Wednesday, December 2, 2020
Home विविध विषय अन्य 'ईमानदार मुख्यमंत्री बेटा मेरे जीवन की इकलौती कमाई' - योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद...

‘ईमानदार मुख्यमंत्री बेटा मेरे जीवन की इकलौती कमाई’ – योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट ने तब कही थी यह बात

"अजय हमेशा लोगों की सेवा करना चाहते थे और अब वह ठीक यही कर रहे हैं। उन्होंने जीवन में बहुत कुछ नहीं कमाया है। उन्होंने जो कमाया है, वह एक ईमानदार मुख्यमंत्री बेटा। अजय के माता-पिता के रूप में उनका जीवन धन्य है और आज उन्हें उस भिक्षु पर गर्व है, जो इतने बड़े राज्य का मुख्यमंत्री बन गया है।"

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट ने एम्स में इलाज के दौरान सोमवार (अप्रैल 20, 2020) को 10 बजकर 40 मिनट पर आखिरी साँस ली। सीएम योगी को जब पिता के मौत की सूचना मिली तो वह कोरोना महामारी से निपटने के लिए मीटिंग कर रहे थे। पिता के निधन की सूचना के बाद भी मुख्यमंत्री करीब 45 मिनट तक बैठक करते रहे

आनंद सिंह बिष्ट के निधन के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ के जीवन पर आधारित किताब ‘The Monk Who Became Chief Minister’ लिखने वाले शांतनु गुप्ता ने उनके साथ बिताए गए कुछ खूबसूरत लम्हों को साझा किया है। वो कहते हैं, “जब मैं अप्रैल 2017 में योगी आदित्यनाथ की जीवनी लिखने के लिए रिसर्च कर रहा था, तो इस दौरान मुझे योगी आदित्यनाथ के माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ समय बिताने का सौभाग्य मिला। वे बातचीत इतने सरल, निष्कपट और स्वाभाविक थे कि वो अभी भी मेरे जेहन में ताजा हैं।”

आगे उन्होंने कहा, “अब, जब आनंद जी नहीं रहे, तो मैं उनमें से कुछ वार्तालापों को पाठकों के साथ फिर से जीना और साझा करना चाहता हूँ। यहाँ मैं आनंद जी और उनकी पत्नी सावित्री देवी जी के साथ अपनी बातचीत के कुछ अंश अपनी पुस्तक – ‘The Monk Who Became Chief Minister’ से साझा कर रहा हूँ। इन वार्तालापों के माध्यम से हम आज के योगी के कई लक्षणों और आदतों की झलक देख सकते हैं।”

योगी आदित्यनाथ के बारे में क्या सोचते थे उनके माता-पिता?

शांतनु ने कहा, “मुझसे बात करते हुए आनंद सिंह बिष्ट जी ने बताया कि अजय हमेशा से ही विनम्र और मिलनसार थे। वे काफी कम कम उम्र से ही अखबार पढ़ने के शौकीन थे। बिष्ट जी ने कहा कि यद्यपि वे लगातार पर्यटन पर थे और अक्सर घर से दूर रहते थे, लेकिन उन्होंने अपने बच्चों की पढ़ाई-लिखाई पर काफी दिया। वो अक्सर सरप्राइज विजिट करके बच्चों की पढ़ाई और उनके मेहनत का निरीक्षण करते थे। उन्होंने कहा कि शायद यही वजह है कि आज पंचूर नाम के एक छोटे से गाँव के अजय, उत्तर प्रदेश के 21 वें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बन गए हैं। यहाँ पर ध्यान देना दिलचस्प है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद, योगी और उनके मंत्रियों ने विभिन्न सरकारी सेवाओं के वितरण की ‘औचक जाँच’ की है।”

आनंद बिष्ट एक गौरवान्वित पिता थे जिन्होंने महसूस किया कि यूपी जैसे राज्य को चलाना हर किसी के वश की बात नहीं है और केवल योगी ही इसे नियंत्रित कर सकते हैं क्योंकि उनमें बचपन से ही निर्णय लेने की अच्छी क्षमता है। आनंद बिष्ट ने मुझे यह भी बताया कि सांसद के रूप में योगी ने हमेशा लोगों के लिए काम किया था और उनका काम किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार से मुक्त था। इसलिए लोग उनसे प्यार करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि यूपी का मुख्यमंत्री बनने के बाद लोगों ने उनके बेटे (योगी आदित्यनाथ) के लिए अपनी सिफारिशें भेजनी शुरू कर दीं। उन्होंने कहा कि वह ऐसे लोगों के साथ विनम्रता से पेश आते हैं और उन्हें चाय पर बुलाते हैं। इसके बाद उन्हें काफी विनम्रता से उन्हें बताते हैं कि उनकी कोई सिफारिश नहीं की जाएगी।

आगे शांतनु ने कहा, “योगी आदित्यनाथ की माँ सावित्री देवी जी ने भी मुझे बताया था कि अजय अच्छे छात्र थे और उन्होंने कभी भी खराब संगति नहीं रखी। उन्होंने कहा कि वह एक साधारण लड़का था। उन्हें कभी इस बात का अहसास नहीं था कि वो इतने बड़े पद पर पहुँच जाएँगे। वो कहती हैं कि उन्हें याद है कि वो उनके कितने करीब थे, क्योंकि उनके पिता की अलग-अलग जगहों पर पोस्टिंग होती रहती थी और वह सख्त भी थे, इसलिए सभी बच्चे उनसे थोड़ा डरते थे।”

अपनी आदतों के बारे में बात करते हुए सावित्री देवी जी ने कहा कि उनके घर में हर कोई हमेशा जल्दी उठता था। यहाँ तक ​​कि लगभग 80 वर्ष (2017 में) की आयु में वह सुबह 4 बजे उठकर घर के सारो कामों को पूरा करती थी और फिर खेतों में जाकर छोटे कृषि फार्मों की देखरेख करती थी। 85 साल (2017 में) की उम्र में अजय के पिता भी हर दिन सुबह 4 बजे उठते थे और पूरे घर और आसपास के परिसर की सफाई करते थे। सावित्री देवी जी ने कहा कि बचपन से ही अजय गायों के शौकीन थे। बिष्ट परिवार के पास घर पर गायें थीं और उन्हें चरने के लिए ले जाना स्कूल के बाद अजय की दिनचर्या का हिस्सा था। पंचूर में उनके घर के आसपास के पेड़ों की ओर इशारा करते हुए, सावित्री देवी जी ने मुझे बताया कि अजय ने इनमें से कई पौधे लगाए थे, जब वह छोटा था।

योगी आदित्यनाथ के पिता से क्यों डरते थे उनके दोस्त

बातचीत के दौरान आनंद बिष्ट ने बताया कि वह एक फॉरेस्ट रेंजर थे और उन्होंने अपने पूरे जीवन में खाकी पोशाक पहनी है। उनकी वर्दी में कंधों पर तीन स्टार थे, जो पुलिस की वर्दी की तरह दिखते थे। और इसके अलावा, उनकी वर्दी में एक UPF (Uttar Pradesh Forest) बैज भी था, जो काफी हद तक UPP (Uttar Pradesh Police) बैज के समान था। और यह कभी-कभी अजय के दोस्तों को डराता था क्योंकि वो गलती से उन्हें पुलिस वाले समझ लेते थे। उन्होंने हँसते हुए कहा कि अब अजय के सीएम बनने के बाद, उनके साथ पूरा समय खाकी पहने बंदूकधारी, असली पुलिसकर्मी, सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत मौजूद रहते हैं।

कोटद्वार में स्नातक करने के बाद अजय ने 1992 में पंडित ललित मोहन शर्मा गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, ऋषिकेश से गणित में मास्टर ऑफ साइंस (MSc) में दाखिला लिया। जब वे एमएससी प्रथम वर्ष में थे, तब उन्होंने गोरखपुर जाकर महंत अवैद्यनाथ से मिलना शुरू किया। एक दो बार मिलने के बाद अजय ने गोरखनाथ मठ में महंत अवैद्यनाथ के पूर्णकालिक शिष्य बनने का फैसला किया। नवंबर 1993 में, अजय ने अपने गाँव, अपने माता-पिता, अपने दोस्तों और अपनी पढ़ाई को छोड़ दिया और परिवार में किसी को भी बताए बिना वह गोरखपुर चले गए। 15 फरवरी, 1994 को अजय का उनके गुरु महंत अवैद्यनाथ द्वारा नाथ पंथ योगी के रूप में अभिषेक किया गया था।

जब योगी आदित्यनाथ के माता-पिता को उनके संन्यास के बारे में पता चला

कुछ महीने बाद ही अजय के माता-पिता को उनके संन्यास के बारे में अखबार से पता चला। तब तक उनके माता-पिता को लग रहा था कि वह नौकरी की तलाश में गोरखपुर गए हैं। अजय के महंत बनने की बात पता चलने के बाद अजय के माता-पिता अगली ट्रेन से गोरखपुर पहुँचे और मठ में आनंद सिंह बिष्ट, अजय को संन्यासी की पोशाक में देखकर चौंक गए। महंत अवैद्यनाथ उस समय शहर से बाहर थे। अजय ने अपने माता-पिता को शांत कराया और फिर उन्हें अपने गुरु से फोन पर बात करवाई। महंत अवैद्यनाथ ने अजय के पिता से कहा कि उनके बेटे अजय अब योगी आदित्यनाथ हैं।

महंत अवैद्यनाथ ने आनंद सिंह बिष्ट से अनुरोध किया कि उनके चार बेटों में से एक ने उनके साथ राष्ट्र निर्माण और मजबूत राष्ट्रवाद के लिए आने का फैसला किया है। उन्होंने अजय के पिता से उन्हें देश की सेवा करने की अनुमति देने के लिए आग्रह किया। कुछ समय तक विरोध करने के बाद उनके माता-पिता ने इसकी अनुमति दे दी। 

कुछ महीनों के बाद योगी आदित्यनाथ संन्यासी परंपरा के तहत अपनी माँ से भिक्षा लेने के लिए उत्तराखंड के पंचूर गाँव में वापस आए। उसके बाद से अजय के माता-पिता गोरखनाथ मठ के योगी आदित्यनाथ से दो-दो बार मुलाकात कर चुके हैं। अब वे उन्हें अन्य लोगों की तरह ‘महाराज जी’ कहकर बुलाते हैं। उनके प्रोटोकॉल और उनकी भूमिका की गरिमा का सम्मान करते हैं। योगी आदित्यनाथ अपने गृहनगर उत्तराखंड में केवल परिवार के कुछ महत्वपूर्ण फंक्शन के लिए ही गए हैं। योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर मठ के प्रशासन के तहत, उत्तराखंड में अपने गाँव के पास, महायोगी गुरु गोरखनाथ महाविद्यालय की स्थापना की है।

ईमानदार मुख्यमंत्री बेटा मेरे जीवन की इकलौती कमाई

शांतनु कहते हैं, “अजय के माता-पिता के साथ चर्चा के दौरान मैंने उल्लेख किया कि उत्तराखंड की पहाड़ियों ने गोविंद बल्लभ पंत, हेमवती नंदन बहुगुणा और नारायण दत्त तिवारी को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्त किया है और अब इस घर ने उत्तर प्रदेश के लिए चौथे मुख्यमंत्री के रूप में योगी आदित्यनाथ को मौका दिया है। इस पर सावित्री सविता देवी ने गर्व से पुरानी बातें याद करती हुई कहती हैं कि अजय हमेशा लोगों की सेवा करना चाहते थे और अब वह ठीक यही कर रहे हैं। गीली लेकिन दृढ़ आँखों के साथ, आनंद जी ने कहा कि उन्होंने जीवन में बहुत कुछ नहीं कमाया है। उन्होंने जो कमाया है वह एक ईमानदार मुख्यमंत्री बेटा। उन्होंने कहा कि अजय के माता-पिता के रूप में उनका जीवन धन्य है और आज उन्हें उस भिक्षु पर गर्व है जो इतने बड़े राज्य का मुख्यमंत्री बन गया है। आनंद सिंह बिष्ट जी को मेरा अभिवादन!”

बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ अंतिम बार अपने पिता के दर्शन भी नहीं कर सके। अपने व्यक्तिगत जीवन के ऊपर अपने कर्तव्य को रखते हुए योगी आदित्यनाथ ने फैसला किया है कि वह लॉकडाउन के नियमों का पालन करेंगे और अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होंगे। उन्होंने अपने पिता के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, “पूज्य पिताजी के कैलाशवासी होने पर मुझे भारी दुःख एवं शोक है। वह मेरे पूर्वाश्रम के जन्मदाता हैं। जीवन में ईमानदारी, कठोर परिश्रम एवं नि:स्वार्थ भाव से लोक मंगल के लिए समर्पित भाव के साथ कार्य करने का संस्कार बचपन में उन्होंने मुझे दिया।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Shantanu Guptahttp://www.shantanugupta.in/
Activist. Author. Biographer of Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath, titled The Monk Who Became Chief Minister. Founder of youth based organization Yuva Foundation.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘किसी भी केंद्रीय मंत्री को महाराष्ट्र में घुसने नहीं देंगे’: उद्धव के पार्टनर ने दी धमकी, ‘किसान आंदोलन’ का किया समर्थन

उन्होंने आरोप लगाया कि सुधार के नाम पर केंद्र कॉर्पोरेट और बड़े औद्योगिक संस्थानों को शक्तियाँ देना चाहती है।

‘बॉलीवुड को कहीं और ले जाना आसान नहीं’: मुंबई पहुँचे CM योगी अक्षय से मिले, महाराष्ट्र की तीनों सत्ताधारी पार्टियों ने किया विरोध

योगी आदित्यनाथ इसी सिलसिले में मुंबई भी पहुँचे हुए हैं, इसीलिए शिवसेना और ज्यादा चिढ़ी हुई है। वहाँ अभिनेता अक्षय कुमार ने उनसे मुलाकात की।

कोरोना से जंग के बीच ऐतिहासिक क्षण: अप्रूव हुआ Pfizer-BioNTech Covid-19 वैक्सीन, UK ने लिया निर्णय

Pfizer-BioNTech COVID-19 vaccine को अधिकृत कर दिया गया है और इसे अगले सप्ताह से देश भर (UK) में उपलब्ध कराया जाएगा।

‘₹100 में उपलब्ध हैं शाहीन बाग वाली दादी बिल्किस बानो’ – कंगना रनौत को कानूनी नोटिस, डिलीट कर दिया था विवादित ट्वीट

'दादी' बिल्किस बानो के 'किसान आंदोलन' में भाग लेने की खबर के बाद कंगना रनौत ने टिप्पणी की थी, जिसके बाद उन्हें कानूनी नोटिस भेजा गया ।

‘जो ट्विटर पर आलोचना करेंगे, उन सब पर कार्रवाई करोगे?’ बॉम्बे हाई कोर्ट ने महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर दागा सवाल

बॉम्बे हाई कोर्ट ने ट्विटर यूजर सुनैना होली की गिरफ़्तारी के मामले में सुनवाई करते हुए महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार से कड़े सवाल पूछे हैं।

‘मोदी चला रहे 2002 का चैनल और योगी हैं प्यार के दुश्मन’: हिंदुत्व विरोधियों के हाथ में है Swiggy का प्रबंधन व रणनीति

'Dentsu Webchutney' नामक कंपनी ही Swiggy की मार्केटिंग रणनीति तैयार करती है। कई स्क्रीनशॉट्स के माध्यम से देखिए उनका मोदी विरोध।

प्रचलित ख़बरें

‘दिल्ली और जालंधर किसके साथ गई थी?’ – सवाल सुनते ही लाइव शो से भागी शेहला रशीद, कहा – ‘मेरा अब्बा लालची है’

'ABP न्यूज़' पर शेहला रशीद अपने पिता अब्दुल शोरा के आरोपों पर सफाई देने आईं, लेकिन कठिन सवालों का जवाब देने के बजाए फोन रख कर भाग खड़ी हुईं।

मेरे घर में चल रहा देश विरोधी काम, बेटी ने लिए ₹3 करोड़: अब्बा ने खोली शेहला रशीद की पोलपट्टी, कहा- मुझे भी दे...

शेहला रशीद के खिलाफ उनके पिता अब्दुल रशीद शोरा ने शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने बेटी के बैंक खातों की जाँच की माँग की है।

‘हिंदू लड़की को गर्भवती करने से 10 बार मदीना जाने का सवाब मिलता है’: कुणाल बन ताहिर ने की शादी, फिर लात मार गर्भ...

“मुझे तुमसे शादी नहीं करनी थी। मेरा मजहब लव जिहाद में विश्वास रखता है, शादी में नहीं। एक हिंदू को गर्भवती करने से हमें दस बार मदीना शरीफ जाने का सवाब मिलता है।”

13 साल की बच्ची, 65 साल का इमाम: मस्जिद में मजहबी शिक्षा की क्लास, किताब के बहाने टॉयलेट में रेप

13 साल की बच्ची मजहबी क्लास में हिस्सा लेने मस्जिद गई थी, जब इमाम ने उसके साथ टॉयलेट में रेप किया।

कहीं दीप जले, कहीं… PM मोदी के ‘हर हर महादेव’ लिखने पर लिबरलों-वामियों ने दिखाया असली रंग

“जिस समय किसान अपने जीवन के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं, हमारे पीएम को ऐसी मनोरंजन वाली वीडियो शेयर करने में शर्म तक नहीं आ रही।”

दुर्घटना में घायल पिता के लिए ‘नजदीकी’ अखिलेश यादव से मदद की गुहार… लेकिन आगे आई योगी सरकार

उत्तर प्रदेश में दुर्घटनाग्रस्त एक व्यक्ति की बेटी ने मदद के लिए गुहार तो लगाई अखिलेश यादव से, लेकिन मदद के लिए योगी सरकार आगे आई।

‘शिहाब ने मेरे शौहर को मुझसे दूर किया, अश्लील संदेश भेजे, जान से मारने की धमकी दी’: कर्नाटक में असिया बनी शांति की पीड़ा

आसिया का कहना है कि उसके पति को कहीं छुपा दिया गया है और उसका मोबाइल बंद कर दिया गया है। जब वह अपने पति के परिवार के घर गई, तो उसे शिहाब ने हत्या की धमकी दी थी।

सड़क से अतिक्रमण हटाने को कहा तो कॉन्ग्रेस नेता के भाई अब्बास सिद्दीकी ने पुलिसकर्मी से की मारपीट, गिरफ्तार

स्थानीय लोगों का कहना है कि अब्बास और उसके साथी सड़क पर कुर्सी लगाकर बैठे हुए थे, जिसे हटाने की बात को लेकर व्यापारियों ने पुलिसकर्मी के साथ अभद्रता और मारपीट की।

2 कॉन्ग्रेस नेताओं की हत्या, घिर गई केरल की वामपंथी सरकार: सुप्रीम कोर्ट ने दिया CBI जाँच का आदेश

मृतक के परिजन और पार्टी कार्यकर्ताओं की माँग को देखते हुए हाइकोर्ट ने मामले में CBI जाँच के आदेश दिए थे। राज्य सरकार ने हाइकोर्ट के खिलाफ...

पाकिस्तान में हथियारों के बल पर हो रहा हिंदू लड़कियों का रेप: कहीं पार्वती पर आलम करता है हमला, कहीं सिर पीटते नजर आते...

22 साल की लड़की का हथियार लिए लोगों ने पहले अपहरण किया। बाद में उसे प्रताड़ित किया, उसका शोषण किया और फिर कई दिनों तक बर्बरता से उसका गैंग रेप करते रहे।

‘किसी भी केंद्रीय मंत्री को महाराष्ट्र में घुसने नहीं देंगे’: उद्धव के पार्टनर ने दी धमकी, ‘किसान आंदोलन’ का किया समर्थन

उन्होंने आरोप लगाया कि सुधार के नाम पर केंद्र कॉर्पोरेट और बड़े औद्योगिक संस्थानों को शक्तियाँ देना चाहती है।

कौन है Canadian Pappu, क्यों राहुल गाँधी से जोड़ा जा रहा है नाम: 7 उदाहरणों से समझें

राहुल गाँधी और जस्टिन ट्रूडो दोनों मजबूत राजनीतिक परिवारों से आते हैं। राहुल गाँधी के पिता, दादी और परदादा सभी भारत के प्रधानमंत्री रहे हैं। ट्रूडो के पिता पियरे ट्रूडो भी कनाडा के प्रधानमंत्री थे।

‘गुजराती कसम खा कर पलट जाते हैं, औरंगजेब की तरह BJP नेताओं की कब्रों पर थूकेंगे लोग’: क्रिकेटर युवराज सिंह के पिता की धमकी

जब उनसे पूछा गया कि इस 'किसान आंदोलन' में इंदिरा गाँधी की हत्या को याद कराते हुए पीएम मोदी को भी धमकी दी गई है, तो उन्होंने कहा कि जिसने जो बोया है, वो वही काटेगा।

रिया के भाई शौविक चक्रवर्ती को ड्रग मामले में NDPS से मिली बेल, 3 महीने से थे हिरासत में

3 नवंबर को दायर की गई अपनी याचिका में शौविक ने कहा था कि उन्हें इस केस में फँसाया जा रहा है, क्योंकि उनके मुताबिक उनके कब्जे से कोई भी ड्रग या साइकोट्रॉपिक पदार्थ जब्त नहीं हुए थे।

केंद्र सरकार ने किसानों की वार्ता से योगेन्द्र यादव को किया बाहर, कहा- राजनेता नहीं, सिर्फ किसान आएँ

बातचीत में शामिल प्रतिनिधिमंडल में स्वराज पार्टी (Swaraj Party) के नेता योगेन्द्र यादव (Yogendra yadav) का भी नाम था। मगर बाद में केंद्र सरकार के ऐतराज के बाद उनका नाम हटा दिया गया।

‘बॉलीवुड को कहीं और ले जाना आसान नहीं’: मुंबई पहुँचे CM योगी अक्षय से मिले, महाराष्ट्र की तीनों सत्ताधारी पार्टियों ने किया विरोध

योगी आदित्यनाथ इसी सिलसिले में मुंबई भी पहुँचे हुए हैं, इसीलिए शिवसेना और ज्यादा चिढ़ी हुई है। वहाँ अभिनेता अक्षय कुमार ने उनसे मुलाकात की।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,517FollowersFollow
359,000SubscribersSubscribe