Monday, June 24, 2024
Homeविविध विषयअन्यपेड प्रमोशन का टैग लगाए बिना जैकलीन-रणवीर कर रहे थे विज्ञापन, ASCI ने गाइडलाइन्स...

पेड प्रमोशन का टैग लगाए बिना जैकलीन-रणवीर कर रहे थे विज्ञापन, ASCI ने गाइडलाइन्स न मानने पर जारी किए 28 नाम

ASCI के दिशानिर्देशों में इस बात का उल्लेख है कि कोई भी पेड प्रमोशन के दौरान- Advertisement, AD Sponsored, Collaboration, Partnership, Employee, Free gift ऐसे टैग हैं जिन्हें लगाना जरूरी है। लेकिन इनमें से कोई भी टैग रणवीर-जैकलीन के पोस्ट में नहीं दिखता।

सोशल मीडिया पर विज्ञापन संबंधी दिशा-निर्देशों के उल्लंघन करने पर एडवरटाइजिंग स्टैंडर्ड काउंसिल ऑफ इंडिया (एएससीआई) ने इंस्टाग्राम के 28 इन्फ्लुएंसरों की लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में जैकलीन फर्नांडिस और रणवीर सिंह जैसे बॉलीवुड हीरो-हिरोइनों का नाम है। ASCI की साइट के अनुसार, सोशल मीडिया पर मशहूर इन सभी लोगों को उनकी ओर से निर्देश दिए गए थे कि वो पेड कंटेंट प्रमोट करते हुए उसके साथ ‘डिस्क्लोजर लेबल’ लगाएँ। लेकिन ये सभी सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर दिशा-निर्देश मानने में असफल रहे। एएससीआई की ओर से नियमित रूप से जाँच के दौरान यह बात सामने आई कि इन दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वालों में कई ब्रांड और संस्थान भी शामिल हैं।

अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिस को भी इसी क्रम में गाइडलाइंस का पालन करने में विफल पाया गया। वह अपने इंस्टा अकॉउंट से कलरबार कॉस्मेटिक्स का प्रचार कर रही थीं। विज्ञापन में देख सकते हैं कि जैकलीन ने कहीं भी अपने पोस्ट में पेड कंटेंट का टैग नहीं लगाया है और न ही बताया कि वो ब्रांड विज्ञापन कर रही थीं।

वहीं रणवीर सिंह को उनके इंस्टा अकॉउंट पर मान्यवर का प्रमोशन करते देखा जा सकता है। लेकिन उसके पोस्ट में कहीं भीं उन्होंने डिस्कलोजर टैग का इस्तमाल नहीं किया। इसी तरह मास्टरशेफ इंडिया 4 की फाइनलिस्ट करिश्मा सखरानी और टेक ब्लॉगर श्लोक श्रीवास्तव भी इस तरह दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करते पाए गए।

ASCI की जनरल सेक्रेट्री मनीषा कपूर ने इस संबंध में बताया कि दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वाले मामले लगातार बढ़ रहे हैं। वह बोलीं, “हमें उम्मीद है कि हम इंडस्ट्री के लोगों को संकेत दे पाएँ कि हम उपभोक्ता संरक्षण के विषय में गंभीर हैं और भ्रामक विज्ञापनों से एजेंडे को हटा रहे हैं। हम लगातार विज्ञापन में पारदर्शिता का संदेश आगे तक बढ़ाने के लिए ज्यादा से शिक्षित करना, प्रभावशाली लोगों तक पहुँचना जारी रखेंगे।”

बता दें कि पिछले साल जून में एएससीआई ने हर इन्फ्लुएंसर के लिए प्रमोशन वाले पोस्ट में पारदर्शिता के लिए कुछ टैग्स के इस्तेमाल को अनिवार्य किया था। एएससीआई के दिशानिर्देशों में इस बात का उल्लेख है कि कोई भी पेड प्रमोशन के दौरान- Advertisement,ADSponsored, Collaboration, Partnership, Employee, Free gift ऐसे टैग हैं जिन्हें लगाना जरूरी है। ताकि उपभोक्ता किसी भी प्रकार से भ्रमित न हो।

दिशानिर्देशों में कहा गया है- विज्ञापन के कंटेंट से जुड़े डिस्क्लोजर की जिम्मेदारी विज्ञापनदाता की है जिसके उत्पाद या सेवा संबंधी विज्ञापन हैं। इसके अलावा इन्फ्लुएंसर पर भी ‘डिस्कलोजर’ की जिम्मेदारी है। स्पष्ट करने के लिए बताया गया है कि जहाँ एडवर्टाइजर का इन्फ्लुएंसर के साथ मटेरियल कनेक्शन हो, वहाँ विज्ञापनदाता की जिम्मेदारी यह सुनिश्चित करना होगा कि पोस्ट किया गया इन्फ्लुएंसर का विज्ञापन एएससीआई कोड और उसके दिशानिर्देशों के अनुरूप है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

13 लोग ऐसे भी जो घर में सोने आए, लेकिन फिर कभी जगे नहीं: तमिलनाडु में जहरीली शराब से अब तक 56 मौतें, चुप्पी...

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को तमिलनाडु में जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले में एक पत्र लिखा है।

बिहार में EOU ने राख से खोजे NEET के सवाल, परीक्षा से पहले ही मोबाइल पर आ गया था उत्तर: पटना के एक स्कूल...

पटना के रामकृष्ण नगर थाना क्षेत्र स्थित नंदलाल छपरा स्थित लर्न बॉयज हॉस्टल एन्ड प्ले स्कूल में आंशिक रूप से जले हुए कागज़ात भी मिले हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -