Sunday, May 19, 2024
Homeविविध विषयअन्यByju's की एडटेक स्टार्टअप ने व्हाइटहाट जूनियर और टॉपर के 2500 कर्मचारियों को नौकरी...

Byju’s की एडटेक स्टार्टअप ने व्हाइटहाट जूनियर और टॉपर के 2500 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

बायजूस ने पिछले कुछ सालों में ब्रिक एंड मोर्टार कोचिंग इंस्टीट्यूट, आकाश इंस्टीट्यूट सहित कई बड़े संस्थानों का टेकओवर किया है। इसके बाद से इस कंपनी का भारत के साथ-साथ विदेशों में भी जबरदस्त ग्रोथ हुआ है।

एडटेक कंपनी बायजूस (Byju’s) ने अपने करीब 2500 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। बायजू रवीन्द्रन (Byju Raveendran) की अगुवाई वाली इस कंपनी ने Toppr, WhiteHat Jr और सेल्स एंड मार्केटिंग, ऑपरेशंस, कंटेंट और डिजाइन टीमों से फुल-टाइम और कॉन्ट्रैक्ट वाले कर्मचारियों की छँटनी की है।

मनीकंट्रोल की रिपोर्ट के मुताबिक 22 अरब डॉलर वैल्यू वाली इस स्टार्टअप ने ग्रुप के कई कंपनियों के कर्मचारियों को निकाला है। बायजूस ने Toppr और WhiteHat Jr से 27 और 28 जून को 1500 से अधिक कर्मचारियों को बाहर किया है। इन दोनों कंपनियों को बायजूस ने पिछले दो सालों में खरीदा था। साथ ही कंपनी ने अपनी कोर ऑपरेशंस टीमों के करीब 1000 कर्मचारियों को 29 जून को ई-मेल भेजा था।

बताया जा रहा है कि कंटेंट और डिजाइन टीम पर इसका सबसे ज्यादा असर पड़ा है। Toppr लर्निंग प्लेटफॉर्म से 1200 कर्मचारियों को निकाला गया है। 300 से 350 परमानेंट कर्मचारियों को निकाल दिया गया है, जबकि करीब 300 कर्मचारियों को इस्तीफा देने के लिए कहा गया है। साथ ही कॉन्ट्रैक्ट पर रखे गए 600 कर्मचारियों को निकाल दिया गया है। उनका कॉन्ट्रैक्ट अक्टूबर-नवंबर तक था।

बायजूस ने पिछले कुछ सालों में ब्रिक एंड मोर्टार कोचिंग इंस्टीट्यूट, आकाश इंस्टीट्यूट सहित कई बड़े संस्थानों का टेकओवर किया है। इसके बाद से इस कंपनी का भारत के साथ-साथ विदेशों में भी जबरदस्त ग्रोथ हुआ है। वहीं, मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफेयर्स के मुताबिक वित्त वर्ष 2021 में कंपनी को 1690 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। इस दौरान कंपनी का रेवेन्यू 483.9 करोड़ रुपए रहा, जबकि कुल खर्च बढ़कर 2175.2 करोड़ रुपए पहुँच गया।

बता दें कि बायजूस ने पिछले साल 150 मिलियन डॉलर (लगभग 11838855000 रुपए) में Toppr को खरीदा था। कंपनी का कहना है कि उसने Toppr के इंटिग्रेशन की प्रक्रिया पूरी कर ली है। उसने करीब 80 फीसदी कर्मचारियों को अपने पास रख लिया है। अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी होने के बाद Toppr के सेल्स और मार्केटिंग डिवीजन के कर्मचारियों को बनाए रखा गया है, जबकि बाकी कर्मचारियों को निकाल दिया गया है। इससे पहले वाइटहैट जूनियर (WhiteHat Jr) ने करीब 300 फुल टाइम कर्मचारियों को निकाल दिया था। बायजूस ने अगस्त 2020 में वाइटहैट जूनियर को खरीदा था। निकाले गए कर्मचारियों में से अधिकांश कोड टीचिंग और सेल्स टीम के हैं। इनमें से 80 कंपनी के ब्राजील ऑफिस में काम कर रहे थे। बायजू ने पिछले साल अप्रैल में ब्राजील में कदम रखा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -