कृष्णाष्टमी पर संदेशों से परेशान हुए चीफ जस्टिस: रजिस्ट्रार ने जजों से मोबाइल पर मैसेज नहीं करने को कहा

पत्र में कहा गया है, "इस तरह के संदेशों से समस्या खड़ी होती है और माननीय मुख्य न्यायाधीश को असुविधा होती है। उन्होंने इसको लेकर चिंता जताई है और भविष्य में किसी भी अवसर पर कोई संदेश उनके मोबाइल पर नहीं भेजे जाएँ।"

इलाहाबाद हाई कोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल ने सभी जिला जजों को चिट्ठी भेज कर कहा है कि वे मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर के मोबाइल पर संदेश न भेजें। कृष्णाष्टमी पर हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को कुछ न्यायिक अधिकारियों की ओर से शुभकामना संदेश भेजे जाने के बाद रजिस्ट्रार जनरल ने यह चिट्ठी भेजी है।

इसमें कहा गया कि इस तरह के संदेशों से समस्या खड़ी होती है और माननीय मुख्य न्यायाधीश को असुविधा होती है। उन्होंने इसको लेकर चिंता जताई है और भविष्य में किसी भी अवसर पर कोई संदेश उनके मोबाइल पर नहीं भेजे जाएँ।


साभार: barandbench.com

पत्र में जजों से इसे गंभीरता से लेने को कहा गया है। हालॉंकि किसी आवश्यक परिस्थिति में वे मुख्य न्यायाधीश को मैसेज भेज सकते हैं। रजिस्ट्रार जनरल ने जिला जजों से अपने अधीनस्था न्यायिक कर्मचारियों को भी इस संबंध में निर्देशित करने को कहा है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

सुब्रमण्यम स्वामी
सुब्रमण्यम स्वामी ने ईसाइयत, इस्लाम और हिन्दू धर्म के बीच का फर्क बताते हुए कहा, "हिन्दू धर्म जहाँ प्रत्येक मार्ग से ईश्वर की प्राप्ति सम्भव बताता है, वहीं ईसाइयत और इस्लाम दूसरे धर्मों को कमतर और शैतान का रास्ता करार देते हैं।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

154,510फैंसलाइक करें
42,773फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: