Wednesday, September 22, 2021
Homeविविध विषयअन्यअक्षय कुमार की 'बेल बॉटम' पर सऊदी अरब, कुवैत, और कतर ने लगाया बैन:...

अक्षय कुमार की ‘बेल बॉटम’ पर सऊदी अरब, कुवैत, और कतर ने लगाया बैन: जानें क्या है वजह?

संभव है कि 'बेल बॉटम' फिल्म में दिखाए गए ट्विस्ट के कारण अरब देशों के सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म पर बैन लगाया हो। इसमें दिखाया गया है कि किस तरह एक सीक्रेट मिशन को भारतीय अधिकारी अंजाम तक पहुँचाते हैं, जिसे डील उस समय के UAE रक्षा मंत्री मोहम्मद बिन राशिद ने किया था।

बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार की नई फिल्म ‘बेल बॉटम’ की रिलीज के बाद सोशल मीडिया पर इसे लेकर अलग-अलग प्रतिक्रियाएँ आ रही हैं। एक ओर जहाँ कई लोग इस फिल्म की तारीफ कर रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर सऊदी अरब, कुवैत, और कतर जैसे अरब देशों ने इसे अपने यहाँ रिलीज करने से ही मना कर दिया है। उनका कहना है कि इस फिल्म ने उनकी छवि को खराब किया है। देशों के सेंसर बोर्ड ने भी सीन को लेकर आपत्ति जाहिर की है।

बता दें कि रंजीत एम तिवारी के निर्देशन में बनी ‘बेल बॉटम’ में अक्षय कुमार के अलावा लारा दत्ता, वाणी कपूर, आदिल हुसैन और हुमा कुरैशी ने अहम रोल निभाए हैं। फिल्म में 80 के दौर में भारत के एक सीक्रेट ऑपरेशन को दिखाया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, फिल्म के दूसरे हाफ में दिखाया जाता है कि कैसे एक एयरक्राफ्ट को कुछ आतंकी लाहौर से दुबई ले जाते हैं और तब संयुक्त अरब अमीरात की फोर्स हाईजैकर्स को अपने चंगुल में ले लेती है। ये पूरी घटना उस दौर में हुए एक वास्तविक मिशन को दर्शाती है जिसे वहाँ के रक्षा मंत्री मोहम्मद बिन राशिद ने हैंडल किया था और बाद में उन आतंकियों को अपहरण में इस्तेमाल की गई पिस्तौल के साथ भारत सरकार को प्रत्यर्पित कर दिया गया था।

अब ‘बेल बॉटम’ फिल्म में चूँकि दिखाया गया है कि इस सीक्रेट मिशन को भारतीय अधिकारी अंजाम तक पहुँचाते हैं, जिसकी जानकारी वहाँ के डिफेंस मिनिस्टर को भी नहीं होती है। शायद इसीलिए हो सकता है कि कहानी के इसी ट्विस्ट की वजह से वहाँ के सेंसर बोर्ड ने नाराजगी जताई है और इसके रिलीज पर बैन लगा दिया है।

बता दें कि अक्षय कुमार की बेल बॉटम 19 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज हुई है। भारत में यह 1600 से ज्यादा स्क्रीन्स पर रिलीज हुई है। कहा जा रहा है कि पहले दिन फिल्म का कलेक्शन 3 करोड़ रुपए के करीब का है। हो सकता है कि वीकेंड में इसमें बढ़त दिखे। कई लोग इस फिल्म की सराहना कर रहे हैं और कई लोग इस पर सवाल उठा रहे हैं। फिल्म में अक्षय कुमार द्वारा निभाए गए किरदार सहित कई भारतीय अधिकारियों को एपिसोड के नायक के रूप में दिखाया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मौलाना कलीम सिद्दीकी को यूपी ATS ने मेरठ से किया गिरफ्तार, अवैध धर्मांतरण के लिए की हवाला के जरिए फंडिंग

यूपी पुलिस ने बताया कि मौलाना जामिया इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट चलाता है, जो कई मदरसों को फंड करता है। इसके लिए उसे विदेशों से भारी फंडिंग मिलती है।

60 साल में भारत में 5 गुना हुए मुस्लिम, आज भी बच्चे पैदा करने की रफ्तार सबसे तेज: अमेरिकी थिंक टैंक ने भी किया...

अध्ययन के अनुसार 1951 से 2011 के बीच भारत की आबादी तिगुनी हुई। लेकिन इसी दौरान मुस्लिमों की आबादी 5 गुना हो गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,707FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe