Friday, May 31, 2024
Homeविविध विषयअन्य'लिखो कैसे कश्मीरी हिंदुओं को मारा, माताओं-बहनों से बलात्कार किया': दैनिक भास्कर के 'लिबरल...

‘लिखो कैसे कश्मीरी हिंदुओं को मारा, माताओं-बहनों से बलात्कार किया’: दैनिक भास्कर के ‘लिबरल पत्रकार’ को अनुपम खेर ने लताड़ा, वाराणसी में करेंगे त्रिपंडी श्राद्ध

अनुपम खेर ने राजेश साहू नामक पत्रकार को फटकार लगाते हुए कश्मीरी हिंदुओं पर हुए अत्याचार पर लेख लिखने की सलाह दी। खेर ने राजेश को कहा कि वह दूसरों को ज्ञान देनी का बजाय आतंकवाद पर लिखने की कोशिश करें या उन औरतों के बारे में बताएँ जिनका कश्मीर में बलात्कार किया गया।

बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर की आज (15 जून 2022) सुबह दैनिक भास्कर के एक लिबरल पत्रकार से ट्विटर पर कहासुनी देखने को मिली। अपने ट्वीट में अभिनेता ने राजेश साहू नामक पत्रकार को फटकार लगाते हुए कश्मीरी हिंदुओं पर हुए अत्याचार पर लेख लिखने की सलाह दी। खेर ने राजेश को कहा कि वह दूसरों को ज्ञान देने का बजाय आतंकवाद पर लिखने की कोशिश करें या उन औरतों के बारे में बताएँ जिनका कश्मीर में बलात्कार किया गया। ट्विटर पर राजेश साहू को ये जवाब अनुपम खेर ने साहू के एक ट्वीट के बदले दिया जिसमें वह कह रहे थे कि अनुपम खेर पहले पूजा पाठ छोड़ें और पहले जाकर कश्मीरी हिंदुओं के लिए सुरक्षा माँगें।

ये पूरा विवाद अनुपम खेर के कल (14 जून 2022) रात किए गए ट्वीट पर शुरू हुआ। अपने ट्वीट में उन्होंने जानकारी दी थी, “मैं कल वाराणसी जा रहा हूँ। द कश्मीर फाइल्स की शूटिंग के दौरान मैंने निर्णय लिया था कि मैं उन सभी कश्मीरी हिन्दुओं की आत्मा की शांति का पाठ करवाऊँगा, जिनकी ‘हिंदुओं के नरसंहार’ के दौरान आतंकवादियों द्वारा निर्मम हत्या की गई थी। इस पूजा को त्रिपंडी श्राद्ध पूजा कहते है। आयोजकों का आभार!”

इसी ट्वीट पर राजेश साहू बीच में आए और अनुपम खेर से कहा, “आपको वाराणसी आने से पहले कश्मीर जाने की जरूरत है। वहाँ के हालात खराब हैं। वहाँ जाकर राज्यपाल महोदय से पंडितों की सुरक्षा को लेकर बात करें। फिर महादेव के पास पंडितों की आत्मा की शांति के लिए पाठ करवाएँ।”

राजेश साहू के ट्वीट पर कई यूजर्स का रिएक्शन आया और उसके बाद खुद अनुपम ख्रेर ने भी इस पर जवाब दिया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “कुछ आप भी कर लो! आप दैनिक भास्कर में पत्रकार है! लिखिए एक लेख कि कैसे कश्मीर में पिछले 35 सालों से आतंकवादियों ने कश्मीरी हिंदुओं को बेरहमी से मारा, उनकी माताओं, बहनों से बलात्कार किया! आतंकवाद की भी बुराई कर लो, जिनकी पूजा के लिए जा रहा हूँ। वो उनकी गोलियों के ही शिकार हुए थे।”

राजेश साहू ने अनुपम खेर के इस ट्वीट के बाद पूरी बात सरकार की ओर घुमा दी और देश में फैली नेगेटिविटी के लिए द कश्मीर फाइल्स को जिम्मेदार दिखाया। ट्वीट में लिखा गया, “हम तो लिखते ही हैं कि कश्मीर में अत्याचार हुआ। लेकिन कश्मीरी पंडितों के खिलाफ हुई हिंसा के वक्त वहां की तत्कालीन सरकार को दोषी क्यों न माना जाए? आपकी फिल्म में भी चालाकी से इस हिस्से को छिपा दिया गया। आपकी फिल्म से सिर्फ निगेटिविटी फैली है। कश्मीर में भी और देश में भी।”

बता दें कि द कश्मीर फाइल्स के रिलीज होने के बाद से कई फारूख अब्दुल्ला जैसी हस्तियाँ इस फिल्म को हिंदुओं की मौत की वजह बता चुके हैं। उनके अलावा सोशल मीडिया का लिबरल समुदाय भी कभी इस फिल्म में दिखाई गई चीजों को हज्म नहीं कर पाया था। अनुपम खेर और राजेश साहू के ट्वीट के नीचे भी देख सकते हैं कि कई कट्टरपंथियों ने अनुपम खेर को निशाना बनाते हुए द कश्मीर फाइल्स में उनकी एक्टिंग पर सवाल उठाए हुए हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -