Wednesday, May 22, 2024
Homeविविध विषयअन्य'वो लाउडस्पीकर पर अजान बजाएँ... यहाँ हनुमान चालीसा बजेगी' : भजन गायिका अनुराधा पौडवाल...

‘वो लाउडस्पीकर पर अजान बजाएँ… यहाँ हनुमान चालीसा बजेगी’ : भजन गायिका अनुराधा पौडवाल के सवाल, बोलीं- भारत जैसा कहीं नहीं होता

गायिका अनुराधा पौडवाल ने लाउडस्पीकर पर होती अजान के मुद्दे पर अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा कि जैसे भारत में अजान दी जाती है। वैसे तो मुस्लिम देशों में भी नहीं होता।

बॉलीवुड के मशहूर गायक सोनू निगम के बाद अब देवी-देवताओं के भजन गाने के लिए प्रसिद्ध, गायिका अनुराधा पौडवाल ने लाउडस्पीकर पर होती अजान के मुद्दे पर अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा कि जैसे भारत में अजान दी जाती है। वैसे तो मुस्लिम देशों में भी नहीं होता। उन्होंने बताया कि वो किसी मजहब के विरुद्ध नहीं हैं, लेकिन इस तरह लाउडस्पीकर पर जब अजान होती है तो बाकी धर्म के लोग भी चाहते हैं कि वह भी स्पीकर चलाएँ।

अनुराधा पौडवाल ने अपना पक्ष जी न्यूज से बातचीत में रखा। उन्होंने कहा, “मैं दुनिया की कई जगहों पर घूमी हूँ। लेकिन जैसे भारत में होता है वैसा कहीं और नहीं होता। मैं किसी धर्म के खिलाफ नहीं हूँ। पर हमारे यहाँ इसे जबरदस्ती बढ़ावा दिया जा रहा है। ऊँची आवाज में मस्जिद से लाउडस्पीकर लगाकर अजान चलाई जाती है जिसे देख दूसरों को भी लगता है कि वो अपना लाउडस्पीकर क्यों न चलाएँ।”

उन्होंने कहा, “मैं तो मिडिल ईस्टर्न देशों में भी ट्रैवेल कर चुकी हूँ। लेकिन वहाँ तो लाउडस्पीकर पर अजान बैन है। जब मुस्लिम देशों में लाउडस्पीकर पर अजान नहीं हो रही तो भारत में ही क्यों हो रहा है ऐसा? उन्होंने कहा, “यहाँ लाउडस्पीकर पर अजान चलती है तो यहाँ लोगों ने कहा हम हनुमान चालीसा चलाएँगे। इसी कारण से विवाद बढ़ता है जो बेहद दुखद है।”

उन्होंने नवरात्रि और रामनवमी जैसे हिंदू त्योहारों को लेकर बात की। साथ ही युवाओं को संदेश दिया। उन्होंने कहा, “हमें अपने बच्चों को देश की संस्कृति के बारे में जागरुक करना चाहिए। उन्हें ये बात बताई जानी चाहिए कि आदि शंकराचार्य हमारे धर्म गुरु हैं।: वह बोलीं, “पोप का संबंध ईसाइयों से है, ये जानकारी तो सबको होगी ही। इसीलिए हमारे धर्म के बारे में भी ये पता होना ही चाहिए कि हिंदुओं के पास चार वेद, 18 पुराण और 4 मठ हैं।”

सोनू निगम और लाउडस्पीकर विवाद

बता दें कि अनुराधा की तरह ही साल 2017 में ऐसा ही सवाल सोनू निगम ने उठाया था। उन्होंने पूछा था कि आखिर जब इस्लाम बना तो बिजली नहीं थी। फिर ये सब क्यों होता है। उनका कहना था कि वो मुस्लिम नहीं है फिर भी सुबह उठना पड़ता है। आखिर कब जबरन मजहब थोपना बंद किया जाएगा। उनके इस बयान के बाद उनके विरुद्ध कट्टरपंथियों ने उन्हें गंजा करने के लिए फतवा जारी कर दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

महाभारत, चाणक्य, मराठा, संत तिरुवल्लुवर… सबसे सीखेगी भारतीय सेना, प्राचीन ज्ञान से समृद्ध होगा भारत का रक्षा क्षेत्र: जानिए क्या है ‘प्रोजेक्ट उद्भव’

न सिर्फ वेदों-पुराणों, बल्कि कामंदकीय नीतिसार और तमिल संत तिरुवल्लुवर के तिरुक्कुरल का भी अध्ययन किया जाएगा। भारतीय जवान सीखेंगे रणनीतियाँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -