Sunday, May 19, 2024
Homeविविध विषयअन्यअब ATM से पैसा निकालने के लिए डेबिट कार्ड का झंझट खत्म: RBI ने...

अब ATM से पैसा निकालने के लिए डेबिट कार्ड का झंझट खत्म: RBI ने कहा- सभी बैंकों के ATM नेटवर्क पर बिना कार्ड के नकदी निकालने की मिलेगी सुविधा

‘‘अब यूपीआई का उपयोग करते हुए सभी बैंकों और एटीएम नेटवर्क में कार्ड-रहित (बिना कार्ड के) नकद निकासी सुविधा उपलब्ध कराने का प्रस्ताव है। इसके उपयोग से लेनदेन करने में आसानी होगी।"

देश में बैंकिंग व्यवस्था तेजी से डिजिटल हो रही है। पहले आप बैंक जाकर पैसे निकालते थे, फिर एटीएम कार्ड ने आपको लाइन में लगने से निजात दी। लेकिन अब देश के सभी बैंकों में नई व्यवस्था लागू होने जा रही है। अब आप चाहें किसी भी बैंक के ग्राहक हों, आप यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) का इस्तेमाल कर देश के किसी भी ATM से डेबिट कार्ड के बिना भी पैसे निकाल सकते हैं।

मौद्रिक नीति की समीक्षा के दौरान रिजर्व बैंक के गवर्नर ने बताया कि UPI का इस्तेमाल कर ATM से बिना कार्ड के निकासी की सुविधा का विस्तार सभी बैंकों के लिए किया जाने वाला है। यानी कि आप चाहें निजी बैंक के ग्राहक हों या सरकारी बैंक के, सभी ग्राहक इस सुविधा का इस्तमाल कर सकते हैं।

रिजर्व बैंक के गवर्नर के शक्तिकांत दास ने कहा, ‘‘अब यूपीआई का उपयोग करते हुए सभी बैंकों और एटीएम नेटवर्क में कार्ड-रहित (बिना कार्ड के) नकद निकासी सुविधा उपलब्ध कराने का प्रस्ताव है। इसके उपयोग से लेनदेन करने में आसानी होगी। इसके साथ ही बिना कार्ड के नकदी निकासी की सुविधा से कार्ड स्किमिंग, कार्ड क्लोनिंग जैसी धोखाधड़ी को भी रोकने में मदद मिलेगी।’’ उन्होंने कहा कि इस बारे में एनपीसीआई, एटीएम नेटवर्क और बैंकों को जल्द ही अलग-अलग निर्देश जारी किए जाएँगे।

हालाँकि रिजर्व बैंक के गवर्नर ने यह साफ कर दिया कि क्रेडिट/डेबिट कार्ड की सुविधा खत्म नहीं होने जा रही। वो सुविधा लोगों को मिलती ही रहेगी। शक्तिकांत दास ने कहा, “हम क्रेडिट/डेबिट कार्ड जारी करना बंद नहीं करेंगे, क्योंकि उनके पास कई अन्य सुविधाएँ हैं। इसका उपयोग न केवल नकद पैसे निकालने के लिए किया जाता है, बल्कि रेस्तरां, दुकान या विदेश में भुगतान के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसलिए क्रेडिट और डेबिट कार्ड जारी रहेंगे।”

UPI का हो रहा है सबसे ज्यादा इस्तेमाल

उल्लेखनीय है कि देश में डिजिटल पेमेंट में काफी तेजी से उछाल आया है। अब अधिकतर लोग पैसों का लेनदेन UPI के जरिए ही करते हैं। 28 फरवरी को खत्म हुए फाइनेंशियल ईयर 2021-22 में 7,422 करोड़ डिजिटल पेमेंट ट्रांजैक्शन रिकॉर्ड हुआ है, जो पिछले फाइनेंशियल ईयर 2020-21 के 5,554 करोड़ ट्रांजैक्शन के मुकाबले ज्यादा है। Nationl Payment Corporation of India (NCPI) का यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) को डिजिटल पेमेंट (digital payment) ट्रांजैक्शन के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है।

UPI पेमेंटिंग ऐप Phone Pay का इस्तेमाल सबसे ज्यादा हुआ है। इस प्लेटफॉर्म के जरिए कुल 8.27 लाख करोड़ रुपए का लेन-देन हुआ है। पिछले वित्त वर्ष 2020-21 के मुकाबले यह लगभग दोगुना है। फाइनेंशियल ईयर 2020-21 के दौरान UPI के जरिए 292.2 करोड़ UPI ट्रांजैक्शन रिकॉर्ड हुआ था। इसके जरिए 4.25 लाख करोड़ रुपए की राशि का लेन-देन दर्ज हुआ था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भिकू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भिकू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -