे इसके परिणाम और बेहतर होंगे। इसी अवधि में, सॉफ्टवेयर सेवा निर्यातक ने 3,657 कर्मचारियों को रोज़गार उपलब्ध कराया। फ़र्म ने इस साल 28,000 से अधिक कैंपस ऑफ़र भी दिए।

इंफोसिस, TCS के बेंगलुरु स्थित रिवेल ने दिसंबर 2018 तक 9 महीनों में 21,398 कर्मचारियों की नेट हायरिंग की। पिछले महीने, इन्फोसिस के चीफ़ ऑपरेटिंग ऑफ़िसर प्रवीण राव ने कहा था, “पिछली तीन तिमाहियों में हमारे पास 1 बिलियन डॉलर से अधिक की डील हुई हैं, आने वाले वर्षों में इसमें से कई डील्स पर काम भी किया जाएगा। । इसलिए, हमें विश्वास है कि हम आगे भी लोगों को रोज़गार मुहैया कराते रहेंगे।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

2017-18 में 4,108 लोगों की तुलना में HCL Technologies ने दिसंबर तक कुल 12,247 कर्मचारियों को काम पर रखा। विप्रो ने इस साल की पहली तीन तिमाहियों में कुल 12,456 कर्मचारियों को को नौकरी दी। जानकारी के अनुसार यह फर्म बड़ी संख्या में में नए इंजीनियरों को नियुक्त करने के लिए कॉलेज परिसरों में फिर से जाएगी। उदाहरण के लिए, विप्रो ने इस साल अपने कैंपस हायरिंग को दोगुना करने की योजना बनाई है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

अमानतुल्लाह ख़ान, जामिया इस्लामिया
प्रदर्शन के दौरान जहाँ हिंसक घटना हुई, वहाँ AAP विधायक अमानतुल्लाह ख़ान भी मौजूद थे। एक तरफ केजरीवाल ऐसी घटना को अस्वीकार्य बता रहे हैं, दूसरी तरफ उनके MLA पर हिंसक भीड़ की अगुवाई करने के आरोप लग रहे हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,919फैंसलाइक करें
26,833फॉलोवर्सफॉलो करें
127,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: